ब्रिस्बेन में निर्णायक जंग आज से, भारत के पास लगातार तीसरी टेस्ट सीरीज जीतने का मौका

ब्रिस्बेन : सिडनी में हार की कगार पर पहुंचकर मैच बचाने वाली भारतीय टीम के सामने गाबा की जीवंत पिच पर चुनौती कड़ी होगी क्योंकि उसके शीर्ष खिलाड़ी चोटों के कारण निर्णायक टेस्ट खेलने के लिए उपलब्ध नहीं है। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार टेस्टों की बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के लिए निर्णायक जंग शुक्रवार से ब्रिस्बेन के मैदान पर शुरू होने जा रही है, जिसमें सीरीज जीत के साथ-साथ आईसीसी की नंबर वन टेस्ट रैंकिंग दांव पर रहेगी। फिलहाल भारत और ऑस्ट्रेलिया 1-1 जीत के साथ सीरीज बराबरी पर है। ऐसे में टीम इंडिया के पास ऑस्ट्रेलिया से लगातार तीसरी टेस्ट सीरीज जीतने का मौका है। भारतीय टीम ने ऑस्ट्रेलिया को फरवरी 2017 और दिसंबर 2018 में खेली गई बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी में शिकस्त दी थी। विराट कोहली की कप्तानी में टीम इंडिया ने 2018 में इतिहास रचा था और पहली बार ऑस्ट्रेलिया को उसी के घर में टेस्ट सीरीज में शिकस्त दी थी। यदि भारत ब्रिस्बेन टेस्ट को जीतता है या ड्रॉ खेलता है तो वह बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी अपने पास बरकरार रखेगा। हालांकि, यह मैच भारत के लिए आसान नहीं होने वाला, क्योंकि ऑस्ट्रेलिया का रिकॉर्ड ब्रिस्बेन में शानदार है। कंगारू टीम यहां पिछले 32 साल से कोई भी टेस्ट मैच नहीं हारी है।

विहारी, जडेजा की कमी खलेगी
रहाणे सीरीज के टॉप भारतीय स्कोरर हैं। रोहित के जुड़ने से टीम को मजबूती मिली है। ओपनिंग में शुभमन गिल भी रोहित का साथ बखूबी निभा रहे हैं। मुश्किलों में घिरी भारतीय टीम की बल्लेबाजी का दारोमदार इन तीनों बल्लेबाजों के कंधों पर ही रहेगा। टीम इंडिया को मिडिल ऑर्डर में ऑलराउंडर हनुमा विहारी और रवींद्र जडेजा की कमी खलेगी। मेलबर्न टेस्ट में जडेजा ने मैच विनिंग पारी खेली थी, जबकि सिडनी टेस्ट ड्रॉ कराने में हनुमा ने ही अहम भूमिका निभायी थी। हनुमा ने रविचंद्रन अश्विन के साथ 43 ओवर बल्लेबाजी कर 62 रन की नाबाद साझादेरी की थी। दोनों चोट की समस्या से जूझ रहे है। इन तमाम विषमताओं के बावजूद आसानी से घुटने टेकने वालों में से कतई नहीं हैं। इसका अहसास मेजबान टीम को बखूबी है ।

सर्वश्रेष्ठ एकादश के साथ उतरेगी टीम इंडिया
भारतीय क्रिकेट टीम के बल्लेबाजी कोच विक्रम राठौड़ ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला के दौरान भारतीय खेमे में कई खिलाड़ियों की चोटों के बावजूद पूरे विश्वास के साथ कहा है कि ब्रिस्बेन के गाबा में होने वाले चौथे और निर्णायक मैच में भारत की सर्वश्रेष्ठ एकादश खेलेगी। हम सबसे अच्छी एकादश मैदान पर उतारेंगे। हम सभी खिलाड़ियों पर नजर रखे हुए हैं और उनकी फिटनेस पर काम कर रहे हैं। खिलाड़ियों की फिटनेस के आधार पर फैसला किया जाएगा कि सर्वश्रेष्ठ एकादश मैदान पर उतरे। अगर हम अपनी क्षमता से खेलते हैं तो निश्चित ही हम अच्छा प्रदर्शन करेंगे। तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह के लिए राठौड़ ने कहा कि मेडिकल टीम बुमराह को देख रही है। हमें यह देखने के लिए कल सुबह तक इंतजार करना होगा कि वह कैसा महसूस कर रहे हैं। अगर वह खेल सकते हैं तो बेहतर होगा और अगर नहीं तो हम इसके साथ समझौता करेंगे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

रोजवैली मामले में सीबीआई ने शुभ्रा कुंडू को किया ​गिरफ्तार

आज भुवनेवर कोर्ट में किया जाएगा पेश कोलकाता : 17000 करोड़ के बंगाल के सबसे बड़े घोटाले रोजवैली कांड में सीबीआई की टीम ने गौतम कुंडू आगे पढ़ें »

मेरी मातृभाषा गुजराती है और हिंदी मेरी मौसी है : आरजे वशिष्ठ

कोलकाताः "कोलकाता से मेरा नाता काफी पुराना है। सिटी ऑफ जॉय कहे जाने वाले इस शहर का नाम ही इतना प्यारा है तो इस जगह आगे पढ़ें »

ऊपर