खिलाड़ियों के व्यवहार को बेहतर बनाने के लिए होगा काउंसलिंग प्रोग्राम, राहुल द्रविड़ तैयार कर रहे हैं मसौदा

मुंबई : हाल ही क्रिकेटर लोकेश राहुल व हार्दिक पांड्या ने एक निजी टेलीविजन कार्यक्रम में महिलाओं पर आपत्‍तिजनक टिप्‍पणी कर दी थी जिसके बाद उनकी चौतरफा आलोचना हुई तथा उन्‍हें आस्‍ट्रेलियाई दौरे से वापस भेज दिया गया। फिलहाल उन दोनों को टीम में भी जगह नहीं दी गयी है। पर अब खिलाड़ियों के व्यवहार को बेहतर बनाने के लिए
सुप्रीम कोर्ट द्वारा बीसीसीआई में गठित प्रशासनिक समिति (सीओए) एक काउंसलिंग प्रोग्राम लागू करने जा रहा है। यह योजना नेशनल क्रिकेट अकाडमी (एनसीए) बेंगलुरु में भारत के जूनियर टीम के नेशनल कोच और पूर्व दिग्गज बल्लेबाज राहुल द्रविड़ की देखरेख में तैयार हो रही है।
इस के तहत भारतीय सीनियर टीम के साथ ए टीम और अंडर-19 टीमों के लिए व्यवहार काउंसलिंग का आयोजन किया जाएगा। इस काउंसलिंग में पेशेवर खिलाड़ियों से जुड़े हर पहलू को शामिल किया जाएगा। इसमें लैंगिक संवेदनशीलता पर भी सत्र शामिल होगा। अब भारतीय क्रिकेट बोर्ड राष्ट्रीय स्तर के सभी आयु-वर्ग के खिलाड़ियों के लिए इस कार्यक्रम को जरूरी बनाने पर विचार कर रहा है। जिन्हें इस बात की जानकारी है वे बता रहे हैं, ‘इन कार्यक्रमों में सभी आयु-वर्ग के खिलाड़ियों को उपस्थित होना होगा।’ बतौर अंडर-19 कोच राहुल द्रविड़ के सामने जब इस काउंसलिंग प्रोग्राम का प्रस्ताव आया, तो वह इसे लेकर खासे उत्सुक दिखे। राहुल द्रविड़ ने बताया, ‘युवाओं को इस प्रकार से शैक्षिक कार्यक्रम से जोड़ा जाना चाहिए, जो उन्हें समाजिक शिक्षा देते हैं।’ ‘यह बहुत जरूरी है कि आप खेल के मैदान से दूर रहकर आराम करें और यह सोचना बिल्कुल गलत हैं कि मैंने अपनी लाइफ में आनंद नहीं लिया (हंसते हुए)।’ द्रविड़ बताते हैं, ‘ऐसा नहीं है कि मैंने एन्जॉय नहीं किया या मैं बाहर नहीं गया। लेकिन जब आप अपने देश का प्रतिनिधित्व करते हैं और सौभाग्य या दुर्भाग्य से लोग आपको पहचानने लगते हैं, तो इस पहचान के साथ एक जिम्मेदारी भी आती है। इसलिए आपको अपने लिए इन नियमों का पालन करना चाहिए।’ इस पूर्व कप्तान ने आगे कहा, ‘आज के दौर के युवाओं के लिए सोशल मीडिया के साथ डील करना चुनौतीपूर्ण है। इसके कुछ पोजिटिव पहलू भी हैं, लेकिन इसके साथ-साथ कुछ निगेटिव चीजों के टैग भी लग जाते हैं।’ द्रविड़ कहते हैं, ‘मैं उस दौर में बड़ा हुआ, जब यह (सोशल मीडिया) मेरे आसपास नहीं था। यह कोई मुद्दा नहीं है। मेरे ख्याल से सवाल यह है कि हम कितनी जिम्मेदारी से इसे इस्तेमाल करते हैं। आप लोगों को इसका इस्तेमाल करने से नहीं रोक सकते। बस आप जिम्मेदार बनिए और खुद से पूछिए। आपको जवाब मिल जाएगा।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

रोजाना खाएं यह फल, बीमारियां रहेंगी हमेशा दूर

नई दिल्ली : हम हमेशा सुनते हैं कि स्वस्थ रहने के लिए मौसमी फल खाने चाहिए। डॉक्टर और न्यूट्रिशनिस्ट भी ताजे और मौसमी फलों और आगे पढ़ें »

Malang

आदित्य रॉय कपूर की फिल्म ‘मलंग’ का फर्स्ट लुक जारी

मुंबई : फिल्म निर्देशक मोहित सूरी की अगली रोमांटिक, एक्शन थ्रिलर फिल्म 'मलंग' का फर्स्ट लुक सामने आ चुका है। शनिवार (16 नवंबर) को आदित्य आगे पढ़ें »

nirmala

वित्त मंत्री ने कहा, मार्च तक बिक सकती है एयर इंडिया और भारत पेट्रोलियम

jilani

मस्जिद के लिए दूसरी जमीन स्वीकार नहीं, दाखिल करेंगे पुनर्विचार याचिका : पर्सनल लॉ बोर्ड

Gotabaya Rajpaksa

गोटबाया राजपक्षे होंगे श्रीलंका के राष्ट्रपति, सजित प्रेमदासा ने हार स्वीकार की

rajnath

राजनाथ सिंह ने अमेरिका के रक्षा मंत्री के साथ की वार्ता, हिंद-प्रशांत पर किया ध्यान केंद्रित

Adhir Ranjan Chowdhury

संसद में गांधी परिवार की एसपीजी सुरक्षा हटाने पर जवाब मागेंगे अधीर रंजन

gogoi

आज सीजेआई रंजन गोगोई हो रहे हैं रिटायर, पत्नी के साथ भगवान वेंकटेश्वर के किए दर्शन

फेसबुक लाखों करोड़ों में बेंच रही है आपकी सूचनाएं, जानिए कैसे

missile

अग्नि-2 का रात में हुआ सफल परीक्षण, चीन तक हमला करने में सक्षम

ऊपर