तीसरे टेस्ट मैच में पुजारा सहित 4 खिलाड़ियों की टीम से हो सकती है छुट्टी

नई दिल्लीः जोहांसबर्ग में अगले हफ्ते शुरू होने जा रहे तीसरे टेस्ट में भारतीय टीम में बड़े बदलाव किए गए है। इस बदलाव के तहत टीम के 4 सीनियर खिलाड़ियों का छुट्टी होना तय माना जा रहा है। दक्षिण अफ्रीका स्थित सूत्रों की बात पर भरोसा किया जाए तो ये बदलाव फाइनल इलेवन में देखने को मिल सकते हैं।
सेंचुरियन टेस्ट में करारी हार और दक्षिण अफ्रीका के हाथों सीरीज में मिली हार के बाद कप्तान विराट कोहली के जख्मों पर आईसीसी पुरस्कारों ने जरूर कुछ हद तक मरहम लगा दिया हो, लेकिन सीरीज हार का खामियाजा अब तीसरे टेस्ट में कई सीनियर खिलाड़ियों को भुगतना पड़ सकता है। इनमें से कुछ को तो पहले से ही इलेवन से बाहर किए जाने की पूरी उम्मीद थी लेकिन अब 24 जनवरी से खेले जाने वाले तीसरे टेस्ट से चार खिलाड़ियों को बाहर बैठाने सहित अन्य कई बदलाव हो सकते हैं।

दोनों ही टेस्ट मैचों में कप्तान विराट कोहली के अलावा कोई भी दूसरा बल्लेबाज दक्षिण अफ्रीकी गेंदबाजों के सामने नहीं टिक सका। यहां तक कि सेंचुरियन की आसान पिच पर भी इन दिग्गजों की टांय-टांय फिस्स हो गई और भारतीय बल्लेबाज जीत के 287 के उस लक्ष्य को हासिल नहीं कर सकते, जो हासिल किया जा सकता था। टीम मैनेजमेंट के अनुरोध पर जब चयनकर्ताओं ने विकेटकीपर दिनेश कार्तिक को बुलावा भेजा, तो मैच खत्म होने से पहले ही यह साफ हो गया कि तीसरे टेस्ट से पार्थिव पटेल की छुट्टी हो चुकी है। वहीं, केपटाउन में खेले गए पहले टेस्ट से ही क्रिकेट पंडित अजिंक्य रहाणे को न खिलाने की तीखी आलोचना कर रहे हैं। सेंचुरियन में रोहित शर्मा ने भले ही दूसरी पारी में 47 रन बनाए हों, लेकिन उनके लिए भी अब पारी सिर के ऊपर से जा चुका है। यानी बीसीसीआई के दक्षिण अफ्रीका स्थित सूत्रों के अनुसार पार्थिव पटेल, रोहित शर्मा ही नहीं बल्कि चेतेश्वर पुजारा और मुरली विजय की भी चौथे टेस्ट की फाइनल इलवेन से छुट्टी हो सकती है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सन्मय बंद्योपाध्याय ने जेल से रिहा होते ही बताया जान को खतरा

कहा राज्य में चल रहा जंगल राज संवाददाताओं से बातचीत के दौरान फूट-फूटकर रोने लगे सन्मार्ग संवाददाता पुरुलिया : सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट किये जाने के कथित आगे पढ़ें »

दीपावली पर ड्रोन से नजर रखेगा पीसीबी ऊंची इमारतों पर

प्रतिबंधित पटाखे जलाने पर आवासन के अध्यक्ष के खिलाफ कार्रवाई वसूला जाएगा 5 हजार से लाख रुपए तक का जुर्माना दोषी पाए जाने पर होगी 5 साल आगे पढ़ें »

ऊपर