रोहित की दबाव झेलने की क्षमता ने उसे सबसे सफल आईपीएल कप्तान बनाया : लक्ष्मण

नयी दिल्ली: अपने जमाने के दिग्गज बल्लेबाज वीवीएस लक्ष्मण ने कहा कि रोहित शर्मा का इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में कप्तान के तौर सफलता का सबसे बड़ा कारण दबाव की परिस्थितियों में भी शांत चित बने रहना है। मुंबई इंडियन्स के 33 वर्षीय कप्तान रोहित ने अब तक आईपीएल में चार खिताब जीते है जो चेन्नई सुपरकिंग्स के कप्तान महेंद्र सिंह धोनी से एक खिताब अधिक है। इससे वह आईपीएल इतिहास के सबसे सफल कप्तान बन गये हैं। लक्ष्मण ने याद किया कि डेक्कन चार्जर्स की तरफ से पहले आईपीएल में खेलते हुए रोहित एक बल्लेबाज और नेतृत्वकर्ता के रूप में कैसे बेहतर बना।
बल्लेबाजों की सूची में तीसरे स्थान पर
उन्होंने स्टार स्पोर्ट्स के कार्यक्रम ‘क्रिकेट कनेक्टेड’ में कहा, ‘वह डेक्कन चार्जर्स की टीम में रहते हुए ही नेतृत्वकर्ता बन गया था। जब वह पहले साल आया तो काफी युवा था और तब वह टी20 विश्व कप में ही खेला था और उसे भारत की तरफ से पदार्पण किये हुए ज्यादा समय नहीं हुआ था।’ लक्ष्मण ने कहा, ‘हमारी टीम आईपीएल के पहले सत्र में अच्छा प्रदर्शन नहीं कर पायी थी लेकिन रोहित ने बेहतरीन खेल दिखाया था। उसने जिस तरह से मध्यक्रम में दबाव में बल्लेबाजी की वह शानदार था। ’ रोहित आईपीएल इतिहास में सर्वाधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में तीसरे स्थान पर हैं। उन्होंने अब तक 188 मैचों में 31.60 की औसत से 4898 रन बनाये हैं जिसमें उनका उच्चतम स्कोर नाबाद 109 रन है। लक्ष्मण ने कहा, ‘प्रत्येक मैच और हर एक सफलता के बाद उसका आत्मविश्वास बढ़ता गया। वह कोर ग्रुप में शामिल हो गया। वह युवाओं की मदद करता और अपने विचार रखता। यह उसकी नेतृत्वक्षमता के शुरुआती लक्षण थे। ’’ उन्होंने कहा, ‘लेकिन सबसे महत्वपूर्ण दबाव की परिस्थितियों से पार पाना था क्योंकि इस तरह की मुश्किल परिस्थितियों में बल्लेबाजी करके उसने साबित किया था और वह निरंतर बेहतर बनता रहा। यही वजह है कि वह आईपीएल इतिहास के सबसे सफल कप्तानों में से एक है। ’

शेयर करें

मुख्य समाचार

बंगाल में तीसरे दिन भी कोरोना के 800 से ज्यादा मामले, 25 की हुई मौत

कोलकाता : वेस्ट बंगाल कोविड-19 हेल्थ बुलेटिन के अनुसार पश्चिम बंगाल में पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस संक्रमण के 850 नये मामले आये है आगे पढ़ें »

कोरोना की वजह से 9वीं-12वीं के पाठ्यक्रम 30 फीसदी घटे

नयी दिल्ली : कोविड-19 के बढ़ते मामलों के बीच स्कूलों के ना खुल पाने के कारण शिक्षा व्यवस्था पर असर और कक्षाओं के समय में आगे पढ़ें »

ऊपर