ऑस्ट्रेलिया में सफलता का श्रेय मुझे न दें : द्रविड़

नयी दिल्ली : ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 4 टेस्ट की सीरीज में 2-1 से मिली जीत के बाद कई पूर्व खिलाड़ी नेशनल क्रिकेट एकेडमी के डायरेक्टर राहुल द्रविड़ को इसका श्रेय दे रहे थे। हालांकि, द्रविड़ ने इससे मना किया कर दिया। द्रविड़ ने कहा कि उन्हें अनावश्यक श्रेय दिया जा रहा है। टीम इंडिया के खिलाड़ी इस प्रशंसा के हकदार हैं। लड़के तारीफ के काबिल हैं। सारी तारीफ खिलाड़ियों की होनी चाहिए।’ विराट कोहली, जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, रवींद्र जडेजा, आर अश्विन, ईशांत शर्मा, हनुमा विहारी जैसे दिग्गज क्रिकेटरों के बिना टीम इंडिया ने ब्रिसबेन टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया को हराया और सीरीज अपने नाम की। बॉर्डर-गावस्कर सीरीज के दौरान टीम इंडिया खिलाड़ियों की चोट से जूझती रही, लेकिन इस दौरान युवा क्रिकेटरों ने टीम को ऐतिहासिक जीत दिलाने में मदद की। यह काफी शानदार है। राहुल द्रविड़ भले ही श्रेय लेने से इनकार कर लें लेकिन खुद ऋषभ पंत, हनुमा विहारी, शुभमन गिल जैसे खिलाड़ियों ने कहा है कि उनकी सफलता में राहुल द्रविड़ का बड़ा हाथ है। गौरतलब है कि पूर्व चयनकर्ता जतिन परांजपे ने भी कहा कि मौजूदा टीम के युवा खिलाड़ियों की सफलता में राहुल द्रविड़ का बड़ा हाथ है। द्रविड़ ने युवा खिलाड़ियों को कुछ अहम सुझाव दिये थे, जिसने खिलाड़ियों के स्तर को बढ़ाया। द्रविड़ जैसे खिलाड़ी ने उनको मजबूत बनाया। द्रविड़ इंडिया-ए और इंडिया अंडर-19 टीम के कोच रह चुके हैं और उन्होंने अपने कार्यकाल में युवा क्रिकेटरों को निखारा।

शेयर करें

मुख्य समाचार

शनिवार को इन कार्यों को करने से मिलता है शनिदेव का आर्शीवाद

कोलकाता : शनिदेव की शांति के लिए शनिवार का दिन अतिउत्तम माना गया है। शनिवार का दिन शनिदेव को ही समर्पित है। जिन लोगों की आगे पढ़ें »

पूजापाठ से जुड़े ये 10 नियम हमेशा रखें ध्‍यान, कभी नहीं होगा आपका नुकसान

कोलकाताः सनातन धर्म को मानने वाले लोगों के लिए पूजापाठ सबसे जरूरी क्रिया है। हिंदू धर्म के लोगों की दैनिक दिनचर्या पूजापाठ के बिना शुरू आगे पढ़ें »

ऊपर