मनु, इलावेनिल, दिव्यांश को निशानेबाजी विश्व कप में स्वर्ण

पुतियान (चीन) : भारत की ‘युवा ब्रिगेड’ मनु भाकर, दिव्यांश पंवार और इलावेनिल वलारिवान ने आईएसएसएफ वर्ल्ड कप फाइनल्स में अपने-अपने वर्ग में गोल्ड मेडल जीतकर देश के लिए इस दिन को यादगार बना दिया। मनु ने जूनियर वर्ल्ड रेकॉर्ड के साथ महिला 10 मीटर एयर पिस्टल इवेंट का गोल्ड मेडल अपने नाम किया जबकि इलावेनिल ने महिला 10 मीटर एयर राइफल में सोने का तमगा हासिल किया। दिव्यांश ने पुरुषों के 10 मीटर एयर राइफल इवेंट में पहला स्थान हासिल किया।
मनु ने जूनियर वर्ल्ड रेकॉर्ड बनाया
17 साल की मनु ने 244.7 का स्कोर किया और जूनियर वर्ल्ड रेकॉर्ड कायम किया। यह आईएसएसएफ का इस सीजन का अंतिम टूर्नामेंट है। मनु के इवेंट के फाइनल में ही यशस्विनी सिंह देसवाल ने छठे नंबर पर रहीं। सर्बिया की जोराना अरुनोविच ने 241.9 के स्कोर के साथ सिल्वर और चीन की क्वियान वांग ने 221.8 के स्कोर के साथ कांस्‍य पदक जीता।
इलावेनिल ने 250.8 का स्कोर बनाया
इलावेनिल ने 250.8 के स्कोर के साथ ताइवान की लिन यिंग शिन को पछाड़ते हुए गोल्ड मेडल जीता। सिल्वर मेडल हासिल करने वालीं लिन ने 250.7 का स्कोर किया जबकि रोमानिया की लोरा-जॉर्जेटा कोमान ने 229 के स्कोर के साथ ब्रॉन्ज हासिल किया।
मेहुली छठे नंबर पर रही
मेहुली घोष ने भी इसी इवेंट के लिए क्वॉलिफाइ किया था, लेकिन वह 163.8 के स्कोर के साथ छठे नंबर पर रहीं। वहीं, दिव्यांश ने पुरुषों के 10 मीटर एयर राइफल इवेंट में 627.1 के स्कोर के साथ पहला स्थान हासिल किया। हंगरी के इस्तवान पेनी को रजत और स्लोवाकिया के पैट्रिक जेनी को ब्रॉन्ज मेडल मिला।
अभिषेक-समीर मेडल जीतने से चूके
पुरुषों के 10 मीटर एयर पिस्टल में अभिषेक वर्मा और सौरभ चौधरी ने फाइनल में जगह बना ली लेकिन पदक नहीं जीत सके। पुरुषों के 10 मीटर एयर पिस्टल इवेंट में अभिषेक वर्मा और सौरभ चौधरी ने फाइनल के लिए क्वॉलिफाइ किया था लेकिन मेडल जीतने में कामयाब नहीं हो सके। वर्मा क्वॉलिफिकेशन में 588 के स्कोर के साथ टॉप पर थे लेकिन फाइनल में 179.4 के स्कोर के साथ पांचवें नंबर पर रहे। चौधरी क्वॉलिफिकेशन में सातवें स्थान पर रहे थे।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पायलट खेमे की घर वापसी

नई दिल्ली/जयपुर : राजस्थान विधानसभा के प्रस्तावित सत्र से चार दिन पहले पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने सोमवार को कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी आगे पढ़ें »

Pranab Mukharji Former President of India

पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी की ब्रेन सर्जरी, लाइफ सपोर्ट सिस्टम पर

नयी दिल्ली : पूर्व राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी की रक्त का थक्का हटाने के लिए मस्तिष्क की सफल सर्जरी की गयी। उनकी सर्जरी आर्मी रिसर्च एंड आगे पढ़ें »

ऊपर