फेडरेशन कप में पदक विजेता शॉटपुट खिलाड़ी नवीन डोप टेस्ट में फेल, 4 साल का बैन

नयी दिल्ली : अंतरराष्ट्रीय एथलेटिक्स महासंघ की इंटीग्रिटी यूनिट ने 2018 में टूर्नामेंट से बाहर डोप टेस्ट में नाकाम रहने के कारण शॉटपुट खिलाड़ी नवीन चिकारा को चार साल के लिये निलंबित कर दिया। चिकारा को प्रतिबंधित पदार्थ के सेवन का दोषी पाया गया और उनका निलंबन 27 जुलाई2018 से लागू होगा। आईएएएफ ने शुक्रवार को यह जानकारी दी। इसने एक बयान में कहा,‘‘27 जुलाई 2018 को इस खिलाड़ी को टूर्नामेंट से बाहर जांच में दोषी पाया गया। 28 अक्टूबर 2018 को मांट्रियल में विश्व डोपिंग निरोधक एजेंसी की अधिकृत लैब में उसके नमूने में प्रतिबंधित पदार्थ के अंश पाये गए।’’ चिकारा ने 2018 फेडरेशन कप में रजत पदक जीता था। वह इसी साल अंतर प्रांत चैम्पियनशिप में उपविजेता रहे। नवंबर 2018 में उन पर अस्थायी निलंबन लगाया गया। बाद में उसके बी नमूने की जांच की गई। दिसंबर 2018 में उसने एआईयू को बताया कि उसे पता नहीं था कि जीएचआरपी 6 प्रतिबंधित पदार्थ है जो उसके नमूने में पाया गया। उसने 12 मार्च को स्वीकार किया कि उसने डोपिंग निरोधक नियमों का उल्लंघन किया है। इसी के साथ नवीन चिकारा का ओलिंपिक में खेलने का सपना टूट गया है। वहीं, केन्या के धावक और एशियन खेलों में रजत विजेता अलबर्ट रोप भी डोप टेस्ट में फेल हो गए हैं। उन पर 2 साल का प्रतिबंध लगा है। अक्टूबर में नवीन के ब्लड सैंपल को कनाडा के मॉन्ट्रियल में वर्ल्ड एंटी-डोपिंग एजेंसी (वाडा) से मान्यता प्राप्त प्रयोगशाला में भेजा गया, जो पॉजिटिव निकला। तब नवीन ने इसे स्वीकार करते हुए कहा था कि उन्हें प्रतिबंधित जीएचआरपी-6 दवा के बारे में नहीं पता था, जो उन्होंने गलती से ली थी। इसके बाद उनका बी सैंपल भी लिया गया था। इसकी रिपोर्ट के बाद उनके प्रतिबंध को 4 साल का कर दिया गया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

मैच फीट के लिए चार चरण में अभ्यास करेंगे भारतीय क्रिकेटर : कोच श्रीधर

नयी दिल्ली : भारत के क्षेत्ररक्षण कोच आर श्रीधर का कहना है कि देश के शीर्ष क्रिकेटरों के लिए चार चरण का अभ्यास कार्यक्रम तैयार आगे पढ़ें »

नस्लभेद के खिलाफ आवाज बुलंद करे आईसीसी : सैमी

नयी दिल्ली : वेस्टइंडीज के पूर्व टी-20 कप्तान डेरेन सैमी ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) और अन्य क्रिकेट बोर्डों से नस्लभेद के खिलाफ आवाज बुलंद आगे पढ़ें »

ऊपर