मौका मिले तो आठवां ओलंपिक खेलना चाहूंगा : पेस

मेलबोर्न : भारत के लीजेंड टेनिस खिलाड़ी लिएंडर पेस के दिल में आठवां ओलंपिक खेलने की लालसा बरकरार है और यदि उन्हें मौका मिलता है तो वह 2020 के टोक्यो ओलंपिक में खेलने उतर सकते हैं। पेस ने ऑस्ट्रेलियन ओपन 2020 के मीडिया लॉन्च के अवसर पर मंगलवार को यह बात कही। टेनिस ऑस्ट्रेलिया ने इस अवसर पर सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स के साथ तीन वर्ष का प्रसारण करार बढ़ाने की घोषणा की। 46 वर्षीय लिएंडर पेस ने अपना पहला ओलंपिक 1992 में बार्सिलोना में 24 वर्ष की उम्र में खेला था। उनका आखिरी ओलंपिक 2016 में रियो ओलंपिक था। वह लगातार सात ओलंपिक खेलकर भारतीय रिकार्ड बना चुके हैं। यदि उन्हें टोक्यो के लिए मौका मिलता है तो वह दुनिया के 11वें ऐसे खिलाड़ी बन जाएंगे जिन्होंने आठ ओलंपिक खेले हैं। दुनिया में सर्वाधिक 10 ओलंपिक खेलने का रिकार्ड कनाडा के इयान मिलर के नाम है। दो खिलाड़ी ऐसे हैं जो नौ बार ओलंपिक खेल चुके हैं। वर्ष 1996 के अटलांटा ओलंपिक में कांस्य पदक जीतने वाले पेस ने टोक्यो की उम्मीदों पर कहा, ‘‘ मुझे ओलंपिक से जबर्दस्त लगाव है। मैंने हमेशा तिरंगे के लिए और अपने लोगों के लिए खेलने का सपना देखा है। मुझे जब भी देश के लिए खेलने को कहा जाएगा मैं हमेशा उसके लिए तैयार रहूंगा।’’ पेस ने साथ ही कहा, ‘‘ मैं देश के लिए सबसे ज्यादा ओलंपिक खेलने का रिकार्ड बना चुका हूं और आठवां ओलंपिक एक अद्भूत रिकार्ड होगा।’’ भारत के दिग्गज खिलाड़ी पेस इस समय विश्व युगल रैंकिंग में 91वें स्थान पर हैं और इस रैंकिंग के लिहाज से उनके लिए टोक्यो का टिकट मिलना बहुत मुश्किल है। विश्व रैंकिंग में उनसे ऊपर के भारतीय खिलाड़यिं में रोहन बोपन्ना 41वें और दिविज शरण 43वें स्थान पर हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

वेस्टइंडीज जीत के करीब, इंग्लैंड ने दूसरी पारी में 313 रन बनाए

साउथैम्पटन : इंग्लैंड के खिलाफ टेस्ट में वेस्टइंडीज जीत की ओर है। मैच के पांचवें दिन टी ब्रेक तक मेहमान टीम ने 4 विकेट के आगे पढ़ें »

पगबाधा का फैसला सिर्फ और सिर्फ डीआरएस से हो : तेंदुलकर

नयी दिल्ली : महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अंपायरों के फैसलों की समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को ‘अंपायर्स कॉल’ को हटाने आगे पढ़ें »

ऊपर