टर्निंग ट्रैक पर फाइनल का टिकट कटाने उतरेगा भारत

टीम इंडिया को सिर्फ एक ड्रॉ की जरूरत, इंग्लैंड रेस से बाहर

अहमदाबाद : पिछले दो मैचों में दबदबा बनाने में सफल रहा भारत गुरुवार से यहां शुरू हो रहे चौथे और अंतिम टेस्ट में एक बार फिर स्पिन की अनुकूल पिच पर इंग्लैंड के खिलाफ कोई रहम नहीं दिखाते हुए विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप के फाइनल में क्वालीफाई करके के लक्ष्य के साथ उतरेगा। भारतीय टीम सीरीज में 2-1 से आगे चल रही और अगर विराट कोहली की टीम अंतिम टेस्ट ड्रॉ भी करा लेती है तो जून में लार्ड्स में होने वाले फाइनल में जगह बना लेगी, जहां उसका सामना न्यूजीलैंड से होगा। इंग्लैंड की टीम फाइनल की दौड़ से बाहर हो गई है लेकिन अगर अंतिम टेस्ट में जीत दर्ज करती है तो फिर भारत को भी खिताबी मुकाबले से बाहर कर देगी और टिम पेन की अगुआई वाली ऑस्ट्रेलिया की टीम को इस मुकाबले में खेलने का मौका मिलेगा। दुनिया के सबसे बड़े नरेंद्र मोदी स्टेडियम में हो रहे चौथे टेस्ट में भी दोनों टीमों की परीक्षा स्पिन ट्रैक से ही होगी, जिसके लिए दोनों टीमें पूरी तैयारी कर चुकी होंगी।

कोताही नहीं बरतेगी टीम इंडिया
इस तरह के मैच में ड्रॉ हमेशा सुरक्षित विकल्प होता है लेकिन आक्रामक रवैया अपनाने वाले कोहली और कोच रवि शास्त्री रक्षात्मक रवैया नहीं अपनाना चाहेंगे क्योंकि ऐसा करना कभी-कभी भारी भी पड़ जाता है। मोटेरा की नई पिच पर तीसरे टेस्ट के दौरान गुलाबी गेंद के सामने मेहमान टीम को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा और भारत ने सिर्फ दो दिन के अंदर 10 विकेट से जीत दर्ज की। बायें हाथ के स्पिनर अक्षर पटेल की सीधी गेंदों का सामना करने में इंग्लैंड के बल्लेबाजों को काफी परेशानी हुई क्योंकि वे शुरुआत से ही गेंद के टर्न होने की उम्मीद कर रहे थे। चेन्नई में दूसरे टेस्ट से ही यह रणनीति मेजबान टीम के लिए सफल रही है।

चौथे टेस्ट में जीत अभूतपूर्व उपलब्धि होगी : रूट
इंग्लैंड की टेस्ट टीम के कप्तान जो रूट ने कहा है कि अहमदाबाद की पिच पर भारत के खिलाफ चौथे और अंतिम टेस्ट मैच में जीत उनकी टीम के लिए एक अभूतपूर्व उपलब्धि होगी। अगर उनकी टीम सीरीज को 2-2 से ड्रॉ करवाने में कामयाब होती है तो यह बहुत बड़ी उपलब्धि होगी, क्योंकि भारत का घरेलू मैदानों पर टेस्ट रिकॉर्ड बहुत अच्छा रहा है। आप हाल के दिनों में घरेलू मैदानों पर भारत के रिकॉर्ड को देखें तो यह अविश्वसनीय हैं, इसलिए हमारे लिए, खासतौर पर पिछले दो मैचों में हार के बाद वापसी करते हुए एक ड्रॉ सीरीज के साथ स्वदेश लौटना एक अच्छी उपलब्धि होगी। हमारे पास दो चुनौतीपूर्ण सप्ताह हैं, लेकिन यह हमें एक टीम के रूप में परिभाषित नहीं करते। हमें इन्हें कुछ विशेष करने के लिए एक अवसर के रूप में देखना होगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सॉल्टलेक के दत्ताबाद मैं भाजपा कार्यकर्ताओं ने जमकर किया तोड़फोड़

सन्मार्ग संवाददाता विधाननगर : राज्य में पांचवें चरण के मतदान संपन्न होने के बाद भी विभिन्न विधानसभा केन्द्र में चुनावी हिंसा जारी है। ताजा घटना विधाननगर आगे पढ़ें »

कारोना विस्फोट पर ममता ने मांगा प्रधानमंत्री से इस्तीफा

कोविड वैक्सीन की कमी को लेकर मोदी सरकार पर साधा निशाना सन्मार्ग संवाददाता बैरकपुर : बंगाल में विधानसभा चुनाव के बीच राज्य समेत देश भर में कोरोना आगे पढ़ें »

जिन राज्यों में चुनाव नहीं, वहां कोरोना के मामले अधिक : शाह

कोरोना संकट के बीच रेलवे ने कसी कमर, चलाई जाएंगी ‘ऑक्सीजन एक्सप्रेस’ ट्रेनें

कितने दिनों में कोविड मरीज ठीक होते हैं या हालत हो जाती है खराब, 14 दिन की लिमिट का क्या है मतलब

बटन इतना ज़ोर से दबाना कि बटन यहां दबे और करंट दीदी को कोलकाता में लगे – अमित शाह

मरीज तड़पता रहा, भर्ती कराने गए परिजनों को डॉक्टर कैमरे के सामने ही पीटते रहे

अमृता सिंह के साथ अपने रिश्ते को लेकर करीना ने खोला बड़ा राज, कहा – मैं उनसे कभी नहीं………..

घर में सो रहा था शख्स, सिर काट कर साथ ले गया कातिल

घर आई टीचर को पहले जान से मारा फिर हाथ-पैर बांध किया सेक्स, पत्नी और बच्चों की भी…

ऊपर