मुक्केबाजी चैम्पियनशिप : पंघाल, मनीष कौशिक विश्व चैम्पियनशिप के क्वार्टर फाइनल में

एकातेरिनबर्ग : एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेता अमित पंघाल (52 किलो), राष्ट्रमंडल खेलों के रजत पदक विजेता मनीष कौशिक (63 किलो) और संजीत (91 किलो) ने मंगलवार को पुरूषों की विश्व मुक्केबाजी चैम्पियनशिप के क्वार्टर फाइनल में प्रवेश कर लिया। पंघाल ने पहले विश्व चैम्पियनशिप पदक की ओर कदम बढाते हुए तुर्की के बातूहान सीफ्की को हराया। वहीं कौशिक ने चौथी वरीयता प्राप्त मंगोलिया के चिंजोरिग बातारसुख को मात दी। संजीत ने दूसरी वरीयता प्राप्त उजबेकिस्तान के संजार तुर्सुनोव को 3-2 से हराकर बड़ा उलटफेर किया। तुर्सुनोव ने पिछली विश्व चैम्पियनशिप में कांस्य और एशियाई चैम्पियनशिप में रजत पदक जीता था। पंघाल विश्व चैम्पियनशिप में दूसरी बार खेल रहे हैं जबकि कौशिक और संजीत की यह पहली विश्व चैम्पियनशिप है। तीनों भारतीय सेना के मुक्केबाज हैं। दूसरी वरीयता प्राप्त पंघाल ने 5-0 से जीत दर्ज की। अब उनका सामना फिलीपींस के कार्लो पालाम से होगा जो पिछले साल एशियाई खेलों के फाइनल में पंघाल से हार गए थे। पालाम ने कोरिया के जो सेहियोंग को हराया। बुल्गारिया में स्ट्रांजा मेमोरियल टूर्नामेंट में दो बार स्वर्ण पदक जीत चुके पंघाल 2017 विश्व चैम्पियनशिप के क्वार्टर फाइनल में हार गए थे। पूर्व राष्ट्रीय चैम्पियन कौशिक का सामना अब ब्राजील के वांडेरसन डि ओलिवियरा से होगा। ओलिवियरा ने जापान के साइसुके नारिमत्सु को मात दी। पंघाल ने जीत के बाद कहा,‘‘ यह अच्छा मुकाबला था लेकिन मेरा सामना अनुभवी मुक्केबाज से था।

शेयर करें

मुख्य समाचार

‘अम्फान’ से सबक लेकर आधारभूत संरचना को बेहतर करें, आपदा से निपटने पर ध्यान दें : एनडीआरएफ प्रमुख

कोलकाता : एनडीआरएफ के प्रमुख एस एन प्रधान ने कहा है कि पश्चिम बंगाल और ओडिशा के कुछ हिस्सों में तबाही मचाने वाले चक्रवात ‘अम्फान’ आगे पढ़ें »

रियल एस्टेट सेक्टर को बड़े पैकेज की जरूरत, पीएम को पत्र लिखकर रखी मांगें

नई दिल्ली : कोरोना महामारी से चरमराई अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने के लिए भारत सरकार और आरबीआई ने औद्योगिक सेक्टर्स के लिए कई अहम् आगे पढ़ें »

ऊपर