भारत ने 33 साल बाद थाईलैंड को 4-1 से रौंदा, छेत्री ने मेसी को पीछे छोड़ा

अबु धाबी : कप्तान सुनील छेत्री के दो शानदार गोलों के दम पर भारत ने एएफसी एशियन कप फुटबॉल टूर्नामेंट में जबरदस्त शुरुआत करते हुए थाईलैंड को रविवार को 4-1 से हराकर ऐतिहासिक जीत दर्ज की। भारत ने थाईलैंड के खिलाफ 33 साल के लम्बे अंतराल के बाद जीत हासिल की। भारत की तरफ से कप्तान सुनील छेत्री ने 27वें और 46वें मिनट में दो गोल किये जबकि अनिरुद्ध थापा ने 68वें मिनट और जेजे लालपेखलुआ ने 80वें मिनट में गोलकर भारतीय टीम को 4-1 से जबरदस्त जीत दिलाई। मैच में भारत की जीत में उदांता सिंह ने अहम किरदार निभाया। थाईलैंड की तरफ से एकमात्र गोल कप्तान टेरासिल दंगदा ने 33वें मिनट में किया। भारत इस जीत से ग्रुप ए में तीन अंकों के साथ शीर्ष पर पहुंच गया है। भारतीय कप्तान छेत्री ने अपना 66वां गोल करते ही अर्जेंटीना के स्टार फुटबॉलर लियोनल मेसी (65 गोल) को अंतरराष्ट्रीय गोलों के मामले में पीछे छोड़ दिया। मौजूदा फुटबॉलरों में अब छेत्री से आगे पुर्तगाल के क्रिस्टियानो रोनाल्डो हैं, जिन्होंने 85 अंतरराष्ट्रीय गोल किए हैं। दोनों टीमें नौ साल बाद एक-दूसरे से खेल रही थीं। पिछली बार थाईलैंड ने भारत को दो मैच में 2-1 और 1-0 के अंतर से हराया था। भारत को थाईलैंड के खिलाफ पिछली जीत 1986 में मर्डेका कप के दौरान कुआलालम्पुर में मिली थी। फीफा रैंकिंग में 97वें नंबर पर मौजूद भारत ने 118वें नंबर की टीम थाईलैंड के खिलाफ आक्रामक अंदाज में शुरुआत की और मैच के 26वें मिनट में आशिके कुरियन ने थ्रो बॉल दी जो डी में थाईलैंड के थीराथोन बनमाटहान के हाथों से टकरा गई और भारत को यहां पेनल्टी मिली। इस मौके को भारतीय कप्तान ने जाया नहीं किया और पेनल्टी को गोल में तब्दील कर अपनी टीम को 1-0 से आगे कर दिया। इस गोल के साथ ही छेत्री ने मेसी को पीछे छोड़ दिया। दूसरा हाफ शुरू होते ही छेत्री ने गोल कर भारत को आगे कर दिया। छेत्री ने 46वें मिनट में आशिके के समर्थन से भारत के लिए दूसरा गोल किया। उदांता गेंद लेकर आगे बढ़े और आशिके को बॉक्स के अंदर स्कावयर पास दिया। आशिके ने तुरंत गेंद कप्तान को भेजी और छेत्री ने गोल के कॉर्नर में गेंद डाल भारत को 2-1 से आगे कर दिया।


शेयर करें

मुख्य समाचार

अपराध

कटारिया स्टेशन के पास ट्रेन से कटकर युवक की मौत

भागलपुर : बिहार में पूर्व-मध्य रेलवे के बरौनी-कटिहार रेलखंड के कटारिया स्टेशन के निकट मंगलवार को ट्रेन से कटकर एक युवक की मौत हो गयी। नवगछिया आगे पढ़ें »

विद्यापति की शृंगारिक रचनाओं के नायक-नायिका समाज को पढ़ाते हैं मर्यादा का पाठ

दरभंगा : मैथिली के प्रसिद्ध विद्वान एवं लेखक डॉ. शांतिनाथ सिंह ठाकुर ने मैथिली भाषा के विकास में महाकवि विद्यापति की शृंगारिक रचनाओं के जबरदस्त आगे पढ़ें »

ऊपर