विश्व कप में परिस्थितियां नहीं, दबाव को संभाल पाना सबसे महत्वपूर्णः कोहली

मुंबईः भारतीय क्रिकेट टीम विश्व कप के लिए बुधवार यानी 22 मई को इंग्लैंड रवाना होगी। उससे पहले भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली और मुख्य कोच रवि शास्त्री ने मंगलवार को मीडिया से बातचीत की। मीडिया से बातचीत के दौरान कोहली ने कहा ‌कि विश्व कप में परिस्थितियाें को नहीं, दबाव को संभाल पाना सबसे महत्वपूर्ण है। वहीं कोच रवि शास्‍त्री ने विश्व कप में धोनी की भूमिका को सबसे अहम बताया। बता दें कि इंग्लैंड और वेल्स में 30 मई से 14 जुलाई तक विश्व कप खेला जाना है। भारतीय टीम 25 मई को न्यूजीलैंड और 28 मई को बांग्लादेश के खिलाफ अभ्यास मैच खेलेगी। टूर्नामेंट में टीम इंडिया का पहला मैच 5 जून को दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ होगा।

पूरी तैयारी में खिलाड़ी

विराट ने कहा कि हमारे सारे खिलाड़ी पूरी तरह फिट और तैयार हैं। हमारी टीम बहुत बेहतर स्थिति में है। आईपीएल में खिलाड़ियों का प्रदर्शन बहुत अच्छा रहा और विश्व कप में भी बेहतर प्रदर्शन जारी रखेंगे। इंग्लैंड में सफेद गेंद से क्रिकेट खेलना और वहां टेस्ट खेलना दोनों स्थितियों में कोई खास अंतर नहीं है। इंग्लैंड में पिच भले ही सपाट हो सकती है। लेकिन टीम के सभी खिलाड़ी हर स्थिति से निपटने में सक्षम है। उन्होंने कहा कि टीम के गेंदबाजों ने विश्व कप को ध्यान में रखकर ही आईपीएल में अपना दम दिखाया था। चाहे टेस्ट हो या फिर वनडे हमारे गेंदबाजों ने बल्लेबाजों को चुनौती दी है। खासकर कुलदीप और चहल बॉलिंग लाइनअप के दो मजबूत स्तंभ हैं। केदार जाधव भी अब पूरी तरह फिट हैं।

दबाव झेलना और गुणवत्ता बरकरार रखना जरूरी

विराट ने कहा कि हम विश्व कप में परिस्थियों पर नहीं बल्कि दबाव को संभालने पर ज्यादा ध्यान दे रहे हैं जोकि इतने बड़े टूर्नामेंट के लिए बेहद आवश्यक है। क्योंकि अभी इंग्लैंड में गर्मियां हैं हम खेल में सर्वाधिक स्कोर की उम्मीद कर रहे हैं। हालांकि टीम हर तरह के हालात के लिए विचार कर रही है। उन्होंने कहा कि दूसरी टीमों के बारेे में न सोचते हुए विश्व कप में टीम की क्षमता के हिसाब से खेलना है और अपनी गुणवत्ता को हर सूरत में बरकरार रखना है।

धोनी में खेल पलटने की क्षमता

रवि शास्‍त्री ने महेंद्र सिंह धोनी को खेल के लिए बेहद महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने कहा कि धोनी कभी भी बाजी पलट सकते हैं। साथ ही उनकी रनिंग, विकेटकीपिंग और दबाव को झेलने की काबिलियत उन्हें अलग बनाती है। इस प्रारूप में उनसे बेहतर और कोई नहीं। वहीं दूसरी ओर, धवन ने आईपीएल में बेहतर प्रदर्शन किया है। उनका फुटवर्क काम कर रहा है। हम किसी भी टीम को हल्के में नहीं ले सकते। पहले ही गेंद से अटैकिंग क्रिकेट खेलनी होगी।

हर टीम मजबूत, कड़ा होगा मुकाबला

कोच रवि शास्‍त्री ने कहा कि भारतीय टीम ने पिछले पांच वर्षों में बहुत बेहतर प्रदर्शन किया है। विश्व कप एक ऐसा मंच है जहां हमें इसका लुत्फ उठाते हुए बेहतर प्र्रदर्शन करना है। उन्होंने कहा कि यदि हमें विश्व कप वापस लाना है तो अपनी पूरी क्षमता के साथ खेलना होगा। अपने किसी भी प्रतिद्वन्‍द्वी को कमजोर नहीं समझना चाहिए। यहां तक कि बांग्लादेश और अफगानिस्तान भी 2015 के मुकाबले ज्यादा मजबूत हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बेकाबू होता जा रहा है डेंगू, और 2 की मौत

अब तक 19 मरे, साढ़े 11 हजार लोग पीड़ित सन्मार्ग संवादाता कोलकाता : डेंगू का कहर दिन ब दिन बेकाबू होता जा रहा है। रविवार को डेंगू आगे पढ़ें »

mamata banerjee

आज केन्द्र सरकार के प्रतिष्ठानों के कर्मियों को सम्बोधित करेंगी ममता

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : मुख्यमंत्री ममता बनर्जी आज सोमवार को नेताजी इंडोर स्टेडियम में केंद्र सरकार के प्रतिष्ठानों के कर्मचारियों के प्रतिनिधियों को सम्बोधित करेंगी। इन आगे पढ़ें »

ऊपर