भारतीय पुरुष और महिला हॉकी टीम ने कटाया ओलंपिक का टिकट

भारत ने रूस को बड़े अंतर से हराया, आकाशदीप-रूपिंदर ने दागे दो गोल
भुवनेश्वरः ओलंपिक में आठ बार के चैंपियन भारत ने दो चरण वाले एफआईएच पुरुष क्वालीफायर्स के दूसरे मैच में शनिवार को भुवनेश्वर में रूस को 7-1 (दो मैचों का कुल योग 113) से धूल चटा दी है। इसी के साथ अब वह अगले साल तोक्यो में होने वाले खेलों के लिये क्वालीफाई कर लिया।
विश्व में पांचवें नंबर पर काबिज भारतीय पुरुष टीम ने विश्व में 22वें नंबर के रूस को पहले चरण के मैच में 4-2 से हराया था। शनिवार को भारत की तरफ से आकाशदीप सिंह (23वें और 29वें मिनट) और रूपिंदर पाल सिंह (48वें और 59वें) ने दो-दो जबकि ललित उपाध्याय (17वें), नीलकांत शर्मा (47वें) और अमित रोहिदास (60वें मिनट) ने एक-एक गोल दागा।

भारतीय टीम धीरे-धीरे लय में आई
रूस ने शुरुआती क्षणों में ही बढ़त बना दी थी। उसकी तरफ से यह गोल अलेक्सी सोबोलेवस्की ने किया था जिससे कुल योग में गोल अंतर केवल एक रह गया था। भारतीय टीम धीरे धीरे लय में आयी लेकिन जब उसने खेल पर नियंत्रण बनाया तो फिर रूस को कोई मौका नहीं दिया। रूस ने जवाबी हमले करने की अच्छी कोशिश की लेकिन उसे पहले क्वार्टर के बाद कोई सफलता नहीं मिली। भारत ने दूसरे क्वार्टर में बराबरी की। तब ललित ने हार्दिक सिंह के शाट को डिफलेक्ट करके गोल में डाला था। आकाशदीप ने 23वें मिनट में पेनल्टी कार्नर पर गोल करके भारत को बढ़त दिला दी। इसके बाद भारतीय टीम ने रूस पर दबाव बनाया और मध्यांतर से एक मिनट पहले आकाशदीप ने अपना दूसरा गोल दाग दिया। मध्यांतर तक भारत के पास कुल योग में 7-3 की मजबूत बढ़त थी।
मध्यांतर के बाद पांचवें मिनट में रूसी टीम ने बहुत अच्छा मूव बनाया लेकिन अलेक्सांद्र स्कीपेरस्की करीबी अंतर से गोल करने से चूक गये। रमनदीप सिंह ने भी 44वें मिनट में गोल करने का शानदार मौका गंवाया।

 

ओलंपिक क्वालीफायर के लिए कांटे की टक्कर वाले मुकाबले में अमेरिका को 6-5 से हराया
कप्तान रानी रामपाल के चौथे क्वार्टर में निर्णायक गोल की बदौलत भारतीय महिला हॉकी टीम ने शनिवार को यहां कलिंगा स्टेडियम में कांटे की टक्कर वाले मुकाबले में अमेरिका को कुल 6-5 के स्कोर से पराजित कर दिया। इसके साथ ही भारत ने 2020 के टोक्यो ओलम्पिक के लिए क्वालीफाई कर लिया।
भारतीय टीम ने ओलम्पिक क्वालीफायर्स के पहले मैच में शुक्रवार को अमेरिका को 5-1 से हराया था लेकिन दूसरे मैच में अमेरिका ने 4-1 से जीत हासिल की। भारत का दोनों मैचों में कुल स्कोर 6 गोल रहा जबकि अमेरिका का पांच गोल रहा। भारत ने इस तरह कुल 6-5 के स्कोर से क्वालीफायर जीत लिया।
यहां से पलटा पासा
भारतीय महिला टीम इस तरह तीसरी बार ओलम्पिक खेलने उतरेगी। महिला टीम इससे पहले 1980 के मास्को और 2016 के रियो ओलम्पिक में खेली थी। रानी रामपाल की अगुआई में नौवीं रैंकिंग वाली महिला टीम ने 13वें नंबर की टीम अमेरिका को पहले मैच में जिस तरह 5-1 से हराया था उससे लग रहा था कि उसे यह क्वालिफायर जीतने में परेशानी नहीं होगी लेकिन अमेरिकी टीम ने दूसरे मैच में मेजबानों के माथे पर पसीना ला दिया।
ऐसे की वापसी
अमांडा मग्दान ने पांचवें, कैथलीन शार्की ने 14वें, एलिसा पार्कर ने 20वें और अमांडा ने 28वें मिनट में गोल कर अमेरिका को 4-0 से आगे कर दिया। इस समय कुल स्कोर 5-5 हो चुका था और ऐसा लग रहा था कि स्कोर बराबर रहने पर मुकाबला शूट आउट में जा सकता है लेकिन चौथा क्वार्टर शुरू होते ही रानी ने करिश्मा किया और 48वें मिनट में मैदानी गोल दाग दिया। भारत ने फिर अमेरिका को कोई और गोल नहीं करने दिया। क्वालीफायर के प्रारूप के हिसाब से ओलंपिक क्वालीफायर्स में दो मैच में जीतने पर तीन अंक और ड्रा रहने पर एक अंक मिलता है। भारत और अमेरिका के एक बराबर 3-3 अंक रहे। इसके बाद गोल औसत देखा गया जिसमें भारत एक गोल से आगे रहा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

courto

आरटीआई के संबंध में कोर्ट का बड़ा फैसला, सूचना के अधिकार के दायरे में होगा सीजेआई कार्यालय

नई दिल्ली : प्रधान न्यायाधीश (सीजेआई) के कार्यालय को सूचना के अधिकार (आरटीआई) कानून के दायरे में लाने संबंधी दिल्ली उच्च न्यायालय के फैसले को आगे पढ़ें »

courty

शीर्ष न्यायालय राफेल मामले में दायर पुनर्विचार याचिकाओं पर गुरुवार को सुनाएगा फैसला

नई दिल्ली : शीर्ष न्यायालय राफेल मामले में अपने निर्णय पर पुनर्विचार की मांग वाली याचिकाओं पर गुरुवार को फैसला सुनाएगा। बताया जा रहा है आगे पढ़ें »

ऊपर