कोच पद के लिए मनोज ने किया आवेदन, कपिल लेंगे इंटरव्यू !

नई दिल्ली: भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व तेज गेंदबाज मनोज प्रभाकर ने महिला टीम के राष्ट्रीय कोच के पद के लिए आवेदन किया है। अगर उनका चयन होता है तो भारतीय टीम के उनके पूर्व सहयोगी कपिल देव की अध्यक्षता वाला पैनल उनका इंटरव्‍यू ले सकती है। गौरतलब है कि टीम में एक साथ खेलने से लेकर 2000 में उठे मैच फिक्सिंग विवाद तक कपिल देव और मनोज प्रभाकर की कड़वाहट किसी से छिपी नहीं है।

गिब्स ने भी आवेदन किया है
भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) ने महिला टीम के कोच के लिए विज्ञापन दिया था जिसके लिये प्रभाकर के अलावा दक्षिण अफ्रीका के हर्शेल गिब्स ने भी आवेदन किया है। प्रभाकर ने अपनी उम्मीदवारी की पुष्टि करते हुए कहा ‘हां, मैंने मुख्य कोच के पद के लिए आवेदन किया है। राष्ट्रीय क्रिकेट टीम की किसी भी हैसियत से जुड़ना गर्व की बात है।’

महिला टीम बहुत प्रतिभाशाली है
क्रिकेट पर प्रभाकर के ज्ञान पर किसी को कोई संदेह नहीं है लेकिन यह देखना दिलचस्प होगा कि कोच चयन समिति साक्षात्कार के लिए उनका चयन करती है या नहीं। चयन समिति पैनल के अध्यक्ष पूर्व भारतीय कप्तान कपिल देव है जबकि अंशुमन गायकवाड़ और शांता रंगास्वामी इसके अन्य सदस्य हैं। प्रभाकर को जब बताया गया कि चयन समिति पैनल के अध्यक्ष कपिल देव हो सकते है तो उन्होंने बेरुखी से इसका जवाब दिया ‘आपने मुझसे पूछा कि मैंने आवेदन किया है या नहीं? मैंने कहा कि हां, किया है। मैंने आवेदन क्यों किया? क्योंकि मुझे लगता है क्रिकेट के अपने ज्ञान से मैं योगदान दे सकता हूं।’ उन्होंने कहा ‘महिला क्रिकेट में काफी प्रतिभा है और मुझे लगता है कि मिताली राज, हरमनप्रीत कौर और स्मृति मंधाना जैसी खिलाड़ियों को मदद करने का मेरे पास अनुभव है।’

14 दिसंबर तक कर सकते हैं आवेदन
प्रभाकर से यह भी पूछा गया कि क्या 2000 की विवाद के बाद वह कभी कपिल से मिले है। उन्होंने कहा ‘इस मसले से इसका कोई सरोकार नहीं है।’ कोच पद के लिए आवेदन करने की अंतिम तारीख 14 दिसंबर है लेकिन प्रभाकर और गिब्स दोनों का नाम मैच फिक्सिंग मामले में जुड़ा रहा है जिससे उनके आवेदन पर गंभीर सवाल उठ रहे हैं। बीसीसीआई के अधिकारी ने कहा ‘अगर समिति उनकी उम्मीदवारी को उपयुक्त पाती है तो साक्षात्कार के लिये उनका चयन होगा।’ उन्होंने कहा ‘जहां तक विवादों का सवाल है तो विवाद के बाद भी गिब्स आईपीएल में 2008 के बाद डेक्कन चार्जर्स के लिए खेले थे जबकि प्रभाकर रणजी ट्रॉफी में दिल्ली, उत्तर प्रदेश और राजस्थान टीम के कोच रह चुके हैं। इसलिए यह बड़ा मुद्दा नहीं है।’

एसे अन्य लेख

Leave a Comment

अन्य समाचार

साल 2018 में प्रधानमंत्री ने एक करोड़ नौकरियां खत्म कर दीः राहुल

इंफाल : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को इंफाल में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर 2018 में एक करोड़ नौकरियां खत्म करने का आरोप लगाया है। इंफाल में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुये गांधी ने कहा कि मोदी [Read more...]

गोवा के मुख्यमंत्री सावंत को विधानसभा में बहुमत, 20 विधायकों ने की वोटिंग

पणजीः गोवा के नए मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत (45) ने बुधवार को विधानसभा में अपना बहुमत साबित कर दिया। यहां भाजपा के समर्थन में 20 विधायकों और कांग्रेस के समर्थन में 15 विधायकों ने वोटिंग की। सोमवार देर रात 1.50 बजे [Read more...]

मुख्य समाचार

मैदान पर हुई एक क्रिकेटर की मौत

कोलकाताः एक बार फिर क्रिकेट के मैदान पर बड़ा हादसा हुआ जिसमें एक खिलाड़ी की मौत हो गई। ये घटना कोलकाता में घटी जहां बालीगंज स्पोर्टिंग क्लब की तरफ से बल्लेबाजी करते हुए सेकेंड डीविजन क्रिकेटर सोनू यादव की मौत [Read more...]

साल 2018 में प्रधानमंत्री ने एक करोड़ नौकरियां खत्म कर दीः राहुल

इंफाल : कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को इंफाल में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पर 2018 में एक करोड़ नौकरियां खत्म करने का आरोप लगाया है। इंफाल में एक चुनावी जनसभा को संबोधित करते हुये गांधी ने कहा कि मोदी [Read more...]

ऊपर