फीफा ने भारत को दिया झटका, एआईएफएफ को किया सस्पेंड, महिला वर्ल्ड कप की मेजबानी भी छीनी

नई दिल्ली: दुनियाभर में फुटबॉल को चलाने वाली सबसे बड़ी संस्था यानी फीफा (फीफा) ने अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ पर बैन लगा दिया है। इसका सीधा-सीधा मतलब ये है कि अब न तो भारत इस साल अक्टूबर में होने वाला वीमेंस अंडर-17 फुटबॉल वर्ल्ड कप की मेजबानी कर पाएगा और न ही अपनी राष्ट्रीय फुटबॉल टीम किसी इंटरनेशनल इवेंट में खेल पाएगी।
क्यों किया गया प्रतिबंधित?

फीफा ने तीसरे पक्ष द्वारा गैर जरूरी दखल का हवाला देकर अखिल सोमवार रात यह कड़ा फैसला लिया। फीफा ने कहा है कि निलंबन तुरंत प्रभाव से लागू होगा। फीफा ने एक बयान में कहा, ‘यह निलंबन तभी हटेगा जब एआईएफएफ यानी अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ अपनी कार्यकारी समिति की घोषणा नहीं कर देता। दरअसल, सुप्रीम कोर्ट के दखल के बाद देश में फुटबॉल का कामकाज प्रशासकों की समिति यानी सीओए देख रही है। फीफा भारत के खेल मंत्रालय से लगातार संपर्क में है और सकारात्मक नतीजे तक पहुंचने की उम्मीद है।
चुनाव से शुरू हुआ सारा विवाद
सुप्रीम कोर्ट की ओर से नियुक्त प्रशासकों की समिति (सीओए) ने चुनावी प्रक्रिया शुरू कर दी है। 28 अगस्त को चुनाव होने हैं। मगर सारे विवाद की जड़ में ऑल इंडिया फुटबॉल फेडरेशन (एआईएफएफ) के पूर्व अध्यक्ष और राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी यानी एनसीपी नेता प्रफुल पटेल जुड़े हुए हैं। 2004 में यूपीए सरकार में नागरिक उड्डयन मंत्री रहे प्रफुल्ल पटेल को 2009 में अध्यक्ष बनाया गया था। 2022 में जब तक सुप्रीम कोर्ट ने उन्हें पद से हटा नहीं दिया तब तक वे अध्यक्ष बने रहे। भारत के स्पोर्ट्स कोड के अनुसार कोई भी व्यक्ति 3 बार से ज्यादा अध्यक्ष नहीं बन सकता। अब प्रफुल्ल पटेल राज्य संघों के साथ मिलकर चुनाव नहीं होने दे रहे हैं।

 

शेयर करें

मुख्य समाचार

दुर्गापूजा के रंग में बारिश ने डाला भंग

कोलकाता : इस वक्त की बड़ी खबर आ रही है कि आज षष्ठी के साथ ही महानगर में बारिश की शुरुआत हो गयी है। मालूम आगे पढ़ें »

‘नीतीश या लालू नहीं… इस बार बिहार की जनता चाहती है बदलाव’

बिहार : बिहार में वैकल्पिक राजनीति की बात करने वाले प्रशांत किशोर 2 अक्टूबर गांधी जयंती से बिहार में प्रदेशव्यापी जन सूरज पदयात्रा शुरू करने आगे पढ़ें »

ऊपर