जैव सुरक्षित वातावरण में क्रिकेट खेलना वास्तविकता से परे : द्रविड़

खाली स्टेडियम में मैच खेलने का अनुभव अलग रहेगा, आत्म-संतुष्टि नहीं मिलेगी
नयी दिल्‍ली : भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान राहुल द्रविड़ ने सुरक्षित जैव वातावरण में टेस्ट मैच होने पर संदेह जाहिर किया है। उन्होंने कहा कि अगर क्वारैंटाइन और जांच के बाद भी टेस्ट मैच के दूसरे दिन कोई खिलाड़ी कोरोना संक्रमित मिलता है, तो क्या होगा ? नेशनल क्रिकेट अकेडमी (एनएसए) के प्रमुख राहुल ने पूछा कि ऐसी स्थिति में मैच रद्द होगा या सीरीज ? द्रविड़ ने कहा, ‘‘टेस्ट में किसी प्लेयर के संक्रमित होने पर पूरी टीम के खिलाड़ियों और कोचिंग स्टाफ को क्वारैंटाइन पर जाना पड़ेगा। ऐसे में मैच और सीरीज के लिए किया गया खर्च व्यर्थ चला जाएगा। प्लेयर के रहने, खाने, उनकी यात्रा, कोरोना टेस्ट और क्वारैंटाइन पर हुए सभी खर्च सब बेकार हो जाएंगे।’’ ‘सरकार के साथ मिलकर काम कर रहे’ पूर्व भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘कोई खिलाड़ी कोरोना पॉजिटिव आता है तो क्या पूरा टूर्नामेंट रद्द करना होगा या सिर्फ एक मैच? इस स्थिति से बचने के लिए क्या करना होगा? इन सभी बातों को लेकर हम स्वास्थ्य विभाग और सरकारी अधिकारियों के साथ मिलकर काम कर रहे हैं।’’ ‘द्रविड़ ने कहा, ‘‘कोरोना का प्रभाव पूरी दुनिया पर पड़ा है। इस वजह से क्रिकेट समेत सभी खेल बंद है। हालांकि प्लेयर प्रोफेशनल होते हैं। वे मैदान पर जाने के बाद अपनी लय को हासिल कर लेंगे। साथ ही इससे निपटने के लिए कोई न कोई तरीका भी खोज लेंगे।’’ उन्होंने कहा, ‘‘बगैर दर्शकों के स्टेडियम में खेलने का अनुभव अलग होता है। खिलाड़ी दर्शकों के सामने किए गए अपने प्रदर्शन को हमेशा याद रखते हैं। हर एक खिलाड़ी प्रशंसक के सामने खेलना पसंद करता है। वह चाहता है कि उनके शॉट पर लोग प्रोत्साहित करें। मगर बंद दरवाजे में ऐसा नहीं होगा। जब आप एक बड़ी भीड़ के सामने प्रदर्शन करते हैं तो एक व्यक्तिगत आत्म-संतुष्टि होती है।’’ उन चीजों पर ध्यान दें, जो अपने नियंत्रण में है। द्रविड़ ने खिलाड़ियों को केवल उन चीजों पर ध्यान केंद्रित करने की सलाह दी, जो उनके नियंत्रण में हैं। उन्होंने कहा, ‘‘मैं ब्रेक को बहुत से क्रिकेटरों को शरीर को आराम देने, दिमाग को आराम देने के अवसर के रूप में देखने के लिए कह रहा हूं। आपको ऐसा अवसर कभी नहीं मिलेगा। यदि आप दो से तीन महीने का अच्छी तरह से उपयोग करते हैं, तो करियर को दो-तीन साल तक बढ़ा सकते हैं।’’

शेयर करें

मुख्य समाचार

सुबह-सुबह पैसे का गिरना या मिलना शुभ होता है या अशुभ, ऐसे पहचानें ये संकेत

कोलकाता : जीवन में पैसे का महत्व किसी से आज के दौर में छिपा नहीं है, ऐसे में आज के दौर में व्यक्ति कठीन से आगे पढ़ें »

रोज सुबह उठकर करें ये 5 काम, मिलेगी धन और शोहरत

कोलकाता : रोज सुबह उठकर ईश्वर की आराधना करनी चाहिए। ज्योतिष के अनुसार इसके अलावा भी कुछ ऐसे काम हैं जिन्हें करने से जीवन में आगे पढ़ें »

ऊपर