विनेश फोगाट का वर्ल्ड चैंपियन बनने का सपना टूटा, विश्व चैंपियन मुकैदा से हारी

नूर सुल्तान (कजाखस्तान) : भारत की शीर्ष पहलवान विनेश फोगाट मंगलवार को यहां जापान की मौजूदा चैंपियन मायु मुकैदा से हारकर विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में खिताब की दौड़ से बाहर हो गयी लेकिन वह अब रेपेचेज के जरिये कांस्य पदक के लिये अपना भाग्य आजमाएंगी। मुकैदा ने 53 किग्रा के फाइनल में जगह बनायी है जिससे विनेश की पदक और टोक्यो ओलंपिक के लिये क्वालीफाई करने की उम्मीदें बनी हुई हैं। केवल दो जीत से वह तोक्यो ओलंपिक में अपनी जगह पक्की कर देगी।
जापानी पहलवान का दबदबा
पहले 60-70 सेकेंड में कोई अंक नहीं बना क्योंकि तब दोनों खिलाड़ी एक दूसरे को परख रही थी। इसके बाद जापानी पहलवान ने दबदबा बनाया और विनेश ने लगातार अंक गंवाये। विनेश को आक्रामक होने की जरूरत थी लेकिन मुकैदा का रक्षण शानदार था। भारतीय ने दो बार मुकैदा के पांवों को कब्जे में लाने की कोशिश की लेकिन वह अंक नहीं बना पायी। मैटसन के खिलाफ विनेश ने हालांकि स्वीडिश खिलाड़ी से दूर रहकर आक्रमण करने की रणनीति अपनायी। विनेश ने अपनी प्रतिद्वंद्वी को हावी नहीं होने दिया जबकि इस बीच अच्छे आक्रमण से उन्होंने पहले 4-0 और फिर 8-0 से बढ़त बनायी।
कांस्‍य के लिए फोगाट को कड़ी टक्‍कर
उन्हें विश्व चैंपियनशिप में पहला पदक जीतने के लिये रेपेचेज में उक्रेन की यूलिया खावलदजी ब्लाहनिया, विश्व की नंबर एक सराह एन हिल्डरब्रैंड ओर यूनान की मारिया प्रेवोलाराकी को हराना होगा। विनेश की यह इस सत्र में जापानी पहलवान के हाथों लगातार दूसरी पराजय है। इससे पहले वह चीन में एशियाई चैंपियनशिप में भी दो बार की विश्व चैंपियन से हार गयी थी। विनेश ने राष्ट्रमंडल और एशियाई खेलों में खिताब जीते हैं लेकिन विश्व चैंपियनशिप में अभी तक पदक जीतने में नाकाम रही हैं। मुकाबले के बाद फोगाट ने कहा, ‘‘जापान कुश्ती में सबसे शक्तिशाली देश है। इन लड़कियों के खिलाफ आक्रमण करने में थोड़ा समय लगता है। एक तकनीक, एक मूव या एक अंक पूरे मुकाबले का परिणाम बदल सकता है। मैंने ऐसी कोशिश की लेकिन ऐसा नहीं हुआ और उसे सफलता मिली। ’’
ओलंपिक विजेता से हारी सीमा बिस्ला
एक अन्य ओलंपिक वर्ग (50 किग्रा) में सीमा बिस्ला प्री क्वार्टर फाइनल में तीन बार की ओलंपिक पदक विजेता अजरबेजान की मारिया स्टैडनिक से 2-9 से हार गयी। विनेश की तरह वह भी कांस्य पदक और ओलंपिक क्वालीफिकेशन की दौड़ में बनी हुई है क्योंकि स्टैडनिक फाइनल में पहुंची गयी हैं। सीमा ने कहा, ‘‘मारिया मुझसे ज्यादा शक्तिशाली नहीं है बल्कि वह मुझसे अधिक अनुभवी है। मैंने 50 किग्रा में केवल पांच – छह मुकाबले खेले हैं। मैं सीख रही हूं और आगे बेहतर करूंगी।’’ गैर ओलंपिक वर्ग में कोमल गोले ने तुर्की की बेस्टी अलतुग के खिलाफ बेहद रक्षात्मक रवैया अपनाया और 72 किग्रा क्वालीफिकेशन में।4 से हार गयी जबकि ललिता को 55 किग्रा में मंगोलिया की बोलोरतुया बात ओचिर ने आसानी से 3-10 से शिकस्त दी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

प्रो कबड्डी का नया चैंपियन बना बंगाल, फाइनल में दिल्ली का हराया

अहमदाबाद : बंगाल वारियर्स ने एका एरेना के ट्रांसस्टेडिया में खेले गए रोमांचक फाइनल में दबंग दिल्ली को शनिवार को 39-34 से हराकर प्रो कबड्डी आगे पढ़ें »

जोहोर कप में फिर सुलतान नहीं बन सका भारत एक बार फिर  ब्रिटेन से हारा

जोहोर बाहरु : भारतीय जूनियर पुरुष हॉकी टीम को गत चैंपियन ब्रिटेन के हाथों शनिवार को 1-2 से हारकर नौंवें सुल्तान जोहोर कप हॉकी टूर्नामेंट आगे पढ़ें »

ICJ

भारत ने कहा-सुरक्षा परिषद को आईसीजे से ज्यादा से ज्यादा मदद लेनी चाहिए

Rohingya muslim

बांग्लादेश ने जर्मनी से रोहिंज्ञा मुस्लिमों को वापस भेजने के लिए म्यांमार पर दबाव डालने को कहा

Manmohan Singh

कुरैशी ने कहा-पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह आएंगे करतारपुर लेकिन साधारण आदमी की तरह

President Ram Nath Kovind

फिलीपीन-भारत के मिल कर काम करने से समस्याएं एवं परियोजनाएं दायरे में आई : कोविंद

Amitabh Bachchan

अमिताभ बच्चन ने कहा- बीमारियां और चिकित्सकीय दशाएं गोपनीय व्यक्तिगत अधिकार

Kohli will not play in T20 against Bangladesh, Rohit can become captain

बांग्लादेश के खिलाफ टी-20 में नहीं खेलेंगे कोहली, रोहित बन सकते हैं कप्तान

ट्रायल्स में जरीन से लड़ने से नहीं डरती : मेरीकाम

Asaduddin Owaisi

जब झूम उठे ओवैसी तो वीडियो हो गया वायरल, चुनावी रैली में थे नेता असदुद्दीन

ऊपर