अगर आज मैं नहीं बोलूंगी तो बाकी लोग सहते रहेंगे : यौन शोषण मामले में स्विमिंग चैंपियन

‘खेल में छेड़छाड़ होती है लेकिन विरोध कम, मैं बात करना चाहती हूं’
‘जब मैं 10 साल की थी, तब से उनके यहां कोचिंग कर रही हूं’
कोलकाता: गोवा में बंगाल के एक स्विमिंग कोच ने दरिंदगी की हद पार कर दी। उन्होंने अपने ही एक छात्रा को अपना शिकार बनाया। इसी मामले से जड़ी एक वीडियो वायरल हो गई थी जिसकी वजह से हंगामा मच गया है। मेडल जीत चुकी लड़की ने एक वीडियो में दिए बयान में कहा कि कृपा कर के स्पोर्ट्स को बचा लीजिए। 15 साल की लड़की अब बंगाल में अपने घर पहुंच चुकी है। उसने कहा, ‘स्पोर्ट्स में छेड़छाड़ होती है लेकिन विरोध कम। मैं बात करना चाहती हूं। यह लंबे समय से चल रहा है। अगर मैं आज नहीं बोलूंगी तो बाकी लोग इसे सहते रहेंगे।’ आरोपी कोच सुरजीत गांगुली और किशोर लड़की (स्विमर) बंगाल से ही हैं। सूत्रों के मुताबिक कोच नेशनल स्विमर था। वह रेलवे में फुट टाइम नौकरी कर रहा था और बंगाल के एक पुल में छात्रों को ट्रेनिंग दे रहा था।
पहले भी भगाया जा चुका है
3 साल पहले आरोपी ने एक ट्रेनिंग सेंटर शुरू किया था। सूत्रों के मुताबिक आरोपी का अपने एक स्विमिंग स्टूडेंट की मां के साथ रिलेशनशिप हो गया था जिसकी वजह से उसे ये सेंटर छोड़ना पड़ा। वह पहले बंगलुरू गया और फिर गोवा स्विमिंग फेडरेशन का ट्रेनर बना जो कि स्पोर्ट्स अथॉरिटी ऑफ इंडिया से स्वीकृत है।
डरा-धमकाकर रखता था
वहीं पीड़ित लड़की ने बताया ‘जब मैं 10 साल की थी, तब से उनके यहां कोचिंग कर रही हूं। मुझे अच्छे नतीजे मिले। उन्होंने (कोच) मुझे गोवा आने के लिए कहा। मैं वहां गई। मेरे पिता वहां कई बार गए थे। लेकिन कोच का व्यवहार भयावह था।’
पीड़ित लड़की ने कहा ‘उसने मुझे छुआ, धमकी दी और कहा कि किसी से कहना मत। यह तुम्हारे और तुम्हारे कोच के बीच में है। अपने माता-पिता से भी कुछ मत कहना। तुम्हारे आगे भविष्य पड़ा है। वह मेरे घर आया और पूल में मेरे साथ बदतमीजी की। मैं मदद चाहती हूं।’
खेल मंत्री ने भी किया हस्तक्षेप
खेल मंत्री किरण रिजिजू ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए आरोपी कोच को नौकरी से निकाल दिया और उसकी किसी भी तरह की सरकारी नौकरी पर रोक लगा दी।
लड़की के द्वारा लोकल पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज कराई गई है और उसे गोवा भेजा गया है। पुलिस ने रेप, छेड़छाड़, आपराधिक धमकी और पोक्सो के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

लोगों में पीओके की आजादी के लिये ‘जुनून’ है : ठाकुर

जम्मू : केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने सोमवार को कहा कि जम्मू-कश्मीर के विशेष दर्जे को समाप्त करने के बाद पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर आगे पढ़ें »

पिछले पांच-छह साल में बढ़े हैं दलितों पर अत्याचार : प्रशांत भूषण

नयी दिल्ली : भीम आर्मी द्वारा आयोजित संवाददाता सम्मेलन में सामाजिक कार्यकर्ता व वकील प्रशांत भूषण ने सोमवार को आरोप लगाया कि पिछले पांच-छह साल आगे पढ़ें »

ऊपर