भगवान ने मुझे एक मौका दिया है, मैं खुद को साबित करूंगा : नरसिंह

नयी दिल्ली : टोक्यो ओलिंपिक 2021 में होने की अगर किसी को सबसे ज्यादा खुशी है तो वह हैं 31 साल के पहलवान नरसिंह यादव। नरसिंह पर लगा चार साल का बैन इस साल जुलाई में खत्म हो रहा है। अब वे 74 किग्रा भार कैटेगरी में ट्रायल देने के बाद ओलंपिक खेलने जा सकते हैं। वे कहते हैं कि भगवान ने मुझे एक मौका दिया है, मैं खुद को साबित करूंगा और देश के लिए पदक जीतूंगा। नरसिंह ने कहा- मुझे पता था कि मैं निर्दोष हूं। मुझे जल्द ही न्याय मिलेगा और मैं जल्द ही खेलने लगूंगा। इसलिए कभी मानसिक रूप से कमजोर नहीं हुआ। ट्रेनिंग पर हर महीने दो लाख रुपए का खर्च आया, जो खुद वहन किया। पहलवान नरसिंह ने कहा, डोपिंग से बचने के लिए सरकार और एसोसिएशन को ध्यान रखना चाहिए कि कैंप के दौरान बाहरी व्यक्ति की प्रवश स्थगित हो। खिलाड़ियों को बहुत ध्यान रखना चाहिए। उन्होंने कहा कि वर्ल्ड लेवल पर जाने में सालों लग जाते हैं, लेकिन एक छोटी सी गलती सब कुछ खत्म कर देती है। नरसिंह ने कहा, ट्रायल से ही टीम का चयन होना चाहिए। ओलिंपिक क्वालिफायर को लेकर बॉक्सर मेरीकॉम और निखत जरीन में काफी विवाद हुआ था। इस मामले में उन्होंने कहा- ट्रायल सभी के लिए होना चाहिए। चाहे वह वर्ल्ड चैंपियन खिलाड़ी हो या फिर जूनियर। टीम का चयन ट्रायल से ही होना चाहिए। नरसिंह का क्वालिफायर के लिए सुशील कुमार से मुकाबला हो सकता है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मैच फीट के लिए चार चरण में अभ्यास करेंगे भारतीय क्रिकेटर : कोच श्रीधर

नयी दिल्ली : भारत के क्षेत्ररक्षण कोच आर श्रीधर का कहना है कि देश के शीर्ष क्रिकेटरों के लिए चार चरण का अभ्यास कार्यक्रम तैयार आगे पढ़ें »

नस्लभेद के खिलाफ आवाज बुलंद करे आईसीसी : सैमी

नयी दिल्ली : वेस्टइंडीज के पूर्व टी-20 कप्तान डेरेन सैमी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) और अन्य क्रिकेट बोर्डों से नस्लभेद के खिलाफ आवाज बुलंद आगे पढ़ें »

ऊपर