सानिया ने 42वां डबल्स खिताब जीता, होबार्ट इंटरनेशनल टूर्नामेंट के फाइनल में चीनी जोड़ी को हराया

होबार्ट : सानिया मिर्जा ने दो साल के विश्राम के बाद वापसी पर स्वप्निल शुरुआत करते हुए शनिवार को यहां नादिया किचनोक के साथ मिलकर डब्ल्यूटीए होबार्ट इंटरनेशनल का युगल खिताब जीता। भारत और यूक्रेन की गैर वरीयता प्राप्त जोड़ी ने शुहाई पेंग और शुहाई झांग की दूसरी वरीयता प्राप्त चीनी जोड़ी को एक घंटे 21 मिनट तक चले मैच में 6-4, 6-4 से हराया। इस 33 वर्षीय खिलाड़ी ने इस तरह से ओलंपिक वर्ष में शानदार शुरुआत की और आस्ट्रेलियाई ओपन के लिये भी पुख्ता तैयारियों का सबूत पेश किया। सानिया के करियर का यह 42वां डब्ल्यूटीए डबल्स खिताब है। उन्होंने पहला खिताब 2007 में अमेरिकी पार्टनर बैथनी माटेक-सेंड्स के साथ ब्रिस्बेन इंटरनेशनल टूर्नामेंट जीता था।
पहला सेट आसानी से जीता
सानिया बेटे के जन्म के कारण 2018 और 2019 के सत्र में डब्ल्यूटीए सर्किट में नहीं खेली थी। सानिया और नादिया ने पहले गेम में ही चीनी खिलाड़ियों की सर्विस तोड़ी लेकिन अगले गेम में उन्होंने सर्विस गंवा दी। दोनों जोड़ियों के बीच इसके बाद 4-4 तक करीबी मुकाबला देखने को मिला। सानिया और नादिया को नौवें गेम में ब्रेक प्वाइंट मिला जिसके बाद उन्होंने आसानी से पहला सेट अपने नाम किया।
टिक नहीं पाई चीनी खिलाड़ियों की जोड़ी
चीनी जोड़ी का खेल दूसरे सेट के शुरू में भी अच्छा नहीं रहा और उन्होंने तीसरे गेम में सर्विस गंवा दी। उन्होंने हालांकि ब्रेक प्वाइंट लेकर फिर से वापसी की। सानिया और नादिया छठे गेम में 0-30 से पीछे थी लेकिन पेंग और झांग ने उन्हें सर्विस बचाये रखने का मौका दिया। इससे भारत और यूक्रेन की जोड़ी ने 4-2 से बढ़त बनायी। चीनी टीम ने हालांकि संघर्ष जारी रखा और आठवें गेम में ब्रेक प्वाइंट से स्कोर 4-4 से बराबर कर दिया। सानिया और नादिया ने हालांकि नौवें गेम में चीनी जोड़ी की सर्विस तोड़ दी और अगले गेम में अपनी सर्विस बचाकर मैच अपने नाम कर दिया। इस जीत से सानिया और नादिया को 13580 डालर की इनामी राशि मिली। दोनों को अलग अलग 280 रैकिंग अंक भी मिले।

शेयर करें

मुख्य समाचार

आरएसएस प्रमुख की समझदारी पर सोनम ने उठाए सवाल, हुईं ट्रोल

नई दिल्ली : आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत द्वारा तलाक को लेकर दिए गए बयान को फिल्म अभिनेत्री सोनम कपूर ने मूखर्तापूर्ण बताया है। सोनम ने आगे पढ़ें »

modis

मोदी और शाह को ‘आतंकवादी’ कहने पर मुस्लिम नेता के खिलाफ मामला दर्ज

सम्भल (उत्तर प्रदेश) : उत्तर प्रदेश में सम्भल जिले के नखासा क्षेत्र में संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) और राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) के विरोध में आगे पढ़ें »

ऊपर