आईसीसी रैंकिंग : विकेटकीपर बल्लेबाजों में पंत सबसे आगे

दुबई : भारत के ऋषभ पंत ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ब्रिसबेन टेस्ट मैच में नाबाद 89 रन की मैच विजेता पारी खेलने से विश्व में सर्वाधिक रैंकिंग के विकेटकीपर बल्लेबाज बन गये हैं। आईसीसी की बुधवार को जारी ताजा विश्व रैंकिंग में पंत बल्लेबाजों की सूची में 13वें स्थान पर पहुंच गये हैं, जो उनके करियर की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग है। अपनी आक्रामक बल्लेबाजी के कारण विशेष पहचान बना रहे पंत के 691 अंक हैं। विकेटकीपर बल्लेबाजों में उनके बाद दक्षिण अफ्रीका के क्विंटन डिकॉक का नंबर आता है जो 677 अंकों के साथ 15वें स्थान पर हैं। ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाज मार्नस लाबुशेन ब्रिसबेन में पहली पारी के शतक के दम पर भारतीय कप्तान विराट कोहली (862 अंक) से आगे निकलकर तीसरे स्थान पर पहुंच गये हैं। लाबुशेन के 878 अंक हैं। न्यूजीलैंड के केन विलियमसन (919) और ऑस्ट्रेलिया के स्टीव स्मिथ (891) पहले दो स्थानों पर हैं। युवा भारतीय सलामी बल्लेबाज शुभमन गिल ने आगे बढ़ना जारी रखा। वह दूसरी पारी में 91 रन की शानदार पारी के दम पर 68वें से 47वें स्थान पर पहुंच गये हैं जबकि मध्यक्रम के बल्लेबाज चेतेश्वर पुजारा एक पायदान ऊपर सातवें स्थान पर काबिज हो गये हैं।

जेएसडब्ल्यू ने ऋषभ पंत को अनुबंधित किया
ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ ब्रिसबेन में चौथे और अंतिम टेस्ट मैच में भारतीय जीत के नायक रहे स्टार विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने जेएसडब्ल्यू स्पोर्ट्स के साथ कई साल का करार किया है, जिसके तहत यह कंपनी इस क्रिकेटर के व्यावसायिक और विपणन अधिकारों को देखेगी। जेएसडब्ल्यू स्पोर्ट्स ने बुधवार को पंत के साथ अनुबंध करने की घोषणा की। इससे पहले पंत कार्नरस्टोन स्पोर्ट एंड इंटरटेनमेंट प्रा लि से जुड़े थे। जेएसडब्ल्यूए स्पोर्ट्स अधिकतर ओलंपिक खेलों, फुटबॉल और कबड्डी से जुड़े खिलाड़ियों का काम देखता रहा है। इनमें ओलंपिक कांस्य पदक विजेता पहलवान साक्षी मलिक और एक अन्य स्टार पहलवान बजरंग पूनिया भी शामिल हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल का चुनावी दंगल : 20 सभाएं करेंगे पीएम

शाह की होंगी 50 जनसभाएं कोलकाता : पश्चिम बंगाल में चुनावी दंगल की घोषणा के बाद अब भाजपा कमर कस कर तैयारी में जुट चुकी है। आगे पढ़ें »

बुधवार के 7 प्रभावकारी उपाय एवं टोटके करेंगे हर विघ्न दूर…

कोलकाताः बुधवार के दिन खास तौर पर श्रीगणेश की पूजा-अर्चना करने का विधान है, क्योंकि श्री गणेशजी को विघ्नहर्ता कहा जाता है। वे स्वयं रिद्धि-सिद्धि के दाता आगे पढ़ें »

ऊपर