भारत-न्यूजीलैंड टेस्‍ट मैच : टीम इंडिया के सामने न्यूजीलैंड की कठिन चुनौती

वेलिंगटन : देश विदेश में विजय पताका फहराने वाली भारतीय क्रिकेट टीम शुक्रवार से बेसिन रिजर्व की तेज पिच पर पहले टेस्ट में न्यूजीलैंड का सामना करेगी तो उसके सामने विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप में यह अब तक की सबसे कठिन चुनौती होगी। शीर्ष रैंकिंग वाली विराट कोहली की टीम के 360 अंक है और कागजों पर उसका पलड़ा भारी दिख रहा है लेकिन केन विलियमसन की कीवी टीम संयम की पूंजी है जो इन पिचों पर उपयोगी साबित होगी। भारतीय टीम ने सितंबर 2016 में न्यूजीलैंड को 3-0 से क्लीन स्वीप किया था। टीम इंडिया के पास न्यूजीलैंड के खिलाफ 12वीं सीरीज जीतने का मौका है। दोनों टीमों के बीच अब तक 20 सीरीज खेली गईं, जिनमें टीम इंडिया ने 11 बार जीत हासिल की। 5 में भारत को हार मिली, जबकि 4 सीरीज ड्रॉ रही हैं।
तेज पिच पर बल्लेबाजों को होंगी परेशानी
न्यूजीलैंड ने आखिरी बार मार्च 2017 में अपनी सरजमीं पर टेस्ट सीरीज गंवाई थी। उसके बाद से यहां दस में से पांच टेस्ट जीते हैं। आस्ट्रेलिया में 3-0 से हारने के बाद न्यूजीलैंड के इरादे जीत की राह पर वापसी के होंगे जबकि भारतीय टीम यह साबित करना चाहेगी कि पिछले साल आस्ट्रेलिया में मिली जीत तुक्का नहीं थी और प्रतिकूल परिस्थितियों में जीतने का शऊर उसे बखूबी आता है। विपरीत दिशा से आती हवाओं के कारण बेसिन रिजर्व गेंदबाजों और बल्लेबाजों दोनों के लिये हमेशा चुनौतीपूर्ण रहा है। ऐसे में पृथ्वी साव और मयंक अग्रवाल की नयी सलामी जोड़ी को ट्रेंट बोल्ट, टिम साउदी और टेस्ट क्रिकेट में पदार्पण करने जा रहे काइल जैमीसन जैसे आला दर्जे के गेंदबाजों का सामना करना है।
टास जीतने पर गेंदबाजी चुन सकते हैं कोहली
बायें हाथ के तेज गेंदबाज नील वेगनेर की गैर मौजूदगी में भारतीय मध्यक्रम ने राहत की सांस ली होगी। वेगनेर अपने पहले बच्चे के जन्म के कारण ब्रेक पर हैं। न्यूजीलैंड टीम में हरफनमौला डेरिल मिशेल और बायें हाथ के स्पिनर ऐजाज पटेल में से एक को जगह मिलेगी। कप्तान कोहली टास जीतने पर गेंदबाजी चुन सकते हैं ताकि जसप्रीत बुमराह, ईशांत शर्मा और मोहम्मद शमी पिच से मिलने वाली शुरूआती मदद का फायदा उठा सकें। कोहली स्वयं स्वीकार कर चुके हें कि उनकी टीम को पिच के अनुकूल होने का इंतजार करना होगा जबकि विलियमसन की टीम इसी संयम के लिये जानी जाती है। कोहली ने कहा,‘‘ इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि विरोधी टीम में कितना संयम है, हमें और सब्र दिखाना होगा। हम ऐसे तैयारी नहीं कर सकते कि न्यूजीलैंड अपने संयम के दम पर हम पर दबाव बना दे।’’
पुजारा और रहाणे पर दाराेमदार
न्यूजीलैंड टीम चार तेज गेंदबाजों और एक तेज गेंदबाज हरफनमौला के साथ उतर सकती है जबकि भारतीय टीम प्रबंधन स्पिनर आर अश्विन को उतार सकता है जिनके पास रविंद्र जडेजा से ज्यादा विविधता है। न्यूजीलैंड टीम चोट के बाद ट्रेंट बोल्ट और भारतीय टीम ईशांत की वापसी से मजबूत हुई है। भारतीय टीम का भरोसा तकनीक के धनी चेतेश्वर पुजारा, कोहली और अजिंक्य रहाणे पर होगा।
टीमें : भारत : विराट कोहली (कप्तान), मयंक अग्रवाल, पृथ्वी साव, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, हनुमा विहारी, रिधिमान साहा, ईशांत शर्मा, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह, रविचंद्रन अश्विन, रविंद्र जडेजा।
न्यूजीलैंड : केन विलियमसन (कप्तान), टाम ब्लंडेल, ट्रेंट बोल्ट, कोलिन डे ग्रांडहोमे, काइल जैमीसन, टाम लाथम, डेरिल मिशेल, हेनरी निकोल्स, ऐजाज पटेल, टिम साउदी, रोस टेलर, बीजे वाटलिंग।
मैच का समय : सुबह चार बजे से।

शेयर करें

मुख्य समाचार

बड़ाबाजार में कोरोना का एक और संदिग्ध मरीज मिला

सन्मार्ग संवाददाता, कोलकाता : सोमवार को बड़ाबाजार के सिंघीबागान इलाके में कोरोना का एक और संदिग्ध मरीज मिला है। उम्रजनित बीमारियों के कारण 80 वर्षीय आगे पढ़ें »

देश में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा पहुंचा पांच हजार के पार, अब तक 149 की हुई मौत

नयी दिल्ली : देश में बुधवार को कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 5,194 हो गई और इस संक्रमण से मरने वालों का आंकड़ा आगे पढ़ें »

कोरोना को लेकर एचएलएल को मिली बड़ी कामयाबी, तैयार की एंटीबॉडी किट

बंगाल में कोरोना से मरने वालों की संख्या हुई 5, सक्रिय मामले हुए 69

प्राइवेट अस्पतालों का सरकार पर करीब 20 हजार करोड़ रुपए बकाया जल्द पूरा करे सरकार : सीके मिश्रा

वैश्विक इकोनॉमी मे रिकवरी की उम्मीद से कच्चे तेल को मिला प्रोत्साहन, निवेशक सोने से दूर हुए

सरकार जल्द दे सकती है दो से तीन लाख करोड़ रुपये के बूस्टर पैकेज, इन क्षेत्रों को होगा फायदा

कोविड-19 : रीजिजू ने खिलाड़ियों को व्यस्त रखने की पहल की समीक्षा की

प्रतिभा तलाशना मेरा काम था, युवा विराट कोहली में गजब की प्रतिभा थी : वेंगसरकर

कोविड-19 से लड़ने के लिए जेके टायर्स देगा साथ

ऊपर