जोकोविच- नडाल में नंबर एक के लिए टक्कर

फिलहाल, जोकोविच अपने प्रतिद्वंदी खिलाड़ी से 320 अंक चल रहे आगे
नयी दिल्लीः सर्बिया के नोवाक जोकोविच और स्पेन के राफेल नडाल के बीच वर्ष 2019 का समापन नंबर एक खिलाड़ी के रूप में करने के लिए जबरदस्त टक्कर छिड़ी हुई है।
विश्व रैंकिंग में नंबर एक स्थान पर मौजूद जोकोविच के 9545 अंक है जबकि दूसरे स्थान पर मौजूद नडाल के 9225 अंक हैं। दोनों के बीच मात्र 320 अंकों का फासला है। पेरिस में साल के आखिरी मास्टर्स 1000 टूर्नामेंट से साल की अंतिम रैंकिंग में बदलाव आ जाएगा।

फेडरर ने नाम वापस लिया
पेरिस मास्टर्स में जोकोविच और नडाल दोनों उतर रहे हैं जबकि बासेल में अपना दसवां खिताब जीतने वाले विश्व के तीसरे नम्बर के खिलाड़ी स्विट्जरलैंड के रोजर फेडरर ने पेरिस मास्टर्स से अपना नाम वापस ले लिया है।

रैंकिंग में उतार-चढ़ाव का सिलसिला
जोकोविच के पास मात्र 320 अंकों की बढ़त है और चार नवम्बर को यह स्थिति बदल जायेगी। पेरिस का परिणाम कुछ भी रहे नडाल नंबर एक स्थान पर जोकोविच को अपदस्थ कर नंबर एक बन जाएंगे। सर्बियाई खिलाड़ी ने इस साल ऑस्ट्रेलियन और विम्बलडन खिताब जीतकर लगभग पूरे साल नंबर एक रैंकिंग अपने पास रखी है। नडाल के यूएस ओपन जीतने और जोकोविच के चौथे राउंड में बाहर होने से नडाल नंबर एक बनने के नजदीक आ गए। यदि नडाल पेरिस में नहीं जीत पाए और जोकोविच एटीपी वर्ल्ड टूर फाइनल्स में कामयाब रहे तो जोकोविच छह बार वर्ष का समापन नंबर एक के रूप में करने के अमेरिका के पीट सम्प्रास के रिकॉर्ड की बराबरी कर लेंगे।
फेडरर अपने तीसरे नंबर पर ही रहेंगे। उन्हें बासेल की जीत से 500 रैंकिंग अंक मिले और अब उनके 6950 अंक हो गए हैं और वह चौथे स्थान पर मौजूद रूस के डेनिल मेदवेदेव से 1210 अंक आगे हैं। मेदवेदेव के 5740 अंक हैं।

शेयर करें

मुख्य समाचार

लॉकडाउन में ढील के बाद भी ऑटो कंपनियों को नहीं मिली राहत

नई दिल्ली : कोरोना महामारी के कारण हुए लॉकडाउन के कारण ऑटो कंपनियों के सेल्स में काफी गिरावट दर्ज की गई। लॉकडाउन खुलने के बाद आगे पढ़ें »

भाजपा के पूर्व अध्यक्ष एवं पूर्व विधायक के एन लक्ष्मणन का निधन, मोदी ने व्यक्त किया दुख

चेन्नई : तमिलनाडु भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के पूर्व अध्यक्ष एवं पूर्व विधायक के एन लक्ष्मणन का सेलम में उनके आवास पर निधन हो गया। आगे पढ़ें »

ऊपर