टेनिस : प्रजनेश गुणेश्वरन करियर के सर्वश्रेष्ठ 84वें रैंकिंग पर पहुंचे

18वें स्थान पर काबिज निकोलोज बासिलाशविलि को हराया
नयी दिल्ली : इंडियन वेल्स एटीपी टेनिस टूर्नामेंट में जबरदस्‍त प्रदर्शन करने वाले भारतीय टेनिस खिलाड़ी प्रजनेश गुणेश्वरन सोमवार को जारी एटीपी की नवीनतम रैंकिंग में करियर के सर्वश्रेष्ठ 84वें स्थान पर पहुंच गये जबकि चोटिल युकी भांबरी लगभग दो साल में पहली बार शीर्ष 200 से बाहर हो गये। एटीपी मास्टर्स सीरिज के तीसरे दौर में पहुंचने वाले प्रजनेश को 61 रेटिंग अंक का फायदा हुआ जिससे उनकी रैंकिंग में 13 स्थानों का सुधार हुआ। इस प्रतियोगिता में उन्होंने विश्व रैंकिंग में 18वें स्थान पर काबिज निकोलोज बासिलाशविलि को हराकर अपने करियर की सबसे बड़ी जीत दर्ज की थी। पुरूष एकल रैंकिग में उनके बाद रामकुमार रामनाथन (139) दूसरे सर्वश्रेष्ठ भारतीय है। उन्हें तीन स्थान का नुकसान हुआ। दोनो खिलाड़ी इस सप्ताह मियामी मास्टर्स के एकल मुख्य ड्रा में जगह बनाने की कोशिश करेंगे।
युकी शीर्ष 200 से बाहर हुए
घुटने के चोट के कारण कोर्ट से दूर चल रहे युकी 36 स्थान नीचे खिसक कर 207वें स्थान पर पहुंच गये। दिल्ली का यह खिलाड़ी पिछली बार जुलाई 2017 में शीर्ष 200 रैंकिंग के बाहर था। एकल रैंकिंग में इसके बाद साकेत मायनेनी (251) और शशि कुमार मुकुंद (268) का नंबर आता है। मुकुंद पांच महीने पहले शीर्ष 400 से बाहर थे और उन्होंने इस दौरान अच्छा सुधार दिखाया। युगल में बायें हाथ के जीवन नेदुंचेझियान भी करियर की सर्वश्रेष्ठ 64वीं रैंकिंग हासिल करने में सफल रहे। उनसे ऊपर रोहन बोपन्ना 36वें और दिविज शरन 41वें स्थान पर काबिज है। पूरव राजा (80) और दिग्गज लिएंडर पेस (94) भी शीर्ष पांच भारतीय युगल खिलाड़ियों में शामिल है। डब्ल्यूटीए रैंकिंग में अंकिता रैना को दो स्थान का नुकसान हुआ है लेकिन 168वीं रैंकिंग के साथ वह सर्वश्रेष्ठ भारतीय है। उनके बाद करमन कौर थांडी है जो सात स्थानों के सुधार के साथ 203वें पायदान पर है।

शेयर करें

मुख्य समाचार

हावड़ा अस्पताल सील, 2 बड़े डॉक्टरों सहित 3 पॉजिटिव मिले

सन्मार्ग संवाददाता, हावड़ा : हावड़ा जिला अस्पताल के 2 वरिष्ठ अधिकारी व डॉक्टरों सहित 3 लोगों में गुरुवार को कोरोना पॉजिटिव पाया गया। उन्हें एम.आर आगे पढ़ें »

कोरोना की रोकथाम के लिए एडीबी ने भारत को लगभग 16,500 करोड़ रुपये देने का आश्वासन दिया

नई दिल्ली : एशियाई विकास बैंक ने कोरोना महामारी से लड़ने के लिए भारत को 2.2 अरब डॉलर (लगभग 16,500 करोड़ रुपये) देने का आश्वासन आगे पढ़ें »

ऊपर