जब सचिन के 4 कैच छोड़ने पर पाक पीएम ने पकड़ लिया अपना सिर ! वर्ल्ड कप से बाहर हुआ पाकिस्तान

नई दिल्ली : मुकाबला जब भारत-पाकिस्तान का हो तो रोमांच की कोई सीमा नहीं होती और जब यही मुकाबला वर्ल्ड कप सेमीफाइनल हो तो बात ही क्या है। भारतीय क्रिकेट इतिहास में बेहद अहमियत रखती है वह मैच जब 9 साल पहले 2011 में भारत ने वर्ल्ड कप के फाइनल में जगह बनाई थी और उसने अपने सबसे बड़े विरोधी पाकिस्तान को हराया था। मोहाली में खेला गया ये मैच आज भी हर भारतीय क्रिकेट प्रशंसक को याद होगा। भारत-पाक मैच से पहले खिलाड़ियों पर कितना दबाव होता है इसे सचिन तेंडुलकर के उस बयान से समझा जा सकता है। सचिन ने कहा था कि इस मैच से पहले 12 दिन सोए नहीं थे। भारत ने हफ्ते भर पहले ही ऑस्ट्रेलिया को क्वॉर्टर फाइनल में हराया था और उसके बाद मोहाली में हुआ टाइटंस ऑफ ऑल मैच। उत्साह चरम पर था, सचिन तेंडुलकर को लेकर को लेकर काफी उम्मीदें थीं। उनके नाम तब 99 अंतरराष्ट्रीय शतक थे। उम्मीद थी कि सचिन यहां अपना 100वां शतक पूरा करेंगे। सचिन की कोशिशों और लोगों की उम्मीद को पूरा करने में पाकिस्तान ने कोई कसर बाकी नहीं रखी। उन्होंने इस मास्टर ब्लास्टर के एक नहीं बल्कि चार-चार कैच छोड़े। इस मैच को देखने के लिए दोनों देशों के प्रधानमंत्री भी पहुंचे थे। उस वक्त के पीएम मनमोहन सिंह और यूसुफ रजा गिलानी ने मोहाली के आईएस बिंद्रा स्टेडियम में शिरकत की थी। अपनी टीम की खराब फील्डिंग देख गिलानी ने माथा तक पकड़ लिया था। खैर, सचिन का 100वां सैकड़ा इस मैच में पूरा नहीं हो पाया। वह 85 रन बनाकर आउट हुए। भारतीय टीम ने बनाए 260 रन। यह लक्ष्य कोई मुश्किल नहीं था और कामरान अकमल व मोहम्मद हफीज ने पाकिस्तानी टीम को अच्छी शुरुआत भी दी। दोनों ने 9 ओवर में 44 रन जोड़े। लेकिन भारतीय गेंदबाजों ने दबाव बनाए रखा। हालांकि भारतीय गेंदबाजी को कमजोर लिंक समझा जा रहा था कि जरूरत के वक्त उन्होंने दमदार खेल दिखाया। पाकिस्तान के साथ मुश्किल यह थी कि एक ओर वह लगातार विकेट खो रहा था तो दूसरी ओर उसके अनुभवी बल्लेबाज मिसबाह उल हक रनों की रफ्तार बढ़ा नहीं पा रहे थे। पाकिस्तान को हर ओवर में करीब 10 रन चाहिए थे और मिसबाह गेंद को रोकने भर में लगे थे। मैच के बाद पाकिस्तानी कप्तान शाहिद अफरीदी की नन्ही बेटी ने कहा भी, ‘जब रन ज्यादा थे और बॉल कम थी तब मिसबाह उल हक को होश आया कि हमें रन बनाने हैं, मैच जीतना है।’ जी, मिसबाह को होश देर से आया। तब तक वाकई देर हो गई थी। मिसबाह ने एक्सलरेट करने में बहुत देर कर दी। भारत ने मुकाबला 29 रन से जीता। और कायम रखा वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ अपना जीत का रेकॉर्ड।

शेयर करें

मुख्य समाचार

सोशल मीडिया पर समझदारी से बात करें अफरीदी और गंभीर : वकार

नयी दिल्ली : पाकिस्तान के गेंदबाजी कोच वकार युनूस ने क्रिकेट टीम के अपने पूर्व साथी शाहिद अफरीदी और भारतीय के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम आगे पढ़ें »

होंडा ने पेश किया होंडा सीडी 110 ड्रीम बीएस VI, जानिए कीमत और खासियत

नई दिल्ली : टू-व्हीलर निर्माता कंपनी होंडा मोटरसाइकिल ने आज नई होंडा सीडी 110 ड्रीम बीएस VI लॉन्च किया है, इस नेक्स्ट जेनरेशन बाइक में आगे पढ़ें »

ऊपर