दूसरे टेस्ट में मिली हार से आग-बबूला हुए सुनील गावस्कर, कहा- कोहली और शास्त्री की…

केएल राहुल को स्वदेश भेजना चाहिए ताकि वह घरेलू क्रिकेट में खेल सकेंः शास्त्री
पर्थः आस्ट्रेलिया की मेजबानी में भारत को दूसरे टेस्ट में मेजबान टीम के हाथो करारी शिकस्त का मिली। इस परिणाम से भारत के महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर ने कप्तान विराट कोहली और कोच रवि शास्त्री की जिम्मेदारियां तय करने की बात कही है। उन्होंने कहा है कि अगर भारत बाकी बचे दो टेस्ट मैचों में जीत दर्ज करने में नाकाम रहता है तो विराट कोहली और रवि शास्त्री की कप्तान और कोच के रूप में भूमिका की समीक्षा की जानी चाहिए। उन्होंने टीम प्रबंधन की चयन में की गई गलती की कड़ी आलोचना की। भारत ने पर्थ में दूसरा टेस्ट मैच में 146 रन से गंवाया जिससे आस्ट्रेलिया चार मैचों की सीरीज 1-1 से बराबर करने में सफल रहा।

स्मिथ-वार्नर के बिना में नहीं जीतेंगे तो कब जीतेंगे ?
भारत इस मैच में चार विशेषज्ञ तेज गेंदबाजों के साथ उतरा जबकि आस्ट्रेलिया ने स्पिनर नाथन लॉयन को चुना जो आखिर में दोनों टीमों के बीच मुख्य अंतर पैदा कर गए। सुनील गावस्कर टीम प्रबंधन की चयन को लेकर पसंद से प्रभावित नहीं थे। उन्होंने कहा ‘हम इसे देख रहे हैं। दक्षिण अफ्रीका दौरे से ही चयन को लेकर बड़ी चूक की जा रही है। टीम को इसका खामियाजा भुगतना पड़ रहा है क्योंकि वह मैच गंवा रही है। अगर सही चयन किया जाता तो टीम इन मैचों को जीत सकती थी। उन्हें आस्ट्रेलियाई टीम का संयोजन देखना चाहिए और फिर सोचना चाहिए कि कहां गलती हुई।’
पूर्व भारतीय कप्तान ने कहा ‘अगर वे ऐसा करते हैं तो निश्चित तौर पर अगले दो मैच जीत सकते हैं लेकिन अगर वह स्टीव स्मिथ और डेविड वार्नर के बिना खेल रही इस आस्ट्रेलियाई टीम के खिलाफ भी जीत दर्ज नहीं कर पाते हैं तो फिर चयनकर्ताओं को विचार करने की जरूरत है क्या हमें वर्तमान के कप्तान, कोच और सहयोगी स्टाफ से कोई फायदा मिल रहा है।’

तीन खिलाड़ी कम क्यों ?
उन्होंने आगे कहा ‘मैं यह जानना चाहता हूं कि किसने 19 खिलाड़ियों को ले जाने की अनुमति दी क्योंकि अगला सवाल यह पैदा होता कि तीन और क्यों नहीं ? मुझे लगता है कि भारतीय कैप, भारतीय ब्लेजर बेहद महत्वपूर्ण हैं। वहां 19 खिलाड़ियों को भेजकर मुझे लगता है कि चयन समिति अपनी जिम्मेदारी सही तरह से नहीं निभा रही है।’

‘मैं इस मामले में गलत साबित होना चाहता हूं’
सुनील गावस्कर के अनुसार सबसे पहले सलामी बल्लेबाज केएल राहुल को स्वदेश भेजना चाहिए ताकि वह घरेलू क्रिकेट में खेल सकें। उन्होंने कहा ‘अगर कोई खिलाड़ी चोटिल नहीं होता है तो उसके (राहुल) अगले दो मैचों में खेलने की संभावना नहीं है। वह केवल फार्म में ही नहीं है बल्कि वह किसी भी समय खेल में नहीं दिख रहा है। वह मुझे गलत साबित कर सकता है और अगर भारतीय टीम को फायदा हो रहा है तो मुझे गलत साबित होने में खुशी होगी।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

hongkong

हांगकांग ‘लोकतंत्र अधिनियम’ पारित, चीन ने दी कड़ी प्रतिक्रिया

वाशिंगटन : हांगकांग में लोकतंत्र समर्थक प्रदर्शनकारियों की मांग वाले एक विधेयक को अमेरिकी प्रतिनिधि सभा ने मंगलवार को पारित कर दिया, जिसका उद्देश्य उस आगे पढ़ें »

रतन टाटा खुद को मानते हैं ‘एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक’, कई बड़ी कंपनियों में है हिस्सेदारी

नई दिल्ली : उद्योगपति और टाटा समूह के चेयरमैन रतन टाटा ने खुद को 'एक्सीडेंटल स्टार्टअप निवेशक' माना है। उन्होंने दर्जनभर से ज्यादा स्टार्टअप कंपनियों आगे पढ़ें »

court

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट ने 40 दिन की सुनवाई के बाद फैसला सुरक्षित रखा

ayodhya

अयोध्या मामला : मुस्लिम धर्मगुरुओं ने कहा, शीर्ष न्यायालय के फैसले को स्वीकार किया जाना चाहिए

अमेरिकी प्रतिबंधों के पालन के लिए भारत अपना नुकसान नहीं करेगा: वित्त मंत्री

russia

तुर्की और सीरिया की लड़ाई में रूस बना दीवार, तैनात की अपनी आर्मी

sitaraman

अनुच्छेद 370 को हटाए जाने के बाद ‘मानवाधिकार’ विश्व स्तर पर ज्वलंत शब्द बन गया : सीतारमण

chetak

बजाज ने पेश किया इलेक्ट्रिक चेतक स्कूटर, सामने आया पहला लुक

rail

रेलवे ने शुरू की नई योजना, अब फिल्म प्रमोशन के लिए हो सकेगी ट्रेनों की बुकिंग

modi

पीएम मोदी बोले- राष्ट्र निर्माण का आधार है सावरकर के संस्कार

ऊपर