पगबाधा का फैसला सिर्फ और सिर्फ डीआरएस से हो : तेंदुलकर

नयी दिल्ली : महान बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने अंपायरों के फैसलों की समीक्षा प्रणाली (डीआरएस) से अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) को ‘अंपायर्स कॉल’ को हटाने का सुझाव देते हुए कहा कि पगबाधा में जब गेंद विकेट से टकरा रही हो तो बल्लेबाज को आउट दिया जाना चाहिए। तेंदुलकर ने ट्वीट किया, ‘‘ गेंद का कितना प्रतिशत हिस्सा विकेट पर लगता है यह मायने नहीं रखता है, अगर डीआरएस में गेंद विकेट पर लग रही हो तो मैदानी आंपयर के फैसले के इतर बल्लेबाज को आउट दिया जाना चाहिए।’’ तेंदुलकर ने कहा, ‘‘ तकनीक 100 फीसदी सही नहीं हो सकती, ना ही इंसान।’’ इस पूर्व दिग्गज ने कहा कि अगर गेंद सिर्फ विकेट को छू कर भी निकल रही हो तो गेंदबाज के पक्ष में फैसला होना चाहिए। सचिन ने कहा, ‘‘मैं एक मामले में आईसीसी से सहमत नहीं हूं, वह है डीआरएस। खासतौर पर पगबाधा के मामले में। डीआरएस में मैदानी अंपायर का फैसला तभी बदला जा सकता है, जब गेंद का 50 फीसदी हिस्सा स्टंप्स से टकराता दिखे, जो सही नहीं है। गेंदबाज या बल्लेबाज तभी मैदानी अंपायर के फैसले के खिलाफ समीक्षा की मांग करते है जब वे इससे संतुष्ट नहीं होते हैं।’’ उन्होंने कहा, ‘‘ऐसे में जब मामला तीसरे अंपायर के पास जाता है, तो फिर तकनीक से ही नतीजा तय होना चाहिए। जैसा टेनिस में होता है, गेंद या तो कोर्ट के अंदर है या बाहर इसमें बीच की कोई स्थिति नहीं होती है।’’

शेयर करें

मुख्य समाचार

कोविड-19 वायरस के प्रभावी लक्षण दिखन में लगते हैं आठ दिन : वैज्ञानिक

नयी दिल्ली : बड़ी संख्या में कोविड-19 के मरीजों से प्राप्त सैंपल्स की जांच तथा नये अध्ययनों और उनके विश्लेषण करने के उपरांत वैज्ञानिक इस आगे पढ़ें »

कोल इंडिया ने उत्पादन लक्ष्य घटाकर किया 65-66 करोड़ टन

कोलकाता : सार्वजनिक क्षेत्र की कंपनी कोल इंडिया लिमिटेड (सीआईएल) ने कोविड-19 महामारी की वजह से पैदा हुई अड़चनों के मद्देनजर चालू वित्त वर्ष 2020-21 आगे पढ़ें »

पश्चिम बंगाल की 20 अरब डॉलर आकार की लॉजिस्टिक्स क्षेत्र की नीति तैयार, जल्द उद्योग के लिये जाएंगे विचार : अमित मित्रा

कोरोना काल में आर्थिक परेशानी से घिरी मुंबई में जूनियर टेबल टेनिस खिलाड़ी स्वस्तिका घोष

अब लक्ष्य 2022 विश्व कप है, लेकिन श्रृंखला दर श्रृंखला प्रदर्शन देखूंगी : झूलन गोस्वामी

धोनी आईपीएल में अपनी सर्वश्रेष्ठ फॉर्म में होंगे: मांजरेकर

घोर लापरवाही, 18 घंटे घर में पड़ा रहा कोरोना संक्रमित का शव

अभिषेक बच्चन की कोविड टेस्ट रिपोर्ट 28 दिन बाद आयी निगेटिव

narvane

किसी भी हालात के लिए तैयार रहें कमांडर : नरवणे

पुरी ने 10-10 लाख रुपए मुआवजे देने का किया ऐलान, राज्य सरकार भी देगी इतना ही मुआवजा

ऊपर