भारतीय टीम दुनिया में सर्वश्रेष्ठ, विदेशों में भी जीतने का माद्दा : गावस्कर

नयी दिल्ली : भारत के महान बल्लेबाज और पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने शनिवार को कहा कि भारतीय क्रिकेट आज श्रेष्ठता के एवरेस्ट पर पहुंच चुकी है जिससे दूसरी टीमें उससे खेलने के लिए लालायित रहती हैं। गावस्कर ने यहां 26वां लाल बहादुर शास्त्री मेमोरियल व्याख्यान देते हुए भारतीय क्रिकेट के लम्बे सफर पर प्रकाश डाला। गावस्कर ने लाला अमरनाथ के समय से लेकर विराट कोहली के मौजूदा समय पर प्रकाश डालते हुए कहा कि ‘‘विराट कोहली और रोहित शर्मा की जबरदस्त बल्लेबाजी तथा भारतीय तेज गेंदबाजी इस समय सर्वश्रेष्ठ है और यह टीम विदेशों में भी जीतने का माद्दा रखती है। इंडियन प्रीमियर लीग ने भारतीय क्रिकेट को ऐसा बदल डाला है कि तमाम खिलाड़ी भारत के साथ खेलने के लिए तैयार रहते हैं। उन्‍होंने कहा कि देश के शीर्ष प्रथम श्रेणी टूर्नामेंट रणजी ट्राफी में जब तक खिलाड़ियों की मैच फीस में भारी भरकम इजाफा नहीं किया जाता तब तक यह लुभावनी इंडियन प्रीमियर लीग की बराबरी नहीं कर सकती। रणजी ट्राफी खेलने के लिए एक खिलाड़ी को प्रति मैच लगभग ढाई लाख रुपये मिलते हैं। भारतीय टीम इस समय दुनिया में सर्वश्रेष्ठ है जिसके साथ खेलने और उसकी मेजबानी करने के लिए हर टीम तैयार रहती है।’’ गावस्कर ने लाला अमरनाथ, अजीत वाडेकर, कपिल देव, महेंद्र सिंह धोनी और विराट कोहली जैसे कप्तानों का जिक्र करते हुए कहा कि इन कप्तानों ने भारतीय क्रिकेट को ऐसा बदला है कि यह देश का नंबर एक खेल बन गया है। उन्होंने कहा, ‘‘कपिल ने 1983 में भारत को पहली बार विश्व कप दिलाकर उसमें यह आत्मविश्वास भरा कि वह जीत सकता है जबकि धोनी ने 2007 और 2011 में दो बार विश्व कप जीता। धोनी जहां कप्तान कूल थे तो विराट में एक आग है। रोहित जबरदस्त बल्लेबाज हैं जबकि भारतीय तेज आक्रमण इस समय दुनिया में सर्वश्रेष्ठ है।’’

शेयर करें

मुख्य समाचार

माता पिता के साथ हुए नस्ली भेदभाव की बात करते रो पड़े होल्डिंग

साउथम्पटन : वेस्टइंडीज के अपने जमाने के दिग्गज गेंदबाज माइकल होल्डिंग नस्लवाद पर दमदार भाषण देने के एक दिन बाद सीधे प्रसारण के दौरान अपने आगे पढ़ें »

शाहरुख ने मुझे गंभीर जैसी आजादी नहीं दी : गांगुली

नयी दिल्‍ली : मौजूदा बीसीसीआई अध्यक्ष और टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरव गांगुली ने कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के को-ओनर शाहरुख खान को लेकर आगे पढ़ें »

ऊपर