कोरोना की वजह से फीफा ने भारत में होने वाला अंडर 17 महिला विश्व कप किया स्थगित

नयी दिल्ली : भारत में कोरोना वायरस संक्रमण से फैले महामारी की वजह से फीफा ने होने विश्व कप को स्थगित कर दिया है। सूत्रों के अनुसार भारत में नवंबर में होने वाला फीफा अंडर 17 महिला फुटबाल विश्व कप कोरोना वायरस महामारी के कारण स्थगित कर दिया गया। यह टूर्नामेंट पांच शहरों कोलकाता, गुवाहाटी, भुवनेश्वर, अहमदाबाद और नवी मुंबई में दो से 21 नवंबर के बीच होना था। टूर्नामेंट में 16 टीमें भाग लेने वाली थी जिसमें मेजबान होने के नाते भारत को स्वत: प्रवेश मिला था। यह अंडर 17 महिला विश्व कप में भाग लेने का भारत का पहला मौका था।
की जायेगी नयी तारीखों की घोषणा
फीफा परिसंघों के कार्यसमूह ने यह फैसला लिया। फीफा परिषद के ब्यूरो ने कोरोना वायरस महामारी के परिणामों से निपटने के लिये इस कार्यसमूह का गठन किया है। कार्यसमूह ने फीफा परिषद से पनामा कोस्टा रिका में 2020 में होने वाला फीफा अंडर 20 विश्व कप भी स्थगित करने का अनुरोध किया। यह टूर्नामेंट अगस्त सितंबर में होने वाला था। इसके साथ ही नवंबर में भारत में होने वाला अंडर 17 विश्व कप भी स्थगित करने का अनुरोध किया गया है। फीफा ने एक बयान में कहा,‘नयी तारीखों की घोषणा की जायेगी।’
एक उप कार्यसमूह के गठन का फैसला
इसके साथ ही महिलाओं के अंतरराष्ट्रीय कैलेंडर पर काम करने के लिये एक उप कार्यसमूह के गठन का भी फैसला लिया गया जो फीफा के स्थगित टूर्नामेंटों के शेडूल में बदलाव पर गौर करेगा। कार्यसमूह में फीफा प्रशासन और महासचिव तथा सभी परिसंघों के शीर्ष कार्यकारी शामिल थे। टेलीकांफ्रेंस के जरिये हुई पहली बैठक में इसमें कई सुझावों पर सर्वसम्मति से मंजूरी जताई गई।
यह फैसला अपेक्षित था
अखिल भारतीय फुटबाल महासंघ ने कहा कि यह फैसला अपेक्षित था। एआईएफएफ महासचिव कुशाल दास ने कहा,‘ कोरोना वायरस के कारण जिस तरह बाकी खेल आयोजन स्थगित हुए हैं, यह तो होना ही था। हमें यह फैसला मानना ही होगा।’ उन्होंने कहा,‘ यूरोप और अफ्रीका तथा अन्य परिसंघों में क्वालीफाइंग टूर्नामेंट भी नहीं हो सके हैं। इसलिये यह फैसला अपेक्षित था।’ उन्होंने कहा कि टूर्नामेंट अब अगले साल ही होने की संभावना है। भारत में अंडर 17 महिला विश्व कप का शेडूल फरवरी में जारी किया गया। नवी मुंबई में फाइनल होना था। स्थानीय आयोजन समिति ने कहा कि वह इस फैसले का समर्थन करती है हालांकि वह नवंबर में टूर्नामेंट की मेजबानी का इंतजार कर रही थी। इसने एक बयान में कहा,‘ यह सभी संबंधित लोगों की सेहत को ध्यान में रखकर लिया गया फैसला है। इस समय स्वास्थ्य सर्वोपरि है। हम कोई जोखिम नहीं लेना चाहते।’

शेयर करें

मुख्य समाचार

बड़ी कामयाबी : होम्योपैथी दवा के हमले से ढेर हुआ कोराेना, 42 संक्रमित मरीज हुए स्वस्थ

नयी दिल्ली: देशभर में कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए कई तरह के उपाय किये जा रहे है। इस बीच जयपुर से बड़ी कामयाबी आगे पढ़ें »

इंसानियत हुई तार-तार : गर्भवती हथिनी के बाद अब गर्भवती गाय को खिलाया विस्फोटक, देशभर में मचा बवाल

नयी दिल्ली : देश में एक तरफ प्रकृति से खिलवाड़ की वजह से आए दिन जहां भूकंप, तूफान और कोरोना वायरस संक्रमण की मार आम आगे पढ़ें »

ऊपर