सोशल मीडिया पर समझदारी से बात करें अफरीदी और गंभीर : वकार

नयी दिल्ली : पाकिस्तान के गेंदबाजी कोच वकार युनूस ने क्रिकेट टीम के अपने पूर्व साथी शाहिद अफरीदी और भारतीय के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर से सोशल मीडिया पर लंबे समय से चली आ रही खींचातानी को खत्म कर ‘समझदारी से बात करने’ की अपील की। गंभीर और अफरीदी के बीच सोशल मीडिया पर राजनीति से लेकर क्रिकेट करियर तक के विषयों पर लंबे समय से एक दूसरे के खिलाफ शब्दों के बाण चल रहे है। अफरीदी ने गंभीर पर कटाक्ष करते हुए लिखा था, ‘‘ वह ऐसे बर्ताव करते है जैसे उनमें डॉन ब्रैडमैन और जेम्स बॉन्ड वाले गुण हो। ’’ गंभीर ने इसके जवाब में कहा था कि वह अफरीदी को खुद ही मनोचिकित्सक के पास ले जाएंगे। वकार ने कहा, ‘‘गौतम गंभीर और शाहिद अफरीदी के बीच पिछले कुछ समय से तनातनी चल रही है। मुझे लगता है कि दोनों को होशियार, समझदार और शांत होने की जरूरत है।’’ सोशल मीडिया पर दोनों की तीखी प्रतिक्रियाओं पर नजर रखने वाले वकार ने कहा सलाह दी कि दोनों को मिल कर इस मुद्दे को सुलझाना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘ यह लंबा खिचता जा रहा। दोनों को मेरी सलाह होगी कि कही मिलकर इस बारे में बात करें और अगर ऐसा संभव नहीं है तो शांत रह सकते है।’’
अफरीदी ने पिछले महीने कश्मीर और प्रधानमंत्री के खिलाफ भारत विरोधी टिप्पणी की थी जिसके बाद पूर्व भारतीय खिलाड़ियों युवराज सिंह और हरभजन सिंह ने उनसे संबंध तोड़ लिया। वकार ने एक प्रश्न के जवाब में कहा कि भारत और पाकिस्तान को नियमित तौर पर द्विपक्षीय श्रृंखला खेलनी चाहिए। उन्होंने कहा, ‘‘ अगर आप दोनों देशों के लोगों से पूछेंगे कि क्या पाकिस्तान और भारत को एक-दूसरे का खिलाफ खेलना चाहिए। लगभग 95 प्रतिशत लोगा इससे सहमत होंगे कि इन दोनों के बीच क्रिकेट खेला जाना चाहिए।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ मुझे उम्मीद है कि भारत और पाकिस्तान द्विपक्षीय श्रृंखला में खेलेंगे। ये मुकाबलें कहा खेले जाएंगे यह नहीं पता, लेकिन मुझे उम्मीद है कि यह पाकिस्तान या भारत में होगा।’’

शेयर करें

मुख्य समाचार

देवर की शादी में आए ज्यादा जेवर, नाराज भाभी ने किया यह काम…

उत्तर प्रदेश : उत्तर प्रदेश के देवरिया से दिल दहला देने वाला मामला सामने आया है जहां एक महिला ने अपने तीन बच्चों के साथ आगे पढ़ें »

तेजी से घटेगा आपका वजन अगर रोजाना फॉलो करेंगी ये 10 तरीके

कोलकाताः यूं तो शरीर पर थोड़ी बहुत चर्बी बुरी नहीं लगती, लेकिन ये बढ़ती है तो आपको खुद बता देती है कि बस, अब लिमिट आगे पढ़ें »

ऊपर