हर रणनीति से निपटने को तैयार भारत : गिल

सिडनी : युवा भारतीय बल्लेबाज शुभमन गिल का मानना है कि ऑस्ट्रेलिया में क्रिकेट खेलना काफी चुनौतीपूर्ण है लेकिन 17 दिसंबर से एडीलेड में शुरू हो रही चार मैचों की टेस्ट श्रृंखला के दौरान वह छींटाकशी और शॉर्ट-पिच गेंदों का सामना करने के लिए तैयार है। टीम इंडिया के पास ऑस्ट्रेलिया को शांत कराने के लिए कई रणनीति हैं। ऑस्ट्रेलिया को हर मामले में मुंहतोड़ जवाब देगी। चाहे स्लेजिंग हो या बाउंसर, भारत के पास ऑस्ट्रेलिया के हर रणनीति के लिए जवाब मौजूद है। एक समय था जब भारतीय खिलाड़ी शांत हुआ करते थे और विपक्षी टीम इसका फायदा उठाती थी, लेकिन अब ऐसा नहीं है। गिल ने सलामी बल्लेबाज के तौर पर अपना दावा मजबूत करते हुए ऑस्ट्रेलिया ए के खिलाफ गुलाबी गेंद (दिन-रात्रि) से तीन दिवसीय अभ्यास मैच की दोनों पारियों में 43 और 65 रन बनाये थे। गिल ने कहा कि ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ऑस्ट्रेलिया में खेलना काफी डराने वाला है लेकिन मैं इसके लिए तैयार हूं।

रहाणे पर कप्तानी का दबाव नहीं होगा : गावस्कर
महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर का मानना है कि विराट कोहली की गैर मौजूदगी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ आखिरी तीन टेस्ट में अगर अजिंक्य रहाणे को भारत की कप्तानी दी जाती है तो उस पर कोई दबाव नहीं होगा। कोहली एडीलेड में होने वाले पहले टेस्ट के बाद पितृत्व अवकाश पर स्वदेश लौट आयेंगे। बाकी तीन टेस्ट में रहाणे को कप्तानी दिये जाने की संभावना है। गावस्कर ने स्टार स्पोटर्स के कार्यक्रम गेम प्लान में कहा कि अजिंक्य रहाणे पर कोई दबाव नहीं है क्योंकि उसने दो बार भारत की कप्तानी की और दोनों बार विजयी रहा। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ धर्मशाला में उसकी कप्तानी में भारत जीता और फिर अफगानिस्तान के खिलाफ भी जीत दर्ज की। रहाणे ने दोनों अभ्यास मैचों में भारत की कप्तानी की, जो ड्रॉ रहे। वह उतनी ही ईमानदारी से कप्तानी करेगा, जैसे बल्लेबाजी करता है। वह क्रीज पर पुजारा को विरोधी पर दबाव बनाने का मौका देगा और खुद उसका साथ देगा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पहले सीएम ने लगायी फटकार, फिर किया दुलार

पुरुलिया : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने जिले के हुटमुड़ा मैदान में एक विशाल जनसभा को संबोधित किया। उनके संबोधन के दौरान मुख्यमंत्री ममता बनर्जी का आगे पढ़ें »

धुपगुड़ी में दर्दनाक हादसा : डम्पर के नीचे दबकर 14 लोगों की मौत

सन्मार्ग संवाददाता, धुपगुड़ी/कोलकाता : मंगलवार की रात धुपगुड़ी में हुए दर्दनाक हादसे में कम से कम 14 लोगों की मौत हो गयी। पत्थर ढोने वाले आगे पढ़ें »

ऊपर