धोनी बीसीसीआई की केंद्रीय अनुबंध सूची से बाहर, राहुल ग्रेड बी में

नयी दिल्ली : महेंद्र सिंह धोनी को गुरूवार को बीसीसीआई के केंद्रीय अनुबंधित खिलाड़ियों की सूची से बाहर कर दिया गया जिससे भारत के पूर्व कप्तान के भविष्य को लेकर एक बार फिर संदेह के बादल मंडराने लगे हैं। धोनी ने पिछले साल विश्व कप सेमीफाइनल में न्यूजीलैंड से मिली हार के बाद क्रिकेट नहीं खेला है। बीसीसीआई ने अक्टूबर 2019 से सितंबर 2020 तक के लिये केंद्रीय अनुबंधों का ऐलान किया। धोनी पिछले साल तक ए ग्रेड में थे जिन्हें सालाना पांच करोड़ रूपये मिलते थे।धोनी को बोर्ड ने अनुबंध सूची से बाहर रखने की जानकारी दी
बीसीसीआई सूत्रों के मुताबिक, धोनी को पहले ही कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट से बाहर रखे जाने की जानकारी बोर्ड ने दे दी थी। उन्हें स्पष्ट कर दिया गया था कि वे सितंबर 2019 से अब तक कोई भी मैच नहीं खेले हैं। ऐसे में फिलहाल उन्हें कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट में शामिल नहीं किया जा सकता। बोर्ड के सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट में शामिल होने के लिए किसी खिलाड़ी को तयशुदा सीजन में कम से कम 3 टी-20 मैच खेलने होते हैं, जबकि धोनी 9 जुलाई 2019 को वर्ल्डकप में खेले गए सेमीफाइनल के बाद से किसी भी अंतरराष्ट्रीय मैच में नहीं उतरे हैं।
धोनी इसी साल अनुबंध सूची में वापस आ सकते हैं
बीसीसीआई सूत्राें के मुताबिक, अगर धोनी इस साल किसी भी वक्त टी-20 टीम में शामिल किए जाते हैं, तो उन्हें वापस कॉन्ट्रैक्ट में शामिल किया जा सकता है। धोनी ने अभी भविष्य के बारे में कुछ नहीं कहा है लेकिन उनके आईपीएल में चेन्नई सुपर किंग्स के लिये खेलने की पूरी संभावना है। विश्व कप के बाद से वह वेस्टइंडीज दौरे और दक्षिण अफ्रीका, बांग्लादेश, वेस्टइंडीज और आस्ट्रेलिया के खिलाफ घरेलू सीरीज से बाहर रहे।
कोहली, रोहित और बुमराह ‘ए प्लस ग्रेड’ में
कप्तान विराट कोहली, उपकप्तान रोहित शर्मा और तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ए प्लस ग्रेड में बने हुए हैं जिन्हें सात करोड़ रूपये प्रतिवर्ष मिलते हैं। बल्लेबाज केएल राहुल बी से अब ए ग्रेड में आ गए हैं। पिछले साल आस्ट्रेलिया दौरे पर खराब फार्म के कारण टेस्ट टीम से बाहर हुए राहुल ने सीमित ओवरों के क्रिकेट में दमदार वापसी की है। धोनी के अनुबंध का नवीनीकरण नहीं होना वैसे हैरानी की बात नहीं है क्योंकि उन्होंने नौ जुलाई को विश्व कप सेमीफाइनल के बाद से कोई प्रतिस्पर्धी मैच नहीं खेला है। वह क्रिकेट से दूर है और अपने भविष्य के बारे में कुछ खुलासा भी नहीं कर रहे।
मयंक, हार्दिक पांड्या और चहल ‘ग्रेड बी’ में
मुख्य कोच रवि शास्त्री ने हाल ही में कहा था कि धोनी जल्दी ही वनडे क्रिकेट को अलविदा कह सकते हैं ताकि आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन करके टी20 विश्व कप के लिये दावा पुख्ता कर सकें। आस्ट्रेलिया के 2018-19 के दौरे पर शानदार पदार्पण करने वाले टेस्ट सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल को ग्रेड बी में हार्दिक पंडा और युजवेंद्र चहल के साथ रखा गया है।
गेंदबाज नवदीप सैनी, वाशिंगटन सुंदर तथा शार्दुल ठाकुर ‘ग्रेड सी’ में
तेज गेंदबाज नवदीप सैनी और टी20 विशेषज्ञ वाशिंगटन सुंदर को पहली बार ग्रेड सी में रखा गया है जिसमें श्रेयस अय्यर, दीपक चाहर और शार्दुल ठाकुर भी हैं। अय्यर ने वनडे टीम में मध्यक्रम में अपनी जगह पुख्ता कर ली है और भारतीय टीम प्रबंधन के लिये सिरदर्द बने चौथे नंबर के बल्लेबाजी क्रम के लिये वह सही विकल्प बनकर उभरे हैं। चाहर ने बांग्लादेश के खिलाफ नवंबर में टी20 मैच में सात रन देकर छह विकेट लेकर विश्व कप टीम के लिये दावा पक्का किया है।
रायुडू और दिनेश कार्तिक भी करार से बाहर
क्रिकेट को अलविदा कह चुके अंबाती रायुडू और दिनेश कार्तिक को भी करार नहीं मिला है। निवर्तमान मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद पहले ही कह चुके हैं कि धोनी को प्रदर्शन के आधार पर ही टीम में फिर चुना जायेगा।
बीसीसीआई के 2019-2020 के केंद्रीय अनुबंध :
ग्रेड ए प्लस : विराट कोहली, रोहित शर्मा, जसप्रीत बुमराह
ग्रेड ए : आर अश्विन, रविंद्र जडेजा, भुवनेश्वर कुमार, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, केएल राहुल, शिखर धवन, मोहम्मद शमी, इशांत शर्मा, कुलदीप यादव, ऋषभ पंत
ग्रेड बी : रिधिमान साहा, उमेश यादव, युजवेंद्र चहल, हार्दिक पंडा, मयंक अग्रवाल
ग्रेड सी : केदार जाधव, नवदीप सैनी, दीपक चाहर, मनीष पांडे, हनुमा विहारी, शार्दुल ठाकुर, श्रेयस अय्यर, वाशिंगटन सुंदर।
‘धन्‍यवाद धोनी’ ट्रेंड हुआ, 3 घंटे में 10 हजार ट्वीट हुए
धोनी के बीसीसीआई के अनुबंध सूची से बाहर करने के फैसले के थोड़ी देर बाद ही ट्विटर पर धन्‍यवाद धोनी और धोनी ट्रेंड करने लगा। वे पिछले साल ए-ग्रेड में थे। एक प्रशंसक ने लिखा- क्या, एक युग को अंत हो गया….धोनी बीसीसीआई की अनुबंध सूची स से बाहर…रांची या वाइजैग में उनका आखिरी अंतरराष्ट्ट्रीय मैच आयोजित कर उन्हें सम्मानजनक विदाई दें। तो एक अन्‍य प्रशंसक ने लिखा- शानदार और अतुलनीय युग का अंत। एक और प्रशंसक ने लिखा- ऐसा खिलाड़ी, जिसने टीम को हमेशा व्यक्तिगत रिकॉर्ड से ऊपर रखा। तो कुछ प्रशंसको ने बोर्ड के इस फैसले पर नाराजगी जताते हुए उन्हें सूची में शामिल करने की बात लिखी। उन्‍होंने लिखा- धोनी बेस्ट विकेटकीपर, बेस्ट मैच फिनिशर। वे इकलौते ऐसे कप्तान हैं, जिसने टी-20 और वनडे विश्व कप जीता। एक यूजर ने ट्वीट किया- बोर्ड का फैसला शर्मनाक है, कैसे बीसीसीआई धोनी के लिए ऐसा कर सकता है?

शेयर करें

मुख्य समाचार

marxist

विश्वभारती में मार्क्सवादी अर्थशास्त्री प्रभात पटनायक का व्याख्यान रद्द

कोलकाता : मार्क्सवादी अर्थशास्त्री और राजनीतिक टिप्पणीकार प्रभात पटनायक के आगामी व्याख्यान को विश्वभारती विश्वविद्यालय ने रद्द कर दिया है। विश्वविद्यालय के एक सूत्र ने आगे पढ़ें »

adhaar

यूआईडीएआई ने हैदराबाद के 127 लोगों से दस्तावेज मांगा, कहा- इसका नागरिकता से सबंध नहीं

हैदराबाद : तेलंगाना में भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) ने पुलिस से रिपोर्ट मिलने के बाद 127 लोगों को नोटिस भेजा है। पुलिस की इस आगे पढ़ें »

ऊपर