सिंधु समेत 8 बैडमिंटन खिलाड़ियों ने 4 महीने बाद हैदराबाद में प्रैक्टिस शुरू की

नयी दिल्ली : विश्व चैम्पियन पी वी सिंधु, बी साई प्रणीत और एन सिक्की रेड्डी कोरोना वायरस के कारण चार महीने तक कोर्ट से दूर रहने के बाद शुक्रवार को हैदराबाद स्थित भारतीय खेल प्राधिकरण (साइ) पुलेला गोपीचंद बैडमिंटन अकादमी में कड़ी सुरक्षा प्रोटोकॉल के तहत अभ्यास के लिए पहुंचे। तेलंगाना सरकार से एक अगस्त को मंजूरी मिलने के बाद साइ ने ओलंपिक का टिकट हासिल करने वाले संभावित आठ खिलाड़ियों के लिए राष्ट्रिय बैडमिंटन शिविर शुरू करने का फैसला किया। राष्ट्रीय मुख्य कोच पुलेला गोपीचंद ने कहा, ‘‘मैं इस लंबे ब्रेक के बाद अभ्यास के लिए अपने शीर्ष खिलाड़ियों को वापस देखकर बहुत खुश हूं। हम सुरक्षित वातावरण में प्रशिक्षण फिर से शुरू करने के लिए पूरी तरह से तैयार हैं।’’ ओलंपिक के लिए क्वालीफाई करने की दौड़ में जो आठ खिलाड़ी शामिल है उनमें लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता साइना नेहवाल, पूर्व विश्व नंबर एक किदांबी श्रीकांत, महिला युगल खिलाड़ी अश्विनी पोनप्पा और पुरुष युगल में चिराग शेट्टी एवं सत्विक साईराज की जोड़ी भी शामिल है। हैदराबाद में रहने वाली साइना ने शुक्रवार को अभ्यास में भाग नहीं लिया जबकि मार्च में अपने-अपने घरों में चले गए अन्य खिलाड़ी अभी वापस नहीं लौटे हैं। सिंधू शुक्रवार को अभ्यास शुरू करने पहुंचने वाली सबसे पहली खिलाड़ी थीं जिन्होंने गोपीचंद और विदेशी कोच पार्क तेइ-सांग की देख-रेख में अभ्यास किया।
सिंधू के पिता पी.वी रमन्ना ने कहा, ‘‘ सिंधू ने शुक्रवार सुबह 6:30 से 8:30 तक अभ्यास किया। गोपी और पार्क भी मौजूद थे। वह इस सप्ताह इसी समय में हर रोज अभ्यास करेगी। हमें सतर्क रहना है।’’ सिंधू के बाद प्रणीत और सिक्की ने 8.30 से 10.30 बजे तक अभ्यास किया। भारतीय बैडमिंटन खिलाड़ी मार्च में लॉकडाउन लगने के बाद से अपने घरों में है। कोविड-19 महामारी के कारण दुनियाभर में बैडमिंटन सहित सभी खेलों को रोकना पड़ा था। भारतीय बैडमिंटन संघ (बीएआई) ने पहले हैदराबाद में एक जुलाई से राष्ट्रीय शिविर आयोजित करने की योजना बनाई थी, लेकिन राज्य सरकार से हरी झंडी नहीं मिली। सिक्की ने कहा कि इतने लंबे ब्रेक के बाद कोर्ट में उतरना थका देने वाला था। अभ्यास सत्र का आयोजन राज्य सरकार के नियमों के अलावा स्वास्थ्य मंत्रालय के दिशानिर्देशों और साइ द्वारा तैयार किए गई मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) को ध्यान में रखते हुए आयोजित किया जा रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बेदम रही टैक्सी हड़ताल, पर संगठन ने आस नहीं छोड़ी

कोलकाता : एटक समर्थित वेस्ट बंगाल टैक्सी ऑपरेटर कोआर्डिनेशन कमेटी ने अपनी मांगों को लेकर सोमवार को टैक्सी हड़ताल का  आह्वान किया था। हालांकि हड़ताल आगे पढ़ें »

जीएसटी क्षतिपूर्ति के लिए इंतजार करना पड़ सकता है पश्चिम बंगाल को

  नई दिल्ली : 5 अक्टूबर को जीएसटी काउंसिल की बैठक है | कोरोना संकट के बीच जीएसटी मुआवजे के मुद्दे पर केंद्र सरकार की कर्ज आगे पढ़ें »

ऊपर