प्रायोजको को बांग्लादेश के क्रिकेटरों पर विश्वास लेकिन मुक्केबाज मनोज पर नहीं

नयी दिल्ली : रियो जाने वाले ओलंपिक दल के सदस्य मनोज कुमार से छह साल पहले पदोन्नति का वादा किया गया था जो उन्हें अभी तक नहीं मिला है और उनके पास कोई प्रायोजक भी नहीं है लेकिन इस मुक्केबाज ने खेल छोड़ने के बारे में विचार नहीं किया। इस मुक्केबाज का कहना है कि उनकी जिद ने उन्हें ऐसा करने से रोके रखा है। रियो ओलंपिक के लिये शिव थापा (56 किग्रा) और विकास कृष्ण (75 किग्रा) समेत तीन भारतीय मुक्केबाजों ने क्वालीफाई किया है जिसमें मनोज को छुपारूस्तम कहा जा सकता है। वेल्टरवेट वर्ग में भाग लेने वाले मनोज (64 किग्रा) ने कहा कि मेरी जड़े मराठों से जुड़ी हैं और मैं शिवाजी से काफी प्रेरित हूं, जिससे मैं काफी मजबूत हूं और इतना जिद्दी भी हूं। इस अड़ियलपन ने ही मुझे परिस्थितियों से लड़ने में मदद की। वह जिन परिस्थितियों का जिक्र कर रहे हैं, इसमें विभाग से मिलने वाली पदोन्नति का इंतजार शामिल है जो उन्हें 2010 राष्ट्रमंडल खेलों में स्वर्ण पदक जीतने के बाद किया गया था। वह भारतीय रेल में तीसरे दर्जे के कर्मचारी हैं, उन्हें तब की केंद्रीयमंत्री ममता बनर्जी ने तरक्की देने का वादा किया था। उस वादे के बाद सात मंत्री इस पद पर आ-जा चुके हैं लेकिन मनोज की स्थिति जस की तस है। मनोज ने कहा कि मैंने इसके बारे में सभी को लिखा है। मुकुल राय से लेकर मौजूदा मंत्री सुरेश प्रभु तक। मुझसे प्रत्येक ने कार्रवाई करने का वादा किया है लेकिन जमीनीं स्तर पर कुछ नहीं हो रहा। उन्होंने कहा कि जहां तक प्रायोजकों की बात है तो मैंने मदद के लिये सभी बड़ी कंपनियों को लिखा है लेकिन शायद सभी को लगता है कि मैं इतनी दूर तक नहीं जा सकता। इसलिये उनसे भी कोई जवाब नहीं मिला है। मेरे पास मेरे बारे में बात करने के लिये कोई नहीं है इसलिये यह भी हमेशा मेरे विरूद्ध ही जाता रहा है। यह पूछने पर कि इतनी मुश्किलों के बाद भी उन्होंने मुक्केबाजी को छोड़ने का विचार नहीं किया तो मनोज ने कहा कि एक सेकेंड के लिये भी नहीं। लोगों को गलत साबित करने में काफी मजा आता है, अब मैं अपने बारे में अच्छा महसूस करता हूं। मैंने किसी के समर्थन के बिना यह सब हासिल किया है, सिर्फ मेरे पास मेरे कोच और बड़े भाई राजेश साथ हैं। हरियाणा के एथलीटों को राज्य सरकार से काफी मदद मिलती है तो वह इससे कैसे महरूम रह गये। उन्होंने कहा कि शायद इसलिये क्योंकि मैं लोगों के आगे झुक नहीं सकता। मैं अपने दिल की बात कहता हूं, मैं किसी को खुश रखने की कोशिश नहीं करता। पता नहीं, इस देश में और यहां तक कि बांग्लादेश के क्रिकेटरों को भी प्रायोजक मिल जाते हैं लेकिन मेरे जैसे लोगों को नहीं, पता नहीं क्यों? क्या हम बुरे हैं? यह मेरे बस की बात नहीं है। ’

Leave a Comment

अन्य समाचार

14 साल तक पुलिस की नौकरी की, अब बने डेप्युटी कलेक्टर

प्रयागराज : उत्तर प्रदेश में शुक्रवार को पीसीएस 2016 परीक्षा का परिणाम घोषित हुआ। परिणाम घोषित होने के साथ इंतजार में बैठे छात्रों के साथ उनके अभिभावकों का सीना गर्व से फूल गया। घोषित परिणाम में बलिया जिले की बैरिया [Read more...]

हमारी लड़ाई कश्मीरियों के खिलाफ नहीं, कश्मीर के लिए है : मोदी

टोंक : पुलवामा हमले के बाद पाकिस्‍तान तथा वहां स्‍थित आतंकी संग्‍ाठन जैश व उसके मुखिया मसूद पर विश्‍व भर से भारी दबाव बनाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को राजस्थान में लोकसभा चुनाव प्रचार की शुरुआत की। [Read more...]

देवबंद के आतंकी पहले पकड़े जाते तो रोका जा सकता था पुलवामा हमले कोः सुरक्षा एजेंसी

दूसरा हादसाः बेंगलुरू में एयरो इंडिया शो के दौरान पार्किंग एरिया में खड़ी 100 कारों में आग लगी

जो बीसीसीआई और सरकार बोलेगी, हम वहीं करेंगे : कोहली

ग्रेटर नोएडा यमुना प्राधिकरण घोटाला मामलाः दारोगा की गिरफ्तारी के लिए आई सीबीआई टीम पर हमला, दो अधिकारी घायल

पुलवामा अटैक : कश्मीर में 10 हजार अतिरिक्त जवान तैनात होंगे

पुलवामा आतंकी हमले के विरोध में भारत कुछ बड़ा करने की सोच रहा हैः ट्रंप

असम मे जहरीली शराब के सेवन से 80 लोगों की मौत, जांच शुरू

निशानेबाजी विश्व कपः रिकार्ड स्कोर के साथ अपूर्वी ने भारत को दिलाया पहला स्वर्ण

मुख्य समाचार

प्रेमी को जमकर पीटा फिर पेट्रोल छिड़क कर जला दिया

पूर्व मिदनापुर: पूर्व मिदनापुर जिले के भूपतिनगर में एक प्रेमी युवक की पहले पिटाई की कई, बाद में शरीर पर पेट्रोल छिड़ककर फूंक दिया गया। आरोप उसकी प्रेमिका के घरवालों पर लगा है। मृतक की प्रेमिका, उसके घर के 4 [Read more...]

रेल रोको आंदोलन से चार घंटे तक ठहरी ट्रेनें

मालदहः माकपा कार्यकर्ताओं के रेल रोको आंदोलन के कारण कई स्टेशनों पर ट्रेनें घंटों खड़ी रह गईं। इससे यात्रियों को व्यापक परेशानी का सामना करना पड़ा। दरअसल 10 सूत्री मांगों के समर्थन में जिला माकपा ने शनिवार को हरिश्चंद्रपुर स्टेशन [Read more...]

ऊपर