टीम इंडिया को मैच से पहले इस कोच ने दी सेक्स करने की सलाह, किया चौंकाने वाला खुलासा

नई दिल्ली: टीम इंडिया के पूर्व मेंटल कंडीशनिंग कोच रहे पैडी अप्टन के एक खुलासे ने वर्ल्ड क्रिकेट को चौंका कर रख दिया था। भारतीय क्रिकेट टीम के इस पूर्व कोच के मुताबिक उन्होंने मैच से पहले खिलाड़ियों को सेक्स करने की सलाह दी थी। पैडी अप्टन ने इस बात का खुलासा अपनी किताब ‘द बेयरफुट कोच’ में किया था। टीम इंडिया के पूर्व मेंटल कंडीशनिंग कोच रहे पैडी अप्टन ने बताया था कि उनकी इस सलाह से उस समय के भारतीय टीम के मुख्य कोच गैरी कर्स्टन नाराज हो गए थे। बता दें कि गैरी कर्स्टन के कोच रहते भारत ने 2011 का वर्ल्ड कप जीता था। गैरी कर्स्टन के नाराज होने के बाद अप्टन ने उनसे इस बात के लिए माफी भी मांगी थी।

सेक्स वाली बात पर हो गया विवाद 

मेंटल कंडीशनिंग कोच रहे पैडी अप्टन ने कहा कि गैरी कर्स्टन को उनकी सेक्स वाली बात पर गुस्सा आ गया था। पैडी के मुताबिक उन्होंने मैच से पहले खिलाड़ियों को शारीरिक संबंध बनाने की सलाह मात्र दी थी, ऐसा उन्होंने एक जानकारी साझा करते हुए किया था। हालांकि बाद में पैडी अप्टन ने अपनी गलती को मानते हुए बताया कि टीम इंडिया के खिलाड़ियों को सेक्स करने की सलाह देना मेरी बहुत बड़ी गलती थी। मैं तो बस बता रहा था।’ पैडी अप्टन भारतीय टीम के पूर्व मेंटल कंडीशनिंग कोच के साथ-साथ आईपीएल की टीम राजस्थान रॉयल्स के मुख्य कोच भी रहे हैं

पैडी ने सेक्स के फायदे के बारे में जानकारी दी थी

पूर्व कोच पैडी ने अपनी किताब में ‘द वॉल’ राहुल द्रविड़ से लेकर गौतम गंभीर तक सब खिलाड़ियों का जिक्र किया है। उन्होंने लिखा है कि 2009 में खेले गए चैंपियन ट्रॉफी की तैयारी के दौरान वो टीम इंडिया के खिलाड़ियों के लिए नोट्स तैयार कर रहे थे, जिसमें उन्होंने सेक्स के फायदे के बारे में विस्तार से जानकारी दी थी। कोच पैडी ने एक चैप्टर ‘ईगो एंड माय ग्रेटेस्ट प्रोफेशनल एरर’ में अपने नोट्स के बारे में जिक्र किया है। पैडी ने खिलाड़ियों के लिए तैयार किए गए नोट्स में लिखा, ‘क्या शारीरिक संबंध बनाने से आपका प्रदर्शन बेहतर होता है? हां, यह बढ़ता है।’

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्सहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

महानगरः मार्केट खुलने के एक महीने में भी पटरी पर नहीं लौट पा रहा व्यवसाय

कोरोना काल, ट्रेनों का बंद रहना और तीसरी लहर के डर से नहीं हो रही भीड़ सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोरोना वायरस की दहशत कुछ कम होने आगे पढ़ें »

ऊपर