न्यूजीलैंड से जीता अफगानिस्तान तो सेमीफाइनल खेलेगा भारत

नई दिल्ली : टी-20 वर्ल्ड कप के सुपर-12 मुकाबले अपने आखिरी चरण में हैं। सभी टीमें कम से कम 4-4 मैच खेल चुकी हैं। अब तक केवल पाकिस्तान ऐसी टीम है जिसका सेमीफाइनल में पहुंचना पक्का है। पहले ग्रुप में एक स्थान के दो दावेदार है, तो दूसरा ग्रुप, जिसमें भारत है, उसमें एक स्थान के लिए तीन दावेदार हैं। दोनों ग्रुप में कौन सी टीम किस स्थिति में सेमीफाइनल में पहुंच सकती है? भारत के लिए सेमीफाइनल में पहुंचने की क्या उम्मीद है? आइये समझते हैं…

पहले बात ग्रुप-2 कीइस ग्रुप में सभी टीमें 4-4 मैच खेल चुकी हैं। इस ग्रुप से सेमीफाइनल में जाने वाली एक टीम पाकिस्तान होगी। वहीं, दूसरी टीम के लिए तीन दावेदार हैं। भारत, न्यूजीलैंड और अफगानिस्तान। भारत से हार के साथ नामीबिया अंतिम चार की रेस से बहार हो गया है। वहीं, स्कॉटलैंड शुरुआती तीनों मुकाबले हारने के साथ ही सेमीफाइनल की रेस से बाहर हो गया था।

भारत का नेट रन रेट ग्रुप-2 में सबसे बेहतर

शुक्रवार को स्कॉटलैंड के खिलाफ महज 39 गेदों में टारगेट हासिल करके भारत ने नेट रन रेट सुधार लिया। इसके साथ ही भारत का रन रेट 0.073 से बढ़कर 1.62 का हो गया, जो पाकिस्तान से भी बेहतर है। अब भारत की नजर रविवार को दोपहर में होने वाले न्यूजीलैंड और अफगानिस्तान मैच पर रहेगी। अगर इस मैच में अफगानिस्तान ने न्यूजीलैंड को हरा दिया तो भारत के पास सेमीफाइनल में पहुंचने का मौका रहेगा।

न्यूजीलैंड जीता तो सेमीफाइनल में पहुंचेगा

ग्रुप-2 में अगर न्यूजीलैंड-अफगानिस्तान मुकाबले में न्यूजीलैंड जीतता है तो वो सेमीफाइनल में पहुंच जाएगा। न्यूजीलैंड के जीतते ही 8 नवंबर को होने वाला भारत-नाबीमिया मैच केवल औपचारिकता बनकर रह जाएगा।

क्या अफगानिस्तान भी सेमीफाइनल में पहुंच सकता है?

हां, अगर अफगानिस्तान बड़े अंतर से न्यूजीलैंड को हरा दे और भारत बहुत कम अंतर से नामीबिया से जीते तो अफगानिस्तान बेहतर रन रेट के आधार पर अफगानिस्तान सेमीफाइनल में पहुंच जाएगा।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

रूपा के बगावती तेवर

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : कोलकाता नगर निगम चुनाव का बिगुल बज चुका है। ऐसे में चुनाव की रणनीति तय करने के लिए राजनीतिक पार्टियों के बीच आगे पढ़ें »

ऊपर