धोनी ने एकदम अलग तरीके से मनाया बर्थडे, अचानक पहुंचे स्‍टेडियम फिर…

रांचीः महेंद्र सिंह धोनी आज (7 जुलाई को) अपना 41वां जन्मदिन मना रहे हैं। धोनी दुनिया के बेहतरीन कप्तान और फिनिशर्स में शुमार हैं। फैंस ने विजयवाड़ा में धोनी का 41 फीट का कट आउट लगाकर बर्थडे विश किया है। धोनी हमेशा से ही अपनी आक्रमक बैटिंग के लिए फेमस रहे हैं। उनके पास वह काबिलियत है कि वो किसी भी गेंदबाजी आक्रमण की धज्जियां उड़ा सकें। अपने बर्थडे के मौके पर धोनी एक खास खिलाड़ी का मैच देखते हुए नजर आए। महेंद्र सिंह धोनी टेनिस ग्रैंड स्लैम टूर्नामेंट बिम्वलडन का मैच देखने पहुंचे थे। बिम्बलडन के सेंटर कोर्ट  पर राफेल नडाल और टेलर फ्रिट्ज का मैच चल रहा था। महेंद्र सिंह धोनी की एक तस्वीर चेन्नई सुपर किंग्स ने अपने ट्विटर अकाउंट से पोस्ट की, जिसमें उन्होंने लिखा है कि ‘येलो ऑल मैच देखते हुए’ इस तस्वीर में धोनी ग्रे कलर का सूट पहने नजर आ रहे हैं। धोनी ने काला चश्मा भी लगाया हुआ है। धोनी आज 41 साल के हो चुके हैं और उन्होंने खुद को ये मैच देखने का तोहफा दिया है। वहीं, दिग्गज भारतीय क्रिकेटर सुनील गावस्कर भी मैच देखते हुए नजर आए।

साक्षी सिंह ने पोस्ट किया वीडियो 

साक्षी सिंह ने अपने इंस्टाग्राम अकाउंट से एक वीडियो पोस्ट किया है, जिसमें महेंद्र सिंह धोनी केट काटते हुए नजर आ रहे हैं। इसमें उनके पीछे माही लिखा हुआ नजर आ रहा है. ये वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। धोनी ने साल 2010 में साक्षी सिंह से शादी की थी। दोनों की एक बेटी भी है, जिसका नाम जीवा है। धोनी की कप्तानी में भारत ने तीनों ही आईसीसी ट्रॉफी अपने नाम की हैं।

टीम इंडिया को जिताए कई मैच

महेंद्र सिंह धोनी ने अपने दम पर भारतीय टीम को कई मैच जिताए हैं। उन्होंने अपने शांत और चतुर दिमाग से विरोधी टीमों को पस्त किया है। धोनी की विकेटकीपिंग स्किल भी बहुत ही कमाल की है। उनकी कप्तानी में कई क्रिकेटर्स ने अपना करियर बनाया है। महेंद्र सिंह धोनी ने इंटरनेशनल क्रिकेट से साल 2020 में संन्यास ले लिया था, लेकिन वह अभी भी आईपीएल में सक्रिय हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन, ऐसे करें आवेदन

" हमारा सपना हर छात्र माने हिंदी को अपना" हर साल की तरह इस साल भी हम लेकर आये हैं राम अवतार गुप्त प्रोत्साहन। इस बार आगे पढ़ें »

क्या अनुव्रत को जिलाध्यक्ष पद से हटाएगी तृणमूल ?

केष्टो की गिरफ्तारी के बाद कयास तेज, शताब्दी के नाम की चर्चा सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : करीब तीन दशक तक बीरभूम की राजनीति में रहे तृणमूल के आगे पढ़ें »

ऊपर