फीफा कार्यकारी परिषद में चुने जाने वाले पहले भारतीय बने प्रफुल्ल पटेल

कुआलालंपुर : अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ के अध्यक्ष प्रफुल्ल पटेल शनिवार को फीफा कार्यकारी समिति के सदस्य चुने गये है। आपको बता दें कि पटेल इस परिषद में चुने जाने वाले पहले भारतीय बन गए है। शनिवार को कुआलालंपुर में एएफसी के 29वीं कांग्रेस के दौरान इन सदस्यों का चुनाव किया गया। इस सदस्य के चुनाव के लिए पटेल के पक्ष में 46 में से 38 मत पड़े। एशियाई फुटबाल परिसंघ (एएफसी) की ओर से पांच सदस्यों को फीफा परिषद के लिए चुना गया है जिसमें से एएफसी के अध्यक्ष और एक महिला सदस्य भी शामिल हैं।

पटेल ने जताया आभार

चार सालों के लिए किया गया है चुनाव बता दें कि इन सदस्यों का चयन 2019 से 2023 तक के लिए चुना गया है एवं इनका कार्यकाल चार साल के लिए होगा। फीफा के लिए चुने जाने के बाद पटेल ने आभार जताते हुए कहा, ‘मैं इसके लिए काफी कृतज्ञ हूं। मैं एएफसी के सभी सदस्यों के प्रति आभार व्यक्त करता हूं जिन्होंने मुझे इस पद के लिए उपयुक्त समझा। फीफा परिषद के सदस्य के रूप में मेरी जिम्मेदारी बहुत बड़ी है। अब मैं न केवल अपने देश का बल्कि पूरे महाद्वीप का प्रतिनिधित्व करूंगा। एशिया में फुटबॉल की तेजी से विकास के लिए मुझ पर भरोस जताने लिए आप सभी का धन्यवाद।’

इस मौके पर पटेल के साथ एआईएफएफ के महासचिव कुशल दास और वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुब्रत दत्ता भी मौजूद थे। दत्ता ने एक ऐजेंसी केे दिए साक्षात्कार में कहा, ‘पटेल की जीत भारतीय फुटबाल के लिए बड़ी उपलब्धि है। पटेल को बधाई, वह पूरी तरह से इस सम्मान का पाने का हकदार हैं। उनके नेतृत्व में भारतीय फुटबाल अपनी ऊंचाइयों पर पहुंचाया है। फीफा परिषद के सदस्य के रूप में उनकी उपस्थिति से एशियाई फुटबाल को काफी फायदा होगा।’

एएफसी के प्रेसिडेंशियल एवार्ड पा चुके है पटेल

पटेल के ने नेतृत्व में आईएफएफ को मनीला में 2014 में एएफसी वार्षिक पुरस्कारों में जमीनी स्तर पर फुटबाल को बढ़वा देने के लिए एएफसी के प्रेसिडेंशियल एवार्ड से सम्मानित किया गया था। इसके बाद 2016 में एएफसी ने एआईएफएफ को सर्वश्रेष्ठ विकासशील सदस्य संघ के लिए पुरस्कार दिया था।’

पटेल के नेतृत्व में भारत ने फीफा अंडर-17 विश्व कप की सफल मेजबानी की जिसकी काफी प्रशंसा हुई। इसके बाद भारत ने 2020 में फीफा अंडर-17 महिला विश्व कप की मेजबानी करने के लिए दावेदारी हासिल की है। परिषद के लिए पटेल के अलावा अल-मोहन्नदी (कतर), खालिद अवाद अल्तेबिती (सऊदी अरब), मारियानो वी। अरनेटा जूनियर (फिलीपीन), चुंग मोंग ग्यु (कोरिया), दू झोकाई (चीन), मेहदी ताज (ईरान) और कोज्जो तशिमा (जापान) ने उम्मीदवारी जताई थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

पांड्या और बुमराह ने बचाई भारत की प्रतिष्ठा, ऑस्ट्रेलिया ने 2-1 से सीरीज पर जमाया कब्जा

कैनबरा : हार्दिक पांड्या की एक और शानदार पारी के बाद लय में लौटे जसप्रीत बुमराह की उम्दा गेंदबाजी की मदद से भारत ने बुधवार आगे पढ़ें »

चैम्पियंस लीग : लीवरपूल जीता, रीयाल मैड्रिड संकट में

पेरिस : पूर्व चैम्पियन लीवरपूल और पोर्तो चैम्पियंस लीग के नॉकआउट चरण में पहुंच गए जबकि रिकार्ड 13 बार की चैम्पियन रीयाल मैड्रिड को शखतार आगे पढ़ें »

ऊपर