30 सेकेंड में 147 स्किप्स, जोरावर ने तोड़ा गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड

नई दिल्ली : एक और भारतीय शख्स जोरावर सिंह ने गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड में अपना नाम दर्ज करा लिया है। जोरावर ने रोलर स्केट्स स्किपिंग में वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है। सिंह ने महज 30 सेकंड में रोलर स्केट्स पर 147 स्किप्स के साथ गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड को तोड़ा है और नए रिकॉर्ड पर अपना नाम अंकित करा दिया है। 3 फरवरी 2020 को दिल्ली में गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड की ओर से ये प्रतियोगिता आयोजित हुआ था। रस्सी कूदना आसान है, लेकिन 30 सेकेंड में 147 बार रस्सी कूदना आसान नहीं है और वो भी जब आपने रोल स्केट्स यानी पहिए लगे हुए जूते पहन रखे हों। अगर आपका पैर फिसलता है तो आप गिर सकते हैं और आपको चोट लग सकती है, लेकिन कठिन परिश्रम की वजह से सब कुछ संभव है। यही कर दिखाया है जोरावर सिंह ने। हालांकि, जोरावर सिंह पहले डिस्कस थ्रोअर बनना चाहते थे, लेकिन एक हादसे की वजह से वह नहीं बन सके। गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड के मुताबिक, जब जोरावर 13 साल के थे, तो उन्होंने डिस्कस थ्रोअर के रूप में प्रतिस्पर्धा की। हालांकि, एक दिन एक ट्रेनिंग दुर्घटना के कारण उनको स्लिप डिस्क हो गया। डॉक्टरों ने जोरावर को कई महीनों तक आराम करने की सलाह दी, लेकिन केवल एक सप्ताह के आराम के बाद उन्होंने अपनी शारीरिक फिटनेस को बनाए रखने के लिए स्किपिंग सीखना शुरू कर दिया। इससे जोरावर को प्रतिस्पर्धी रस्सी कूद में रुचि मिली। इस रुचि के माध्यम से, जोरावर ने पहले राष्ट्रीय चैंपियनशिप और फिर दक्षिण एशियाई चैंपियनशिप पर विजय प्राप्त की। साल 2016 में वर्ल्ड जंप रोप चैंपियनशिप में प्रतिस्पर्धा करने के लिए जोरावर ने पुर्तगाल की यात्रा की। वर्ल्ड चैंपियनशिप में कई गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड्स खिताब धारकों को देखने के बाद, जोरावर ने रस्सी कूद के क्षेत्र में गिनीज वर्ल्ड रिकॉर्ड तोड़ने के लिए ट्रेनिंग शुरू की।

शेयर करें

मुख्य समाचार

हैदराबाद ने बेंगलुरु को 5 विकेट से हराया, सनराइजर्स छठवीं जीत के साथ टॉप-4 में पहुंची, बेंगलुरु दूसरे नंबर पर बरकरार

 शारजाह : आईपीएल के 52वें मैच में हैदराबाद ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरु को 5 विकेट से हरा दिया। सनराइजर्स की सीजन में यह छठवीं जीत आगे पढ़ें »

विम्बलडन चैम्पियन हालेप काेरोना संक्रमित

वाशिंगटन : विम्बलडन चैम्पियन सिमोना हालेप ने बताया कि वह कोरोना वायरस जांच में पॉजिटिव आयी है और उनमें इस बीमारी के ‘हलके लक्षण’ है। आगे पढ़ें »

ऊपर