इंग्लैंड ने टेस्ट सीरीज में श्रीलंका का सूपड़ा साफ किया

गॉल : डॉम सिबले (नाबाद 56) और जोस बटलर (46) की पांचवें विकेट के लिए 75 रन की अटूट साझेदारी की मदद से इंग्लैंड क्रिकेट टीम ने दूसरे टेस्ट मैच के चौथे दिन सोमवार को श्रीलंका को छह विकेट से हराकर दो मैचों की सीरीज को 2-0 से अपने नाम कर ली। चौथी पारी में जीत के लिए 164 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए इंग्लैंड की टीम 89 रन पर चौथा विकेट गंवाने के बाद संकट में थी लेकिन स्पिनरों की मददगार पिच पर सिबले और अनुभवी बटलर की जोड़ी ने कोई और क्षति नहीं होने दी। सिबले इससे पहले तीन पारियों में सिर्फ छह रन बना सके थे लेकिन उन्होंने नाबाद अर्धशतकीय पारी खेल फार्म में वापसी की। पहली पारी में सात विकेट लेने वाले लेसिथ एम्बुलडेनिया ने दूसरी पारी में तीन विकेट लेकर श्रीलंका की उम्मीदे कायम की लेकिन उन्हें दूसरे गेंदबाजों का बेहतर साथ नहीं मिला। इंग्लैंड ने इससे पहले श्रीलंका में पिछले पांच टेस्ट मैच जीते हैं। उसने इसी मैदान पर खेला गया पहला टेस्ट मैच सात विकेट से जीता था।

रूट की नियंत्रित पारी शानदार सीख : संगकारा
जो रूट के श्रीलंका के खिलाफ वर्तमान सीरीज के प्रदर्शन से बेहद प्रभावित कुमार संगकारा ने कहा कि इंग्लैंड के कप्तान ने दूसरे टेस्ट क्रिकेट मैच के तीसरे दिन जिस तरह से नियंत्रित बल्लेबाजी की वह सभी के लिये बहुत अच्छी सीख है। सीरीज के पहले मैच में दोहरा शतक जड़ने के बाद रूट ने अपनी शानदार फार्म बरकरार रखते हुए दूसरे मैच में 186 रन बनाये। संगकारा ने कहा कि बेजोड़ पारी। जिस तरह से उसने इसे बेहद आसान बनाया उससे हर कोई हैरान था। केवल यही पारी नहीं बल्कि पहले टेस्ट में उन्होंने जिस तरह से बल्लेबाजी की। बेहतरीन रणनीति, उस पर अच्छी तरह से अमल करना, स्वीप, रिवर्स स्वीप का उपयोग, स्ट्राइक रोटेट करना, तकनीक, धैर्य सब कुछ अविश्वसनीय था। इस पारी को देखना और उससे सीख लेना शानदार था। आप रन बना सकते हैं लेकिन जिस सहजता से जो रूट ने बनाये, हो सकता है वैसे न बना पाएं। उसने इस पर काम किया। परिस्थिति और पिच को अच्छी तरह से समझा और यह पूरी तरह से नियंत्रित पारी थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पूजापाठ से जुड़े ये 10 नियम हमेशा रखें ध्‍यान, कभी नहीं होगा आपका नुकसान

कोलकाताः सनातन धर्म को मानने वाले लोगों के लिए पूजापाठ सबसे जरूरी क्रिया है। हिंदू धर्म के लोगों की दैनिक दिनचर्या पूजापाठ के बिना शुरू आगे पढ़ें »

शिक्षकों ने लगा संस्था के अधिकारी पर ठगी का आरोप

कलई खुलने से बाद से अधिकारी है भूमिगत ​पीड़ितों ने किया कई जगहों पर विक्षोभ-प्रदर्शन बारासात : गरीब बच्चों के लिए एक संस्था खोलकर उनकी पढ़ाई के आगे पढ़ें »

ऊपर