भारत को दो विश्व कप जिताने वाले कप्तान ने कहा, पद्म श्री नहीं, सरकारी नौकरी चाहिए

नई दिल्ली : भारत को दो बार ब्लाइंड वर्ल्ड कप क्रिकेट जिताने वाले कप्तान शेखर नाइक इस समय वित्तीय संकट से जूझ रहे हैं। यही कारण है कि उन्होंने भारत के खेल मंत्री किरण रिजिजू से खेल कोटा के तहत नौकरी की मांग की है, जिससे कि वे अपनी 31 वर्षीय पत्नी पूजा, दो बेटियां का जीवन यापन कर सकें। उन्होंने कहा है कि उन्हें पद्म श्री सम्मान नहीं, नौकरी चाहिए। बेंगलुरु के रहने वाले 33 वर्षीय शेखर नाइक देश के पहले ब्लाइंड क्रिकेटर हैं, जिनको पद्म श्री सम्मान से नवाजा जा चुका है। उन्होंने बेंगलुरु में साल 2012 के टी20 वर्ल्ड कप में और साल 2015 में साउथ अफ्रीका में वनडे वर्ल्ड कप में बतौर कप्तान भारतीय टीम को जीत दिलाई थी। वह मौजूदा समय में एक निजी कंपनी में काम करते हैं, लेकिन कोरोना वायरस की वजह से लॉकडाउन के कारण उनकी कंपनी बंद हो गई है, जिसका नुकसान उनको हुआ है। शेखर नाइक ने कहा “मेरी सैलरी 25 हजार रुपये है, जिसमें से मेरे घर का किराया 12 हजार रुपये निकल जाता है। जैसे-तैसे मैं पूर्व में अपने परिवार को मैनेज कर रहा था, लेकिन लॉकडाउन के कारण मेरी सैलरी होल्ड पर है और ऐसे में मैं दो महीने से अपने घर का रेंट भी नहीं दे पा रहा हूं। मेरा परिवार इस समय कठिन समय से गुजर रहा है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सितंबर तक मिलेगा 3 एलपीजी गैस सिलेंडर मुफ्त : जावेड़कर

नयी दिल्ली : देशभर में महामारी का रूप धारण कर चुके कोरोना वायरस संक्रमण के प्रभाव को कम करने व गरीबों को आर्थिक भार न आगे पढ़ें »

केंद्र ने सीबीएसई पाठक्रम भार कम करने के नाम पर नागरिकता, संघवाद जैसे विषयों को हटाया : ममता

कोलकाता : बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केंद्र द्वारा पाठक्रम के भार को कम करने के नाम पर नागरिकता, संघवाद जैसे विषयों को हटाने आगे पढ़ें »

ऊपर