आंखों में आंसू, दिल में गम और गुस्सा : शहीद जवानों को दी गयी अंतिम विदाई

शहीद जवान कौशल कुमार रावत की अंतिम यात्रा में शामिल हुए हजारों लोग
आगरा : पुलवामा जिले में आतंकी हमले में शहीद सीआरपीएफ जवान कौशल कुमार रावत की आगरा में एक गांव में शनिवार को अंतिम यात्रा में हजारों लोग शामिल हुए। परिवार के सदस्य, सरकारी अधिकारी, नेता और आमजन अंतिम यात्रा में शामिल हुए। रावत की पुत्री अपूर्वा और परिवार के सदस्यों ने उम्मीद जतायी कि उनका बलिदान व्यर्थ नहीं जायेगा। अपूर्वा दिल्ली में एक निजी एयरलाइन कंपनी में काम करती हैं। परिवार के सदस्यों ने गांव में रावत के स्मारक के लिए जमीन की पेशकश की है। यूपी के पशुपालन मंत्री एसपी सिंह बघेल प्रदेश सरकार की ओर से रावत की अंतिम यात्रा में शामिल हुए। पुलवामा हमले के खिलाफ आगरा शहर में बंद रखा गया। दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहे और लोगों ने रैलियां निकालते हुए पाकिस्तान के खिलाफ नारेबाजी की।
आतंकियों से मुठभेड़ के किस्से हंस-हंस कर सुनाने वाले रामवकील की शहादत पर पत्थरदिल भी रो उठे : मैनपुरी : जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में आत्मघाती हमले में शहीद जवान रामवकील के पैतृक गांव विनायकपुर में शनिवार को गम और गुस्से का सैलाब उमड़ पड़ा। चार रोज पहले दोस्तों के बीच आतंकियों के साथ मुठभेड़ के किस्से हंस-हंस कर सुनाने वाले रामवकील आज हर किसी को रुला कर हमेशा के लिये चले गये थे। शहीद के बड़े बेटे 12 वर्षीय राहुल ने पिता को मुखाग्नि देने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मांग की कि उसके पिता को मारने वाले आतंकियों को मार कर बदला लिया जाये। पत्नी गीतादेवी बोली- ‘हे भगवान मेरे राम को मेरे पास भेज दो।’ बहन ने बिलखते हुए कहा-प्रधानमंत्री क्या उसके भाई को वापिस ला सकते हैं। चचेरे भाई ने सरकार से मांग की कि सभी आतंकियों का समूल नाश किया जाये। मैनपुरी जिले के मूल निवासी शहीद सैनिक का परिवार इटावा शहर के अशोक नगर में रहता है। विनायकपुर बरनाहाल के रहने वाले मुंशीलाल के बेटे रामवकील सीआरपीएफ में सैनिक थे। वर्ष 2000 में वे भर्ती हुए थे। उनके तीन पुत्र राहुल (12), सादिल (10 ) और गोलू (4) हैं। वे छुट्टियों में पिछले दिनों घर आये थे व 10 फरवरी को ही ड्यूटी पर गये थे। विनायकपुर गांव में ग्रामीणों ने पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे लगाये। इस बीच शहीद का अंतिम संस्कार पूरे राजकीय और सैन्य सम्मान के साथ किया गया। शहीद का शव लेकर सीआरपीएफ के जवान अंतिम संस्कार की ओर बढ़े तो रामवकील अमर रहें, पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे शुरू हो गये। खादी ग्रामोद्योग मंत्री सत्यदेव पचौरी, डीएम प्रदीप कुमार, एसपी अजय शंकर राय के साथ हजारों की भीड़ अंतिम संस्कार यात्रा में शामिल हुई। सीआरपीएफ की टुकड़ी ने पहले हथियारों को झुकाकर और फिर सशस्त्र सलामी दी।
राजकीय सम्मान के साथ शहीद श्याम बाबू का अंतिम संस्कार; स्मृति ईरानी ने दी श्रद्धांजलि: कानपुर : पुलवामा में आतंकी हमले में शहीद श्याम बाबू का अंतिम संस्कार शनिवार को राजकीय सम्मान के साथ किया गया। केंद्रीय कपड़ा मंत्री स्मृति इरानी और प्रदेश सरकार के मंत्री मुकुट बिहारी वर्मा ने शहीद के अंतिम संस्कार में हिस्सा लिया और उनके पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। दुखी परिजनों और ग्रामीणों ने एक स्वर में मांग की कि इस हमले के लिये पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब देना चाहिए। ग्रामीणों ने पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे भी लगाये। इस अवसर पर ईरानी ने कहा कि केंद्र और प्रदेश सरकार शहीद जवान के परिवार को हरसंभव सहायता प्रदान करेगी और शहीद श्याम बाबू का बलिदान व्यर्थ नहीं जायेगा। डेरापुर के क्षेत्राधिकारी टीबी सिंह ने बताया कि शहीद जवान के पर्थिव शरीर को तिरंगे में सीआरपीएफ के वाहन में उनके पैतृक गांव नोनारी लाया गया, जहां हजारों लोग उन्हें श्रद्धांजलि देने के लिये मौजूद थे। कानपुर देहात के जिलाधिकारी राकेश कुमार सिंह के अनुसार शहीद के गांव की सड़क का नाम उनके नाम पर रखने की प्रक्रिया आरंभ कर दी गयी है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

dilip

प‌श्चिम बंगाल में नागरिकता कानून लागू होकर रहेगा, ममता इसे नहीं रोक सकतीं: दिलीप घोष

कोलकाता : पश्चिम बंगाल भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने नागरिकता कानून को लेकर शुक्रवार को राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर करारा हमला किया। उन्होंने आगे पढ़ें »

अल्पसंख्यकों के लिए सबसे सुरक्षित देश है भारतः मालदीव के पूर्व राष्‍ट्रपति मोहम्मद नशीद

नयी दिल्ली : नागरिकता संशोधन विधेयक को लेकर देशभर में विशेषकर पूर्वोत्तर राज्यों में हिंसात्मक विरोध जारी है। इस बीच भारत के पड़ोसी देश मालदीव आगे पढ़ें »

ऊपर