इंग्लैंड के पूर्व कोच की चेतावनी, भारत को हल्के में नहीं लिया जा सकता

मेजबान टीम को कड़ी चुनौती देने के लिये इंग्लैंड के पास दमदार खिलाड़ी

नयी दिल्ली : इंग्लैंड की भारतीय धरती पर 2012 की जीत के प्रमुख सूत्रधार रहे पूर्व कोच एंडी फ्लॉवर का मानना है कि मेहमान टीम इस बार भी नौ साल पुरानी कहानी दोहरा सकती है क्योंकि उसके पास मेजबान टीम को चुनौती देने के लिये दमदार खिलाड़ी हैं। इंग्लैंड की 2012 की 2-1 से जीत में दोनों स्पिनरों ग्रीम स्वान और मोंटी पनेसर तथा स्टार बल्लेबाज केविन पीटरसन ने अहम भूमिका निभायी थी। पिछले एक दशक में किसी विदेशी टीम की भारतीय सरजमीं पर सीरीज में यह एकमात्र जीत है। हालांकि फ्लॉवर आगामी सीरीज को लेकर कोई भविष्यवाणी नहीं करना चाहते हैं लेकिन उन्होंने भारत की हाल में ऑस्ट्रेलिया में जीत का उदाहरण देते हुए कहा कि लंबी अवधि के प्रारूप में मेहमान टीम को अब हल्के से नहीं लिया जा सकता है। फ्लॉवर ने कहा कि भारत ने ऑस्ट्रेलिया में टी-20 सीरीज जीती और इस साल मेलबर्न और ब्रिस्बेन में टेस्ट मैच जीते तथा दो साल पहले टेस्ट सीरीज अपने नाम की थी, जिससे पता चलता है कि मेहमान टीम के पास अपनी छाप छोड़ने के लिये पर्याप्त मौके होते हैं। क्रिकेट की प्रकृति बदल गयी है। बल्लेबाज और गेंदबाज दोनों अधिक चुस्त बन गये हैं और वे अधिक आक्रामक खेल खेलते हैं। हमारे चारों तरफ हो रहे इन परिवर्तनों पर गौर किया जाना चाहिए। अब ये मैच नीरस नहीं होंगे।

महत्वपूर्ण मौकों का फायदा उठाना जरूरी
किस टीम का पलड़ा भारी रहेगा यह कहना अभी जल्दबाजी होगी। हालांकि इंग्लैंड की टीम के पास दमदार खिलाड़ियों का अच्छा संयोजन है, जो खुद को बेहतर या जीत की स्थिति में ला सकते हैं। उन्होंने कहा कि काफी कुछ मैच के दिन और महत्वपूर्ण मौकों का फायदा उठाने पर निर्भर करेगा। इंग्लैंड के पास कुछ बेहतरीन खिलाड़ी हैं जिन्होंने खेल के सभी प्रारूपों में अच्छा प्रदर्शन किया है। पिछले एक दशक में इंग्लैंड की सफलता का काफी श्रेय एंडरसन और ब्रॉड की तेज गेंदबाजी जोड़ी को जाता है, जिन्होंने मिलकर 1100 से अधिक टेस्ट विकेट लिये हैं। फ्लॉवर ने स्वीकार किया इनके संन्यास लेने के बाद उनकी जगह भरना मुश्किल होगा।

इंग्लैंड और भारतीय टीमों का क्वारंटाइन शुरू
चार मैचों की टेस्ट सीरीज के चेन्नई में खेले जाने वाले पहले दो मैचों के लिए इंग्लैंड और भारतीय खिलाड़ियों का क्वारंटाइन शुरू हो गया है। दोनों टीमों के खिलाड़ियों को लीला पैलेस होटल में क्वारंटाइन किया गया है। चेन्नई के चेपक स्टेडियम में 5 फरवरी से पहला और 13 फरवरी से दूसरा टेस्ट खेला जाएगा। तमिलनाडु क्रिकेट एसोसिएशन के सूत्रों के मुताबिक दोनों टीम के खिलाड़ी लीला पैलेस होटल में छह दिनों तक जैव सुरक्षित वातावरण (बायो-बबल) में रहेंगे। इस दौरान उनका हर तीन दिन में कोरोना टेस्ट किया जाएगा। क्वारंटाइन के बाद दोनों टीमें दो फरवरी से नेट पर अभ्यास शुरू करेंगी। उन्हें ट्रेनिंग के लिए 3 दिन मिलेंगे। कोरोना महामारी के मद्देनजर इंग्लैंड क्रिकेट बोर्ड की अपील के बाद यह सीरीज दर्शकों की अनुपस्थिति में खेली जाएगी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

‘भवानीपुर के बजाय आपकी स्कूटी नंदीग्राम में लैंड हो गयी’

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : पिछले सप्ताह मुख्यमंत्री ममता बनर्जी द्वारा पेट्रोल व डीजल के दाम में वृद्धि का प्रतिवाद करने के लिए की गयी स्कूटी की आगे पढ़ें »

हेरोइन तस्कर के साथी से 60.97 लाख रुपये जब्त

सन्मार्ग संवादादाता कोलकाता : हेरोइन तस्करी के आरोप में गिरफ्तार अ‌भ‌ियुक्त की निशानदेही पर कोलकाता पुलिस के एसटीएफ अधिकारियों ने 60.97 लाख रुपये जब्त किया है। आगे पढ़ें »

ऊपर