फीफा काउंसिल में जगह बनाने वाले पहले भारतीय बने प्रफुल्ल पटेल

4 साल का होगा कार्यकाल
29वें एशियन फुटबाल कॉन्फेडरेशन कांग्रेस में उन्हें चुना गया था
चुनाव में प्रफुल्ल को 46 में से 38 वोट मिले
नई दिल्ली: ऑल इंडिया फुटबाल फेडरेशन (एआईएफएफ) के अध्यक्ष प्रफुल पटेल फीफा काउंसिल में शामिल होने वाले पहले भारतीय बने गए हैं। फीफा एक्जीक्यूटिव काउंसिल का चुनाव शनिवार को कुआलालंपुर में हुआ था जिसमें प्रफुल्ल को 46 में से 38 वोट मिले थे। एक्जीक्यूटिव काउंसिल फीफा की सबसे बड़ी कमेटी है। काउंसिल में चुने हुए पदाधिकारियों का कार्यकाल 2019 से 2023 तक होगा। प्रफुल्ल ने कहा ‘मैं बेहद आभारी हूं। मैं एएफसी के सभी सदस्यों के प्रति आभार व्यक्त करता हूं जिन्होंने मुझे पद के लिए सही समझा। फीफा काउंसिल के सदस्य के रूप में बड़ी जिम्मेदारी है। मैं न केवल अपने देश का बल्कि पूरे महाद्वीप का प्रतिनिधित्व करूंगा।’
भारतीय फुटबाल के लिए बेहतर
एआईएफएफ के उपाध्यक्ष सुब्रत दत्ता ने कहा ‘प्रफुल्ल की जीत भारतीय फुटबाल के लिए मील का पत्थर है। उन्हें बधाई। उनके नेतृत्व में भारतीय फुटबाल ऊंचाइंयों तक पहुंचा। फीफा काउंसिल सदस्य के तौर पर उनकी उपस्थिति से एशियन फुटबाल को फायदा होगा।’
पटेल के नेतृत्व में एआईएफएफ को 2014 में एएफसी वार्षिक पुरस्कारों में जमीनी स्तर पर काम करने के लिए एएफसी उपाध्यक्ष मान्यता पुरस्कार से सम्मानित किया गया था। एआईएफएफ को 2016 में एएफसी सर्वश्रेष्ठ विकासशील सदस्य संघ के लिए एक पुरस्कार दिया गया था।
भारत को फीफा विश्व कप की मेजबानी सौंपी गई थी
प्रफुल्ल के नेतृत्व में फीफा अंडर-17 विश्व कप की सफल मेजबानी के लिए एआईएफएफ की तारीफ हुई थी। भारत को फीफा अंडर-17 महिला विश्व कप की मेजबानी भी मिली।

शेयर करें

मुख्य समाचार

टॉस विवाद पर बोले संगकारा- मैं जीता था लेकिन धोनी आवाज नहीं सुन पाए तो दोबारा सिक्का उछाला गया

नयी दिल्‍ली : भारत-श्रीलंका के बीच 2011 वर्ल्ड कप फाइनल में दोबारा टॉस कराने के मामले में अब जाकर श्रीलंका के पूर्व कप्तान कुमार संगकारा आगे पढ़ें »

ईसीबी ने 55 खिलाड़ियों को अभ्यास शुरू करने को कहा

लंदन : विश्व कप विजेता कप्तान इयोन मोर्गन और टेस्ट टीम के कप्तान जो रुट के अलावा इंग्लैंड एवं वेल्स क्रिकेट बोर्ड (ईसीबी) ने 55 आगे पढ़ें »

ऊपर