पगबाधा का फैसला सिर्फ और सिर्फ डीआरएस से हो : तेंदुलकर

नयी दिल्ली : महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अंपायरों के फैसलों की समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को ‘अंपायर्स कॉल’ को हटाने का सुझाव देते हुए कहा कि पगबाधा में जब गेंद विकेट से टकरा रही हो तो बल्लेबाज को आउट दिया जाना चाहिए। तेंदुलकर ने ट्वीट किया, ‘‘ गेंद का कितना प्रतिशत हिस्सा विकेट पर लगता है यह मायने नहीं रखता है, अगर डीआरएस में गेंद विकेट पर लग रही हो तो मैदानी आंपयर के फैसले के इतर बल्लेबाज को आउट दिया जाना चाहिए।’’ तेंदुलकर ने कहा, ‘‘ तकनीक 100 फीसदी सही नहीं हो सकती, ना ही इंसान।’’ इस पूर्व दिग्गज ने कहा कि अगर गेंद सिर्फ विकेट को छू कर भी निकल रही हो तो गेंदबाज के पक्ष में फैसला होना चाहिए। सचिन ने कहा, ‘‘मैं एक मामले में आईसीसी से सहमत नहीं हूं, वह है डीआरएस। खासतौर पर पगबाधा के मामले में। डीआरएस में मैदानी अंपायर का फैसला तभी बदला जा सकता है, जब गेंद का 50 फीसदी हिस्सा स्टंप्स से टकराता दिखे, जो सही नहीं है। गेंदबाज या बल्लेबाज तभी मैदानी अंपायर के फैसले के खिलाफ समीक्षा की मांग करते है जब वे इससे संतुष्ट नहीं होते हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ऐसे में जब मामला तीसरे अंपायर के पास जाता है, तो फिर तकनीक से ही नतीजा तय होना चाहिए। जैसा टेनिस में होता है, गेंद या तो कोर्ट के अंदर है या बाहर इसमें बीच की कोई स्थिति नहीं होती है।’’

शेयर करें

मुख्य समाचार

बहूबाजार में अधेड़ पर जानलेवा हमला कर लूटे रुपये

सन्मार्ग संवाददाता कोलकाता : महानगर में अधेड़ पर धारदार हथियार से हमला कर रुपये लूटने के आरोप में पुलिस ने एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है। आगे पढ़ें »

चित्तरंजन में युवा कांग्रेस नेता की हत्या

कुल्टी/चितरंजन : रविवार की रात चित्तरंजन कस्तूरबा गांधी अस्पताल मोड़ पर यूथ कांग्रेस नेता की गोली मारकर हत्या कर दी गयी। इस घटना से चित्तरंजन आगे पढ़ें »

ऊपर