पाक से मेज पर नहीं, मैदान-ए-जंग में बातचीत होः गंभीर

नई दिल्लीः जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा जिले में हुए आतंकी हमले से आहत पूर्व भारतीय सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने कहा है कि अब पाकिस्तान से टेबल पर नहीं बल्कि युद्ध के मैदान में बात होनी चाहिए। जम्मू एवं कश्मीर में 1989 में आतंकवाद के सिर उठाने के बाद से हुए अब तक के सबसे बड़े आतंकी हमले में एक आत्मघाती हमलवार ने गुरुवार को पुलवामा जिले में श्रीनगर-जम्मू राजमार्ग पर अपनी विस्फोटकों से लदी एसयूवी केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की बस से टकरा दी और उसमें विस्फोट कर दिया।
इस आतंकी हमले में अभी तक 39 जवान शहीद हुए हैं। गंभीर ने ट्विटर पर लिखा ‘हां, अलगाववादियों-आतंकियों और पाकिस्तान से बात तो जरूर होनी चाहिए, लेकिन यह बात टेबल पर नहीं बल्कि अब युद्ध के मैदान में होनी चाहिए। अब बस बहुत हुआ।’
इसके अलावा टीम इंडिया के पूर्व ओपनर वीरेंद्र सहवाग समेत सुरेश रैना, मयंक अग्रवाल, मोहम्मद कैफ, वीवीएस लक्ष्मण और शिखर धवन ने भी इस आंतकी हमले की कड़ी निंदा की है।
वीरेंद्र सहवाग ने कहा ‘वास्तव में जम्मू-कश्मीर में हमारे सीआरपीएफ पर हुए कायरतापूर्ण हमले से काफी दुखीं है। इस हमले में हमारे कई बहादुर जवान शहीद हुए हैं। दर्द को बयां करने के लिए मेरे पास कोई शब्द पर्याप्त नहीं हैं। मैं उन घायल जवानों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की कामना करता हूं।’
बता दें कि जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में अवंतीपोरा के गोरीपोरा इलाके में सुरक्षाबलों के काफिले पर जैश-ए-मोहम्मद आतंकी संगठन ने फिदायीन हमला किया। जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा बलों पर अब तक के सबसे बड़े फिदायीन हमले में 39 जवान शहीद हो गए।

आतंकियों का समर्थन करने वाले भारतीयों को गोली मार दोः योगेश्वर
पुलवामा में सीआरपीएफ के काफिले पर हुए आतंकी हमले ने देश वासियों को झकझोर कर रख दिया है। पहलवान योगेश्वर दत्त ने ट्वीट करके अपना गुस्सा जाहिर किया और बड़ी बात कह दी है। उन्होंने लिखा- अब आतंकवाद के खिलाफ सख्त कदम उठाने का समय आ गया है। भारत देश का जो व्यक्ति आतंकवादी का पक्ष ले उसे भी गोली मार दो, अब बस यही एक रास्ता है। हिंसा का अंत बस हिंसा से ही हो सकता है। मेरे सभी शहीद वीर जवानों को भावभीनी श्रद्धांजलि जय हिन्द, जय भारत।
योगेश्वर ने आगे लिखा कि जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आत्मघाती हमले की मैं घोर निन्दा करता हूं। जो घटना हुई उसे तो बदला नहीं जा सकता पर अब बदला लेने का समय जरूर आ गया है। बदला ऐसा होना चाहिए जैसा इज़रायल और अमेरिका लेते हैं। ऐसा बदला कि कोई भी आतंकवादी पैदा होने से पहले हजार बार सोचे। योगेश्वर दत्त ने ट्वीट किया कि जो लोग जम्मू एंड कश्मीर में सेना पर पत्थर बरसाते हैं, और जो लोग पत्थर बाजों का पक्ष लेते हैं, ये भी आतंकवादी ही हैं, इनका भी सर्वनाश होना बहुत जरूरी है। बहुत आस्तीन के सांप छुपे हैं देश में।

शेयर करें

मुख्य समाचार

शतरंज पर नहीं पड़ा कोविड-19 का असर, अन्य खेल ठप पड़े

चेन्नई : ऐसे समय में जब कोविड-19 महामारी के चलते दुनिया भर में खेल गतिविधियां ठप्प पड़ी हैं, तो शतरंज एक ऐसा खेल है जो आगे पढ़ें »

भारत को दो विश्व कप जिताने वाले कप्तान ने कहा, पद्म श्री नहीं, सरकारी नौकरी चाहिए

नई दिल्ली : भारत को दो बार ब्लाइंड वर्ल्ड कप क्रिकेट जिताने वाले कप्तान शेखर नाइक इस समय वित्तीय संकट से जूझ रहे हैं। यही आगे पढ़ें »

ऊपर