टोक्यो पैरालंपिक खेलों में पदकों की संख्या दो अंकों में होगी : दीपा मलिक

नयी दिल्ली : पैरालंपिक खेलों में पदक जीतने वाली भारत की पहली महिला खिलाड़ी दीपा मलिक का मानना है कि अगले साल होने वाले टोक्यो पैरालंपिक खेलों में देश के पदकों की संख्या दो अंकों में होगी। गोला फेंक की खिलाड़ी रही दीपा ने कहा, ‘‘रियो में अपने पदकों की संख्या को दोगुना किया था, हमारी टीम में 19 खिलाड़ी थे। हमने दो स्वर्ण, एक रजत और एक कांस्य पदक जीता था। 2018 (एशियाई पैरा खेलों में) में हमारी टीम में 194 सदस्य थे और हमने 72 पदक जीते थे। इसने पहले ही मापदंड स्थापित किया है।’’ रियो डि जिनेरियो में 2016 में रजत पदक जीतने वाली 49 साल की दीपा ने कहा, ‘‘अगले साल टोक्यो खेलों के बारे में सबसे शानदार चीज यह होगी कि भारत पैरालंपिक में दोहरे अंक में पदक जीतेगा।’’ आईपीसी विश्व चैंपियनशिप में भी रजत पदक जीतने वाली दीपा ने कभी अपनी दिव्यांगता को अपने जुनून के रास्ते में नहीं आने दिया। दीपा को 1999 में जब कहा गया कि उनकी रीढ़ की हड्डी से टूमर को निकालने के लिए सर्जरी करनी होगी तो उन्होंने करगिल युद्ध के घायल सैनिकों से प्रेरण ली। दीपा ने रियो में गोले को 4.61 मीटर की दूरी तक फेंककर रजत पदक जीता था। दीपा को हाल में भारतीय पैरालंपिक समिति का अध्यक्ष चुना गया।

शेयर करें

मुख्य समाचार

रजत में बदल सकता है गावित का 1000 मीटर का एशियाई चैंपियनशिप का कांस्य

नयी दिल्ली : भारत के लंबी दूरी के धावक मुरली कुमार गावित का पिछले साल एशियाई एथलेटिक्स चैंपियनशिप में जीता गया कांस्य पदक रजत पदक आगे पढ़ें »

बोपन्ना – शापोवालोव की जोड़ी इटालियन ओपन के क्वार्टर फाइनल में

रोम : भारत के रोहन बोपन्ना और कनाडा के डेनिस शापोवालोव की जोड़ी ने गुरुवार को यहां जुआन सेबेस्टियन काबेल और राबर्ट फराह की शीर्ष आगे पढ़ें »

ऊपर