पिच की आलोचना करने वालों को रहाणे ने दिया करारा जवाब, कही ये बात

अहमदाबाद : भारतीय टेस्ट टीम के उपकप्तान अजिंक्य रहाणे ने देश में स्पिनरों की मददगार पिच की आलोचना को गंभीरता से नहीं लेने की सलाह देते हुए मंगलवार को कहा कि हमने विदेशों में नमी वाली पिचों (तेज गेंदबाजों की मददगार) के खिलाफ कभी कुछ नहीं बोला और इंग्लैंड की टीम को यहां चौथे टेस्ट में भी धीमी गेंदबाजी की मददगार विकेट की अपेक्षा करनी चाहिए। मुझे लगता है कि विकेट (पिच) चेन्नई में खेले गये दूसरे टेस्ट मैच के जैसा ही होगा, जिस पर स्पिनरों को मदद मिलेगी। हां, गुलाबी गेंद से थोड़ा फर्क पड़ा और जो लाल गेंद की तुलना में पिच पर टप्पा खाने के बाद तेजी से आ रही थी। हमें इससे सामंजस्य बिठाना पड़ा। यह पिच भी पिछले दो मैचों की तरह ही होगी। लोग जो कह रहे है, उन्हें कहने दीजिए। जब हम विदेश दौरे पर जाते है तो तेज गेंदबाजों की मदद पिच को लेकर कोई कुछ नहीं कहता है। वे तब भारतीय बल्लेबाजों की तकनीक की बात करते है, मुझे नहीं लगता कि इसे गंभीरता से लिये जाने की जरूरत है।

इंग्लैंड को हल्के में नहीं लेंगे 
यह पिच भी वैसी ही दिख रही है लेकिन हमें अभी देखना होगा कि यह कैसा बर्ताव करती है। हम टीम के तौर पर इंग्लैंड का सम्मान करते है। वे पहले टेस्ट में अच्छा खेले और हम उसके बाद के दो मैचों में बेहतर रहे। हम उन्हें हल्के में नहीं ले रहे है, दोनों टीमें मैदान पर अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर टेस्ट मैच जीतना चाहेगी। हमें खुशी है कि अनुभवी तेज गेंदबाज उमेश यादव तैयार है। वह अच्छे लय में और और उसका नेट सत्र भी अच्छा रहा। हमें खुशी है कि उसने टीम में वापसी की है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ठाकुरपुकुर में महिला भाजपा समर्थक पर हमला

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : रात को बाथरूम से लौट रही महिला पर धारदार हथियार से हमला किया गया। घटना ठाकुरपुकुर के सिलपाड़ा इलाके की है। आरोप आगे पढ़ें »

कालीघाट मंदिर में युवती से जबरन शादी करने की कोशिश, अभियुक्त गिरफ्तार

विरोध करने पर युवती से मारपीट कर तोड़ा मोबाइल सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कालीघाट मंदिर में एक युवती को ले जाकर उससे जबरन शादी करने की कोशिश आगे पढ़ें »

सॉल्टलेक के दत्ताबाद मैं भाजपा कार्यकर्ताओं ने जमकर किया तोड़फोड़

कारोना विस्फोट पर ममता ने मांगा प्रधानमंत्री से इस्तीफा

जिन राज्यों में चुनाव नहीं, वहां कोरोना के मामले अधिक : शाह

कोरोना संकट के बीच रेलवे ने कसी कमर, चलाई जाएंगी ‘ऑक्सीजन एक्सप्रेस’ ट्रेनें

कितने दिनों में कोविड मरीज ठीक होते हैं या हालत हो जाती है खराब, 14 दिन की लिमिट का क्या है मतलब

बटन इतना ज़ोर से दबाना कि बटन यहां दबे और करंट दीदी को कोलकाता में लगे – अमित शाह

मरीज तड़पता रहा, भर्ती कराने गए परिजनों को डॉक्टर कैमरे के सामने ही पीटते रहे

अमृता सिंह के साथ अपने रिश्ते को लेकर करीना ने खोला बड़ा राज, कहा – मैं उनसे कभी नहीं………..

ऊपर