दिल्ली के प्रिथु भारत के 64वें ग्रैंडमास्टर बने

आनंद सबसे पहले ग्रैंडमास्टर, गुकेश सबसे युवा

नई दिल्लीः दिल्ली के युवा खिलाड़ी प्रिथु गुप्ता पुर्तगाल लीग 2019 के पांचवें दौर में आईएम लेव यांकेलेविच को हराकर 2500 अंक की ईएलओ रेटिंग पार करने के बाद भारत के 64वे ग्रैंडमास्टर बन गए।

प्रिथु ने नौ साल की उम्र से शतरंज खेलना शुरू किया था, उन्होंने यह उपलब्धि 15 साल चार महीने और 10 दिन में हासिल की। 31 वर्ष पहले विश्वनाथन आनंद भारत के पहले ग्रैंडमास्टर बने थे।

आनंद ने अपने ट्विटर हैंडल पर पोस्ट किया ‘अब हम पूरे हो गये। 64वां ग्रैंडमास्टर। हमारे नये ग्रैंडमास्टर प्रिथु गुप्ता आपका स्वागत है।’ जवाब में प्रिथु ने भी आनंद का शुक्रिया अदा किया।

इस युवा खिलाड़ी ने लिखा ‘शुक्रिया आनंद सर। आप हमेशा ही प्रेरणा का बड़ा स्रोत रहे हो।’ प्रिथु ने पिछले साल जिब्राल्टर मास्टर्स में अपनी पहली ग्रैंडमास्टर नार्म हासिल की थी। इसी वर्ष बिएल मास्टर्स में उन्होंने दूसरी नार्म हासिल की थी। उन्हें इस महीने के शुरू में पोर्टिसियो ओपन में अंतिम नार्म मिली थी। डी गुकेश भारत के सबसे युवा ग्रैंडमास्टर है जिन्होंने 12 साल सात महीने और 17 दिन में यह उपलब्धि इस साल जनवरी में हासिल की थी।

शेयर करें

मुख्य समाचार

ओडिशा में विवाहित महिला से सामूहिक बलात्कार,महिला अधिकारी को सौंपा केस

संबलपुर : देश में बलात्कार की घटनाएं थमने का नाम ही नहीं ले रही हैं। हैदराबाद,उन्नाव और मालदह की घटना के बाद अब ओडिशा के आगे पढ़ें »

सऊदी के रेस्तरां में एक साथ प्रवेश कर सकेंगे पुरुष और महिला

रियाद : सऊदी अरब की सरकार लगातार रूढ़िवादी विचारधारा को छोड़कर खुली सोच को अपना रही है। इस दिशा में काम करते हुए सऊदी की आगे पढ़ें »

ऊपर