टीम में जगह नहीं मिली तो खेलने का कोई मतलब नहींः गंभीर

नई दिल्लीः भारतीय टीम के पूर्व सलामी बल्लेबाज गौतम गंभीर ने क्रिकेट जगत से संन्यास के पीछे का कारण राष्ट्रीय टीम में जगह न मिल पाना बताया है। एक साक्षात्कार के दौरान गंभीर ने कहा कि जब राष्ट्रीय क्रिकेट टीम में जगह ही नहीं मिलनी, तो रन बनाते रहने और खेलते रहने का कोई तुक नहीं बनता। गंभीर ने दिल्ली के लिए रणजी ट्रॉफी में क्रिकेट करियर का आखिरी मैच खेला। उन्होंने भारतीय टीम के लिए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर आखिरी टेस्ट मैच 2016 में इंग्लैंड के खिलाफ खेला था।
इसके अलावा उन्होंने आखिरी वनडे मैच 2013 में इंग्लैंड के खिलाफ खेला था। 2016 के बाद से उन्हें भारतीय टीम का प्रतिनिधित्व करते हुए नहीं देखा गया। हालांकि, कहीं न कहीं उन्हें टीम में बुलावे की उम्मीद थी लेकिन अब इस उम्मीद के खत्म होने के साथ ही उन्होंने क्रिकेट जगत को भी अलविदा कह दिया।

युवा खिलाड़ी को मिले मौका
उन्होंने कहा ‘काश मैं 27 का होता लेकिन अब मैं 37 का हूं और अब मेरे पास करने के लिए कुछ नहीं रह गया है। जब आपके रन आपको आगे नहीं ले जा पाते हैं, तो उन रनों को स्कोर करते रहने का कोई तुक नहीं बनता। बेहतर होगा कि कोई युवा खिलाड़ी आगे आए और रन बनाकर भारतीय टीम में खेलने का सपना पूरा करे।’

प्रयास करने का कोई फायदा नहीं होने वाला था
गंभीर ने कहा ‘मैंने हमेशा सोचा था कि मैं रन स्कोर करूंगा, तो कभी न कभी राष्ट्रीय टीम में स्थान मिलेगा। जब मुझे लगा कि मेरा यह प्रयास मुझे आगे नहीं ले जा पा रहा और मुझे राष्ट्रीय टीम में स्थान नहीं मिल पा रहा है, तो इसे प्रयास को जारी रखने का कोई फायदा नहीं।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

P Chidambaram

आईएनएक्स मामले में चिदंबरम को मिली जमानत, फिर भी नहीं हो पाएंगे रिहा

नई दिल्ली : आईएनएक्स मीडिया मामले में मंगलवार को पूर्व वित्त मंत्री और कांग्रेस नेता पी चिदंबरम को उच्चतम न्यायालय ने जमानत दे दी है। आगे पढ़ें »

cricket

भारत ने दक्षिण अफ्रीका को पारी और 202 रन से हराया, 3-0 से किया क्लीनस्वीप

रांची : रांची के जेएससीए स्टेडियम में खेले गए तीसरे और अंतिम टेस्ट मैच में मंगलवार को भारत ने शानदार आलराउंड प्रदर्शन के दम पर आगे पढ़ें »

ऊपर