महिला आईपीएल टी-20 शुरू कराने की ओर है बीसीसीआई

प्लेऑफ से पहले महिला क्रिकेट प्रदर्शनी मैच का आयोजन किया जाएगा

नई दिल्ली : भारत में अब महिला क्रिकेट की लोकप्रियता बढ़ रही है। इस बीच महिलाओं का आईपीएल टूर्नामेंट की भी मांग उठने लगी है। बीसीसीआई महिलाओं का टी-20 टूर्नामेंट कराने पर गंभीरता से विचार कर रहा है। खबरों के अनुसार बीसीसीआई ने पुरुषों की आईपीएल सीजन 11 के प्लेऑफ मुकाबलों से ठीक पहले महिलाओं का एक प्रदर्शनी मुकाबला कराने का फैसला किया है। यह पूरी तरह आईपीएल की ही तर्ज पर खेला जाएगा। 22 मई को प्लेऑफ मुकाबले शुरू होने से पहले ही मुंबई में होगा। इस मुकाबले का प्रसारण भी स्टार स्पोर्ट्स पर किया जाएगा। मैच दोपहर 2:30 से मुंबई के वानखेडे मैदान पर होगा।
जब से महिला टीम इंडिया ने महिला विश्वकप में शानदार प्रदर्शन कर टूर्नामेंट के फाइनल में जगह बनाई है, तभी से बीसीसीआई और प्रशासकों की समिति भारत में महिला क्रिकेट को बढ़ावा देने के लिए प्रयास कर रहे हैं। इस मुकाबले से बोर्ड महिला क्रिकेट को लेकर दर्शकों के विचारों को परखेगा। अभी केवल क्रिकेट आस्ट्रेलिया ही महिलाओं की क्रिकेट लीग ‘बिगबैश’ आयोजित करता है। वहीं इंग्लैंड में भी महिला टी-20 लीग लोकप्रिय है।
आईपीएल के नियमों के साथ खेला जाएगा यह मैच
सीओए अधिकारी और पूर्व भारतीय महिला क्रिकेटर डायना एडुल्जी ने बताया- दोनों टीमों की प्लेइंग इलेवन में 4-4 विदेशी खिलाड़ी भी मौजूद शामिल होंगी। हर टीम में 10-10 भारतीय और 5-5 विदेशी खिलाड़ी रहेंगी। इस बारे में सीओए प्रमुख विनोद राय ने कहा कि यह मैच अगले कुछ सालों में महिला आईपीएल आयोजित करने की दिशा में एक उठाया गया एक महत्वपूर्ण कदम होगा।
बीसीसीआई इस बारे में आस्ट्रेलिया और इंग्लैंड जैसे विदेशी क्रिकेट संघों के संपर्क में है। उल्लेखनीय है कि महिला भारतीय टीम देश-विदेश में बेहतर कर रही है और उसकी लोकप्रियता बहुत तेजी से बढ़ी थी।
इससे पहले बेंच स्ट्रेंथ मजबूत करने की जरूरतः मिताली
भारत में हालांकि हालात अभी उतने अच्छे नहीं हैं। अभी कुछ ही समय पहले भारत-आस्ट्रेलिया के बीच हुई वनडे मैचों की सीरीज के दौरान कप्तान मिताली राज ने माना कि अभी भारत में महिला क्रिकेट के मामले में आईपीएल जैसे टूर्नामेंट से पहले कई जरूरी काम करने हैं जिनमें जरूरी इंफ्रास्ट्रक्चर के साथ-साथ खिलाड़ियों की संख्या भी एक चिंता का विषय हैं। गौरतलब है कि इस सीरीज में भारत की महिला टीम की बेंच स्ट्रेंथ की कमजोरी खुल कर सामने आई थी। मिताली का मानना है कि काफी कम लड़कियों का अभी महिला क्रिकेट में रुझान है, लेकिन जिस तरह से साल भर पहले ही महिला क्रिकेट की लोकप्रियता बढ़ी है उम्मीद है कि आने वाले कुछ सालों में महिला क्रिकेटरों की संख्या काफी इजाफा होना तय है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

Ramjan Ali

बीएचयू में जारी विरोध के बीच बेलूर में संस्कृत पढ़ाएंगे मुस्लिम प्रोफेसर

कोलकाता : कोलकाता के बाहरी क्षेत्र में स्थित एक कॉलेज के संस्कृत विभाग में एक मुस्लिम व्यक्ति को सहायक प्राध्यापक के तौर पर नियुक्त किया आगे पढ़ें »

locket

पश्चिम बंगाल में पैरा शिक्षकों की हड़ताल मुद्दे पर लोकसभा में भाजपा, तृणमूल सदस्यों में तकरार

कोलकाता : पश्चिम बंगाल में पैरा शिक्षकों की हड़ताल के मुद्दे पर लोकसभा में शुक्रवार को भाजपा और तृणमूल कांग्रेस के सदस्यों के बीच नोकझोंक आगे पढ़ें »

ऊपर